नालंदा : डीएम ने सभी निर्वाचन पदाधिकारियों के साथ की बैठक, चुनाव पूर्व तैयारी शुरू

Spread the news

मुर्शीद आलम
नालंदा ब्यूरो
बिहार

नालंदा/बिहार :  जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह- जिला पदाधिकारी योगेंद्र सिंह ने चुनाव पूर्व तैयारियों को लेकर विधानसभा क्षेत्र के सभी निर्वाची पदाधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक की।

सभी आरओ को अपने-अपने क्षेत्र अंतर्गत सभी मतदान केंद्र एवं सहायक मतदान केंद्र का भौतिक सत्यापन सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया गया। सत्यापन के क्रम में मतदान केंद्रों पर उपलब्ध ए एम एफ (एश्योर्ड मिनिमम फैसिलिटी) का भी आकलन सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया। प्रत्येक मतदान केंद्र के निर्वाचक सूची में लिंगानुपात, ईपी रेशियो (इलेक्टर पापुलेशन रेशियो) एवं विगत चुनाव में मतदान प्रतिशत का अध्ययन कर इसमें सकारात्मक सुधार लाने हेतु अपेक्षित कार्रवाई सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया। औसत से कम लिंगानुपात वाले मतदान केंद्र पर निर्वाचक सूची में सभी पात्र छूटी हुई महिलाओं का नाम जोड़ने के लिए संबंधित बीएलओ के माध्यम से कार्रवाई सुनिश्चित करने का निर्देश सभी निर्वाची पदाधिकारियों को दिया गया।

 इस दौरान उन्होंने विगत चुनाव में कम मतदान प्रतिशत वाले बूथ पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता बताई गई। कम मतदान प्रतिशत के कारण की पहचान कर अधिक से अधिक मतदाताओं की भागीदारी के लिए जागरूकता अभियान के माध्यम से कार्रवाई करने को कहा गया। मतदाता सूची में नाम जोड़ने, हटाने आदि के लिए प्राप्त सभी दावा आपत्ति आवेदनों का निष्पादन निर्धारित समय सीमा के अंतर्गत सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया। वहीं कोविड-19 के परिपेक्ष्य में मतदाता जागरूकता हेतु भारत निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देशों के अनुरूप उपयुक्त माध्यमों से स्वीप गतिविधियों के आयोजन हेतु कार्य योजना तैयार करने का निर्देश सभी पदाधिकारियों को दिया गया। कार्मिकों की सूची के डेटाबेस का सत्यापन कराया जा रहा है। डेटाबेस में से स्थानांतरित एवं सेवानिवृत्त कर्मियों का नाम हटाया जा रहा है।

मतदान कर्मियों के प्रशिक्षण हेतु डिसेंट्रलाइज्ड व्यवस्था की जाएगी। इसके लिए उपयुक्त भवन एवं अन्य संसाधनों का आकलन कर पूर्व तैयारी करने को कहा गया।आगामी विधानसभा चुनाव में M3 मॉडल के ईवीएम एवं वीवीपैट का उपयोग किया जाएगा। जिला में उत्तर प्रदेश के श्रावस्ती, बलरामपुर एवं हमीरपुर जिलों से ईवीएम तथा आंध्र प्रदेश के कृष्णा जिले से वीवीपैट लाया जा रहा है। 25 जून से ईवीएम का फर्स्ट लेवल चेकिंग (एफएलसी) कार्य बेल के इंजीनियर द्वारा प्रारंभ किया जाएगा।मतदान कर्मियों के डिस्पैच हेतु सभी विधानसभा क्षेत्रों में उपयुक्त भवन परिसर की अभी से ही पहचान कर लेने को कहा गया। इसी प्रकार पारा मिलिट्री फोर्सेज के आवासन के लिए भी उपयुक्त भवनों की पहचान सुनिश्चित करने को कहा गया। सभी निर्वाची पदाधिकारियों को आरओ हैंडबुक एवं M3 ईवीएम मैन्युअल का विस्तृत अध्ययन कर अद्यतन प्रावधानों से अवगत होने को कहा गया। निर्वाचन संबंधी कार्यों के लिए जिला स्तर पर कोषांग का गठन किया जा रहा है। बिहार विधान परिषद के पटना स्नातक एवं पटना शिक्षक क्षेत्र निर्वाचन के लिए निर्वाचक सूची से संबंधित ऑनलाइन प्राप्त सभी आवेदनों का निष्पादन सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया।

 बैठक में उप विकास आयुक्त, अपर समाहर्ता, सहायक समाहर्ता, उप निर्वाचन पदाधिकारी, जिला परिवहन पदाधिकारी तथा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों के निर्वाची पदाधिकारी- अनुमंडल पदाधिकारी बिहार शरीफ, राजगीर और हिलसा, भूमि सुधार उप समाहर्ता बिहार शरीफ और हिलसा आदि जुड़े थे।


Spread the news
advertise