मधेपुरा : उदाकिशुनगंज अनुमंडल ही नहीं पूरा बिहार अपराधियों के चंगुल में-पप्पू यादव  

728x90
Spread the news

आरिफ आलम
वरीय संवाददाता,
चौसा, मधेपुरा

चौसा/मधेपुरा/बिहार : मधेपुरा के पूर्व सांसद सह जाप संरक्षक राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव बीती शाम शोकाकुल परिवार से मिलने चौसा पहुंचे, जहां उन्होंने पूर्व सरपंच सह राजद नेता निवास चंद्र उर्फ मुन्ना यादव की हत्या से गमजदा उनके परिवार के लोगों से मिलकर शोक संवेदना व्यक्त की तथा पीड़ित परिवार को ढांढस बांधते हुए आश्वासन दिया कि वे मुन्ना यादव के हत्यारों को स्पीडी ट्राइल के माध्यम से कड़ी से कड़ी सजा दिलवाकर ही चैन की सांस लेंगे।

सनद रहे कि पिछले 29 मई को अपराधियों ने जिले के चौसा प्रखण्ड के लौआलागन पूर्वी के पूर्व सरपंच सह राजद नेता निवास चंद्र उर्फ मुन्ना यादव की गोली मारकर हत्या कर दी थी, हालांकि इस हत्या कांड में पुलिस ने त्वरित कारवाई करते हुए मुन्ना यादव की हत्या में शामिल कोसी दियारा का आतंक संतलाल सहित चार कुख्यात अपराधियों को असलहा के साथ गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है ।

इस दौरान पूर्व सांसद ने पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि  मुन्ना मेरे लिए अपनों जैसा था, उनकी हत्या से मैं काफी दुखी हूँ, यह मेरा संकल्प है कि मैं स्पीड ट्राइल चलवाकर कातिलों को सजा दिलवाकर ही चैन से बैठूँगा । इस दौरान उन्होंने कहा कि मुन्ना यादव का परिवार मेरा परिवार है, उनकी बेटी की शादी अब मेरी जिम्मेदारी, बच्ची की शादी का पूरा खर्च मैं उठाऊँगा ।

 वहीं लॉक डाउन में दर्जनों लोगों कि हुई हत्या पर अफसोस जाहिर करते हुए श्री यादव ने कहा कि इस लॉक डाउन में सिर्फ बिहार में 6 दर्जन लोगों की हत्याएं हुई है, जो राज्य सरकार विफलता है । उन्होंने राज्य सरकार को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि यह लोग कुछ नहीं कर रहे हैं, प्रवासी मजदूरों के आने जाने के लिए कोई सुविधा मुहैया नहीं कराई, मैंने इस पर पहल की, लाखों लोगों के लिए दिल्ली और दिल्ली के आसपास भोजन सहित रहने की व्यवस्था की।

उन्होंने कहा कि दिल्ली में जब मुझे इस घटना की जानकारी मिली तो मुझे विश्वास नहीं हुआ कि मुन्ना यादव जैसे नेक दिल इंसान और मिलनसार सामजसेवी की हत्या कोई कैसे कर सकता है, यह बेहद ही दुखद: घटना है, इस घटना की जितनी निंदा कि जाए कम। उन्होंने कहा कि इस मामले को लेकर हमने आईजी डीजीपी से बात की है उन्होंने ने जल्द ही चार सीट समर्पित कर इस पर कार्रवाई करने की बात कही है।

श्री यादव ने कहा कि उदाकिशुनगंज अनुमंडल ही नहीं बल्कि पूरा बिहार अपराधियों के चंगुल में है बावजूद इसके राज्य सरकार अपराधियों पर नकेल कसने में पूर्ण रूप से विफल है, उन्होंने कहा कि अपराधियों को सरकार का संरक्षण हासिल है ऐसे में अपराध बढ़ना तो लाजमी ही है।


Spread the news