नालंदा : पावापुरी मेडिकल कॉलेज अस्पताल में थ्रूनेट मशीन के द्वारा कोरोना सैंपल का जांच कार्य का शुभारंभ

728x90
Spread the news

मुर्शीद आलम
नालंदा ब्यूरो
बिहार

नालंदा/बिहार : जिला के पावापुरी मेडिकल कॉलेज अस्पताल में कोरोना सैम्पल की जांच प्रक्रिया शुक्रवार से शुरू हो गयी है। एक दिन में 20 से 25 सैम्पल की जांच हो सकेगा । जांच प्रक्रिया शुरू होने से पहले लैब का विधिवत प्राचार्य डॉ पीके चौधरी, अस्पताल अधीक्षक डॉ ज्ञान भूषण एवं एसोसिएट प्रोफेसर वाईस प्रिंसिपल डॉ अशोक कुमार द्वारा संयुक्त रूप से फीता काटकर कर शुभारंभ किया गया ।

इस बात की जानकारी देते हुए प्राचार्य डॉ पीके चौधरी ने बताया कि यहाँ लैब स्थपित कर दी गयी है और 6 लैब टेक्नीशियन को प्रशिक्षित किया गया । एक साथ दो मशीन के द्वारा सैंपल जांच प्रक्रिया की जाएगी जिससे करीब 20 से 25 कोरोना का सैंपल जॉच प्रतिदिन हो सकेगा । प्राचार्य डॉ पीके चौधरी ने बताया कि राज्य में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सरकार ने यह कदम उठाया है । उन्होंने बताया कि अस्पताल में अभी तक 11 सैंपल जांच के लिए मौजूद है जिसकी जांच की जा रही है । थ्रूनेट मशीन यहां स्थापित हो जाने से प्रतिदिन कोरोना सैंपल का जांच में आसानी होगी और रिपोर्ट भी जल्द मिल जाएगा जिससे इलाज प्रक्रिया में भी सहूलियत होगी ।
उन्होंने बताया कि कोरोना जांच के सैंपल पहले पटना भेजा जाता था जिससे जांच रिपोर्ट आने में समय लग जाता था । उन्होंने कहा कि अब मेडिकल कॉलेज पावापुरी में लैब चालू हो जाने से समय और पैसे दोनों की बचत होगी । प्राचार्य ने बताया कि फिलहाल बिहार में कोरोना जांच फिलहाल 7 जगहों में की जा रही है पटना में 4, मुजफ्फरपुर, दरभंगा और भागलपुर में एक एक लैब काम कर रहा है । नया लैब पावापुरी में चालू हो जाने हो जाने से काफी सुविधा मिलेगा । आवाज में सैंपल जांच करने वाले लाइव की संख्या 8 हो गई है। पावापुरी मेडिकल कॉलेज अस्पताल में लाइट चालू होने से नरेंद्र वासियों को अधिक लाभ मिलेगी और जल्दी जांच का रिजल्ट भी सामने आ जाएगा।


Spread the news