मधेपुरा : लॉकडाउन में फंसे लोगों की मदद को हाथ बढ़ा रहे हैं जाप कार्यकर्ता

728x90
Spread the news

चौसा से नौशाद आलम संवाददाता की रिपोर्ट : 

चौसा/मधेपुरा/बिहार : कोरोना वायरस के बाद हुए लॉकडाउन से लोगों की परेशानियां बढ़ गई हैं। उन लोगों की मुश्किलें और बढ़ गई हैं जो लोग अपना गांव-घर छोड़कर दूसरे शहरों में प्रवास पर हैं। लॉकडाउन के कारण ऐसे लोगों के रोजगार पर ताला लग गया है। ऐसी स्थिति में उन्हें अपने घर लौटने के अलावा कोई चारा नहीं है। इन हालात में भूखे और जरूरतमंद लोगों तक जन अधिकार छात्र परिषद के कार्यकर्ताओं के सदस्य पका खाना, सूखा राशन, मास्क और साबुन जैसी आवश्यक सामान पहुंचा रहे हैं।

मिली जानकारी के अनुसार मधेपुरा जिले के चौसा प्रखंड मुख्यालय बाजार में उत्तर प्रदेश के जालौन जिला के रहने वाले सुरेंद्र सिंह और मध्य प्रदेश के भिंड जिला के रहने वाले मनोज सिंह गत कई वर्षों से चौसा बाजार में रहकर अपने परिवार के साथ पानी पूरी बेचकर कर अपने परिवार का भरण पोषण कर रहे थे। लेकिन पुरे देश में करोना महामारी के कारण लॉक डाउन होने के वजह से इन दोनों परिवारों के बीच भुखमरी की समस्या उत्पन्न हो गई है।

उक्त मामले की जानकारी जन अधिकार छात्र परिषद के प्रखंड अध्यक्ष अभिषेक सिंह उर्फ टिंकू सिंह को हुई। तत्पश्चात अपने टीम अभिषेक सिंह के साथ साथ चौसा के समाजसेवी युवा नेता रितेश रंजन उर्फ मंटू यादव, युवा नेता सेवक अक्षय कुमार जन अधिकार छात्र परिषद प्रखंड के महासचिव सुजीत सिंह आदि उनके किराए पर रह रहे घर पर पहुंच कर राशन सामग्री देकर सहायता प्रदान किया। साथ ही उक्त सभी लोगों को विश्वास दिलाया की जब तक स्थिति सामान्य नहीं हो जाती  तब तक जन अधिकार पार्टी एवं युवा साथियों के द्वारा उनके परिवार की हर संभव मदद की जाएगी।

इस दौरान मौके पर मौजूद जन अधिकार पार्टी के युवा नेता रितेश रंजन उर्फ मंटू यादव, युवा नेता अक्षय कुमार, जन अधिकार छात्र परिषद प्रखंड महासचिव सुजीत सिंह एवं समाजसेवी पंकज शर्मा आदि मौजूद थे।


Spread the news