मधेपुरा : अपराध पर अंकुश लगाने में नीतीश सरकार पूरी तरह से विफल- पूर्व मंत्री

728x90
Spread the news

चौसा से संवाददाता नौशाद आलम की रिपोर्ट :

चौसा/मधेपुरा/ बिहार के अपराधियों के गोली के शिकार बने पूर्व सरपंच सह राजद नेता निवास चंद्र यादव उर्फ मुन्ना के घर शोकाकुल परिजनों से मिलने पहुंचे पूर्व आपदा मंत्री सह वर्तमान सदर विधायक प्रो.  चंद्रशेखर ने प्रेस वार्ता के दौरान सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि सुशासन बाबू के राज में अपराधियों का मनोबल बढ़ता चला गया है। इस सरकार में हत्याएं, बलात्कार और लूट की घटनाएं चरम सीमा को पार कार चुकी है बावजूद इसके सुशासन बाबू मौन बने हुए हैं।

प्रेस वार्ता का वीडियो यहाँ देखें :

 उन्होंने कहा कि एक शस्त्र अनुज्ञप्ति लेने के लिए पूर्व सरपंच ने सबका दरवाजा खटखटाया, लेकिन अनुज्ञप्ति नहीं मिली, उनको अनुज्ञप्ति मिल गई होती तो शायद आज वह हम लोगों के बीच होते।  मीडिया के एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि उन्होंने कहा कि इस हत्या के जिम्मेदार नीतीश कुमार है। जिस समय लालू प्रसाद यादव सरकार थी तब उन लोगों का कहना था कि यह जंगलराज है, लेकिन स्थिति अब यह हो गई है कि लोग जंगल राज्य से भी ज्यादा बदतर स्थिति में जिने को मजबूर हो गई है। बिहार के लोग भय के साये में जीने को मजबूर हैं और अपराध पर अंकुश लगाने में नीतीश सरकार पूरी तरह से विफल साबित हो रही है। उन्होंने कहा कि एक समय था कि जब पदाधिकारी या पुलिसकर्मी जनता के बीच रूबरू होकर कार्य किया करते थे, लेकिन अब पुलिस प्रशासन भी आशिक मिजाज टाइप के आने लगे हैं। मधेपुरा के चौसा प्रखंड में ही दरोगा कभी किसी के घर में पकड़े आते हैं, तो कभी लड़कियों की मांग करते हैं, ऐसे में पुलिस का खौफ आम लोगों के बीच भी नहीं रहा तो अपराधियों की बात दूर की है।

 उन्होंने शोकाकुल परिजनों से मिलते हुए उन्हें हर संभव न्याय का भरोसा दिलाते हुए सरकार से मांग किया कि मृतक की पुत्रियों की शादी और बच्चों की पढ़ाई लिखाई की सारी जिम्मेवारी सरकार उठावे, अन्यथा राजद परिवार आने वाले दिनों में उग्र आंदोलन करने को बाध्य होगी। एक सवाल के जवाब में बताया कि मैंने शस्त्र लाइसेंस के संबंध में विधानसभा में सवाल उठाया था, लेकिन नीतीश सरकार आज तक जवाब नहीं दे पाई।


Spread the news