दरभंगा : पत्रकारों, अधिवक्ताओं और अन्य लोगो के वाजिब हक की लड़ाई लड़ रही है जन अधिकार पार्टी-डॉ मुन्ना खान

728x90
Spread the news

ज़ाहिद अनवर (राजु)
उप संपादक

दरभंगा/बिहार : जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह पूर्व सांसद श्री पप्पू यादव के आवाहन पर बिहार के सभी जिलों में आज शनिवार को बिहार बचाने के लिए क्रांति मशाल यात्रा निकालने का कार्यक्रम तय हुआ था! उसी कार्यक्रम के अंतर्गत आज दरभंगा में भी जिला अध्यक्ष डॉक्टर मुन्ना खान के नेतृत्व में मशाल यात्रा पार्टी कार्यालय से कोतवाली चौक होते हुए खानकाह चौराहे पर जाकर समाप्त किया गया।

जहां सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखते हुए पार्टी के जिला अध्यक्ष डॉ मुन्ना खान ने अपने प्रेसवार्ता में कहा कि नीतीश सरकार सिर्फ धोखा है बिहार बदल लो मौका है। मैं पूछना चाहता हूं बिहार सरकार कहती है लॉकडाउन में हर वर्ग के लिए काम किया गया क्या यह सही है? क्या कुशासन बाबू ने स्कूल फीस व ट्यूशन फीस माफ कर दिया विद्यार्थियों का रूम किराया माफ कर दिया। लॉकडाउन में बंद पड़े स्कूलों, छात्रों के लिए चलाई जा रही लाइब्रेरी और जिस लॉज में विद्यार्थी रह रहे थे उन लोगों का बिजली बिल एवं किराया माफ करवा दिया? मझले और छोटे व्यापारियों के लिए 3 महीने का बिजली बिल एवं ईएमआई माफ करने की बात कही गई थी क्या माफ कर दिया है ? और सबसे बड़ी बात हमारे बिहारी कलाकार और अधिवक्ताओं के लिए क्या किया दूसरी ओर कोरोना योद्धा हमारे प्रेस के भाइयों के लिए यह कुशासन सरकार ने क्या किया? जवाब देना होगा क्योंकि जवाबदेही तो सरकार की ही बनती है।

इसलिए सवाल भी उन्हीं से किया जाएगा इसलिए  जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक प्रेस के माध्यम से अपने कलाकार भाइयों के लिए अधिवक्ता भाइयों के लिए और प्रेस में काम कर रहे बंधुओं के लिए ₹10000/- की सहायता राशि का पैकेज सीधे उनके बैंक अकाउंट के माध्यम से बिहार सरकार को देना चाहिए, ताकि उनके परिवार का भी इस लॉकडाउन में कुछ राहत मिल सके। बिहार सरकार हर मोहास पर क्लियर हो चुकी है इसीलिए इस निकम्मी सरकार को बदलने के लिए बिहार की जनता को एकजुट होकर आगे आना चाहिए।

इस मशाल जुलूस में पार्टी के युवा अध्यक्ष चुनमुन यादव, नगर अध्यक्ष पप्पू सरदार, जिला अकलीयत अध्यक्ष फिरोज खान, नौशाद अहमद, नफीस खान,मो० दिलशाद, बबलू मो० बबलू, दलित प्रकोष्ठ जिला अध्यक्ष महेश पासवान, महिला नगर अध्यक्ष आसमा खातून, विभा देवी,आईटी सेल अध्यक्ष ईस्माइल अख्तर, काशिफ इकबाल, पुतुन बिहारी, चंद्रकांत सिंह,रौशन झा, डॉ० वारिस,ईं० इरशाद दस्तगीर अंसारी, छात्र नेता मोहन यादव, मिन्नतुल्लाह अंसारी, दीपक झा, गुनी राम, विष्णु राय, आदिल खान, इमरान अंसारी आदि सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने बिहार बचाने के लिए मशाल जुलूस में शामिल हुए।


Spread the news