मधेपुरा : भोजन नहीं मिलने से मुरलीगंज क्वारंटाइन सेंटर में रहने वाले आक्रोशित श्रमिकों ने किया विरोध प्रदर्शन

728x90
Spread the news

मिथिलेश कुमार
संवाददाता
मुरलीगंज, मधेपुरा

मुरलीगंज/मधेपुरा/बिहार : मुरलीगंज प्रखंड के अंतर्गत जोरगामा पंचायत के मीरगंज चौक स्थित उत्क्रमित मध्य विद्यालय क्वारंटीन सेन्टर के दर्जनों श्रमिकों ने मंगलवार को 2 बजे दिन तक खाना नहीं मिलने से आक्रोशित श्रमिकों ने विभिन्न जगहों पर सड़क जामकर सरकार और व्यवस्थाओं के विरुद्ध जोरदार प्रदर्शन किया है। 

बताया गया कि उत्क्रमित मध्य विद्यालय मीरगंज, केपी काॅलेज, आदर्श मध्य विद्यालय मिड्ल चौक, चंद्रमणी कन्या मध्य विद्यालय, सोनी मध्य विद्यालय और बीएल हाई स्कूल क्वारंटीन सेन्टर के श्रमिकों ने 2 बजे दिन तक भोजन नही मिलने से आक्रोशित होकर सड़क जामकर शहर में अफरा तफरी का माहौल उत्पन्न कर दिया है। राह चलते राहगीरों के साथ भी भूख से बौखलाए श्रमिकों ने दुर्व्यवहार कर दिया। क्वारंटीन सेन्टर के श्रमिकों का ताण्डव सड़कों पर घंटों चला।

इस दौरान  घंटों बाद भी प्रशासन को इस बात की भनक भी नहीं थी। लगभग साढ़े तीन बजे मीरगंज क्वारंटीन सेन्टर में भोजन सामग्री पहुंचाया गया। बीडीओ द्वारा लोगों को समझाया गया, और सभी क्वारंटीन सेन्टर वापस गए।

कहा जाए तो क्वारंटीन सेन्टर में समुचित व्यवस्था नहीं होने के कारण मंगलवार को श्रमिकों के सब्र का पैमाना टूट गया। और क्वारंटीन सेन्टर से बाहर सड़क पर निकल स्थानीय प्रशासन, जिला प्रशासन और सरकार के उदासीन रवैये के खिलाफ नारेबाजी करते हुए हंगामा मचाया।  विभिन्न जगहों पर सड़क जामकर आवागमन बाधित कर आमलोगो के साथ भी दुव्यवहार किया। इस दौरान सड़कों पर बड़े व छोटे वाहनों की लंबी कतार लगी थी। स्थानीय लोग श्रमिकों के आक्रोश को देखते हुए अपने अपने घरों में बंद हो गए। समय पर भोजन नहीं मिलने से आक्रोशित श्रमिकों का कहना था कि क्वारंटीन सेन्टर में सरकार द्वारा तय की गई अन्य सुविधाएँ तो दूर की बात है। यहां बीते कई दिनों से ससमय भोजन भी नसीब नहीं हुआ है। हमलोगों का हाल जेल में बंद कैदियों से भी बदतर है। कहा जाए तो सुविधाओं के नाम पर सिर्फ और सिर्फ खानापूर्ती की जाती है। आज जब लगभग तीन बजे तक भोजन नही मिला। जिसका परिणाम यह हुआ कि मंगलवार को श्रमिकों ने अपने सब्र खो दिया। और सड़क पर निकलकर अफरा तफरी मचाया है।


Spread the news