मधेपुरा : मुरलीगंज में सीओ की गाड़ी सहित चालक को घंटों बनाया बंधक  

Spread the news

मिथिलेश कुमार
संवाददाता
मुरलीगंज, मधेपुरा

मुरलीगंज/मधेपुरा/बिहार : मुरलीगंज प्रखंड अंतर्गत पड़वा नवटोल पंचायत के उत्क्रमित उच्च विद्यालय में बने  क्वारंटीन सेंटर में मंगलवार की रात सीओ की गाड़ी को घंटों बंधक बनाकर चालक के साथ लोगों द्वारा दुर्व्यवहार करने का मामला सामने आया है। बताया गया कि क्वारंटीन सेन्टर में पूर्व से रखे मुढी के तीन चार पैकेट को सरकारी वाहन में लादकर कहीं ले जाया जा रहा था। जिसे देख क्वारंटीन हुए लोग भड़क गए।   

लोगों की शिकायत थी कि आज तक हमलोगों को नाश्ते में मुढी घुघनी नहीं दिया गया है। इसी बात को लेकर लोगों ने सीओ के वाहन और चालक को घंटों बंधक बनाए रखा। लोग सीओ को सेन्टर पर बुलाने की मांग कर रहे थे। हालांकि स्थानीय समाजिक लोगों के द्वारा काफी समझाने पर वाहन और चालक को छोड़ दिया गया। बताया गया कि पड़वा नवटोल पंचायत के उत्क्रमित उच्च विद्यालय क्वारंटीन सेन्टर में लगभग 50 लोग रह रहे हैं। क्वारंटीन हुए लोगों ने बताया कि यहाँ समस्या हीं समस्या है। दिन रात चावल, दाल, सब्जी के अलावे किसी तरह की सुविधा नहीं दी गई। इससे अच्छा हमलोगों को अपने घर भेज देना चाहिए। कम से कम परिवार के साथ रूखी सुखी खाकर जीवन यापन कर लेते। यहां कमरे की साफ सफाई नही होती हैं। गंदे कमरों में ही भेड़ – बकरी के तरह हमलोगों को रात बिताना पड़ता हैं। एक कमरे में 20 से 25 लोगों को शिफ्ट किया गया है। बिना किसी दरी के जमीन पर ही सोना पड़ता हैं। साथ ही गुणवत्ता पूर्ण भोजन नही मिल रहा है। शुद्धपेयजल की व्यवस्था नही किया गया है।

 बता दें कि मुरलीगंज बाजार में चार क्वारंटीन सेन्टर में भी विभिन्न तरह के समस्याओं से प्रतिदिन लोगों को जुझना पड़ता है।

वही दूसरी ओर चंद्रमणी कन्या मध्य विद्यालय क्वारंटीन सेन्टर से एक व्यक्ति को तीन दिन होने के उपरांत ही छुट्टी दे देने पर सोमवार को अन्य लोगों ने मेडिकल टीम का घेराव कर लिया। प्रतिदिन दिन की तरह क्वारंटीन हुए लोगों की स्वास्थ्य जांच के लिए सोमवार को मेडिकल टीम सेन्टर पर पहुंची थी । इस सेन्टर में 115 लोगों को रखा गया है। एलपीएम काॅलेज में मंगलवार को 82 लोगों को क्वारंटीन किया गया है। जिनका आरोप था कि हमलोग 12 बजे दिन में आए थे और रात को 1 बजे भोजन दिया गया है। किसी अन्य तरह की सुविधा नहीं दी गई है, लाइट की व्यवस्था नही है, शुद्धपेयजल, सेनेटाइजिंग, मास्क, साबुन की व्यवस्था नही किया गया। बीएल हाई स्कूल में 129 लोगों को क्वारंटीन किया गया है। सोनी मध्य विद्यालय में 59 लोगों को क्वारंटीन किया गया है। कहा जाए तो लगभग सभी क्वारंटीन सेन्टर में सुविधाओं के नाम पर खानापूर्ती हो रही है। जो सरकारी दिशा निर्देशों की पोल खोल रही है।

वही चालक हरेराम ने बताया कि पड़वा नवटोल सेंटर पर लोग आक्रोशित होकर गाली ग्लौज करते हुए बंधक बना लिया था। स्थानीय लोगों के पहल पर छोड़ा गया। इस दौरान सीओ शशीभूषन कुमार ने कहा कि पड़वा नवटोल से कुछ भोजन सामग्री को स्टाॅक किया गया था। जिसे लाने के लिए चालक को भेजे थे। क्वारंटीन हुए लोगों ने गलत फहमी में वाहन और चालक को घेर रखा था। उन्होंने बताया कि शहर में चार क्वारंटीन सेन्टर बनाए गए हैं। जिसमें समुचित सुविधाएँ मुहैया कराया जा रहा है।


Spread the news
advertise