अच्छी खबर :  जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज,मधेपुरा में इलाजरत सात कोरोना पॉजिटिव मरीज डिस्चार्ज

728x90
Spread the news

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार :  मधेपुरा समेत आसपास के जिले के लिए गुरुवार को एक अच्छी खबर सामने आई है। गुरुवार को जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में इलाजरत सात कोरोना पॉजिटिव मरीज को डिस्चार्ज कर दिया गया है। जिसे मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल प्रशासन द्वारा घर भेज दिया गया है। साथ ही 14 दिन के लिए होम क्वारेंटिन में रहने का निर्देश दिया गया है। इन सातों मरीजों को घर भेजने से पूर्व एवं अस्पताल से बाहर निकलते समय अस्पताल प्रशासन द्वारा ताली बजाकर हौसला अफजाई किया गया।

देखें वीडियो :

कोरोना की लड़ाई में जीत के लिए लोगों का सहयोग अपेक्षित : अस्पताल के अधीक्षक कर्नल डा अंसारी ने कहा कि जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में 18 कोरोना पॉजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा था। जिसमें से सात मरीज स्वस्थ हो चुके हैं और अपने घर जा रहे हैं. यह सभी लोग अन्य प्रदेशों से लौट कर अपने घर आए हुए थे, जिनका जांच के दौरान कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आया था, जिसके बाद सभी लोगों का इलाज मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में किया गया। इलाज के बाद रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद सभी लोगों को उनके घर के लिए उन्हें विदा किया गया। उन्होंने कहा कि सभी लोगों को 14 दिन के लिए होम क्वारेंटिन रहने का भी निर्देश दिया गया है। साथ ही उन्होंने कहा कि घर जाने वाले सभी लोगों को यह भी निर्देश दिया गया है कि सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करें। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना के मरीजों से डरना नहीं है बल्कि उनका सहयोग करना है। कोरोना की लड़ाई में जीत के लिए लोगों का सहयोग अपेक्षित है।

स्वस्थ सात कोरोना पॉजिटिव जेकेटी के पहले मरीज : मालूम हो कि जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में 18 कोरोना पॉजिटिव लोगों का इलाज किया जा रहा था। जिसमें से सात लोग स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं तथा 11 लोगों का इलाज चल रहा है, जो सात लोग स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं, वे लोग जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कालेज एवं अस्पताल के पहले सात कोरोना पॉजिटिव मरीज थे। यह लोग महाराष्ट्र के मदरसा से लौटकर आए हुए थे। जिसके बाद पुनः महाराष्ट्र के मदरसा के ही सात बच्चे कोरोना पॉजिटिव सामने आए थे। वहीं उसके बाद अन्य प्रदेशों से लौटकर आए चार मजदूर कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आए थे. इन सभी का इलाज मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में चल रहा है।

नौ मई की देर शाम सात लोगों की आई थी कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट : नौ मई की देर शाम मधेपुरा जिला में दरभंगा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल से मधेपुरा से सात लोगों की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आई थी। जिसके बाद सभी लोगों को कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर दिया गया था। जहां पर चिकित्सकों द्वारा सभी लोगों का इलाज शुरू कर दिया गया था. इन मरीजों में एक मरीज जिले के घैलाढ़ प्रखंड के झिटकिया वार्ड नंबर चार का रहने वाला था। वहीं अन्य छह मरीज जिले के पुरैनी प्रखंड का रहने वाला था, जिसमें नरदह वार्ड नंबर पांच के पांच मरीज एवं कुरसंडी वार्ड नंबर 13 का एक मरीज शामिल थे। इन मरीजों में सभी लोग 10 से लेकर 20 वर्ष के हैं।

महाराष्ट्र के नंदुरबार से लाए गए थे 114 छात्र : देश में चल रहे लॉक डाउन को लेकर लंबे समय से फसे छात्र एवं जिले के मजदूर मजदूरों को लाने का काम लगातार जारी है। इसी क्रम में छह मई की देर रात महाराष्ट्र के नंदूरबार से मदरसा के 114 छात्रों को मधेपुरा लाया गया था। महाराष्ट्र से स्पेशल श्रमिक ट्रेन से सभी छात्र सहरसा पहुंचे, जिले के 114 छात्र छह मई की रात जिला प्रशासन की देखरेख में मधेपुरा के बीएन मंडल स्टेडियम पहुंचे थे। जहां पर महाराष्ट्र के छात्रों का रजिस्ट्रेशन करवाया गया था। रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पूरी करने के बाद उनकी स्क्रीनिंग की गई थी। सभी छात्र मधेपुरा जिले के सिंहेश्वर, कुमारखंड, मुरलीगंज एवं बिहारीगंज प्रखंड के रहने वाले थे। इन छात्रों में से 14 छात्र का कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आया था।


Spread the news