दरभंगा : पद्म श्री डॉ एम बी वर्मा ने ग्रामीण विद्यालयों के बच्चों को विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पढ़ाया

728x90
Spread the news

ज़ाहिद अनवर (राजु)
उप संपादक

दरभंगा/बिहार : देश में एक ओर कोरोना के कारण पूर्ण रूप से लॉकडाउन है तो दूसरी ओर घर पर रहकर सुदूर गांव में पढ़ने वाले मध्य एवं उच्च विद्यालयों के ग्रामीण बच्चों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विज्ञान की शिक्षा देने का कार्य सेवानिवृत्त रक्षा वैज्ञानिक पद्म श्री डॉ मानस बिहारी वर्मा ने स्वयं अपनी एवं अपने मित्र पूर्व राष्ट्रपति डॉ एपीजे अब्दुल कलाम द्वारा खोली गई संस्था विकसित भारत फाउंडेशन बिहार ब्रांच एवं अगस्त्या इंटरनेशनल फाउंडेशन (बेंगलुरु) द्वारा संस्था के शिक्षकों के संग सोशल दिस्टेंसिंग का पालन करते हुए घर से ही कर रहें हैं।

जिसमें दरभंगा जिले के विभिन्न गांव के विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चे  अपनी रुचि दिखाते हुए लाभ ले रहें है। इस बीच बच्चों ने डॉ वर्मा से कोरोना के रोकथाम को लेकर एवं अन्य विज्ञानिक प्रश्न भी पूछें। डॉ वर्मा ने बच्चों को सभी प्रश्नों का उत्तर देते हुए यह भी समझाया कि वर्तमान समय को देखते हुए भारत समेत पूरा विश्व इस कोरोना महामारी की समस्या से जूझ रहा है जिसमें हम सभी को सतर्कता बरते हुए लॉकडॉन एवं सोशल दिस्टेंसिंग का पालन  पूरी सावधानी के साथ करना है एवं साफ सफाई का भरपूर ध्यान रखना है और इसके अतिरिक्त घर पर रहकर समय का सही लाभ लेते हुए अपनी पढ़ाई को निरंतर जारी रखना है।

इस बीच संस्था के सीनियर साइंस एवं अाई.टी इंस्ट्रक्टर फवाद ग़ज़ाली तथा मनोज कुमार यादव ने बताया कि ऑनलाइन के माध्यम से क्लास विगत एक सप्ताह से चालू किया गया है जो कि प्रत्येक दिन विज्ञान के विभिन्न विषयों को पढ़ाने का कार्य चल रहा है और जब तक स्थिति सामान्य ना हो जाए और स्कूल ना खुल जाए उस समय तक यह ऑनलाइन क्लास जारी रहेगा और इस बीच हम लोग विषय अनुसार बच्चों द्वारा क्रियाकलाप भी करा रहे हैं। जिससे कि बच्चों को सरलता पूर्वक समझने में सुविधा हो रही है।

 श्री फवाद ग़ज़ाली ने बताया कि कोरोना ऐसी महामारी है जिसके कारण विद्यालयों के बंद होने से बच्चों की पढ़ाई पर बहुत बुरा असर पड़ रहा है और अब  विद्यालय कब खुलेंगे इसकी फिलहाल कोई संभावना नहीं है। वर्तमान समय में बच्चे अपने घरों में बैठे हैं लेकिन घर पर भी पठन-पाठन का क्रम चलता रहना चाहिए। इसी के मद्देनजर संस्था के द्वारा ऑनलाइन क्लास छठी से दसवीं तक के बच्चों के लिए विज्ञान विषय पर आधारित संचालित किया जा रहा है। इसमें विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों के सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के लिए यह ऑनलाइन क्लास बिल्कुल नया प्रयोग है।

श्री मनोज ने बताया कि इसमें बड़ी संख्या में बच्चे के साथ अभिभावक एवं शिक्षक भी अपनी रुचि दिखा रहे हैं। ज्ञात हो कि संस्था द्वारा विगत 10 वर्षों से दरभंगा जिले के ग्रामीण क्षेत्र में मौजूद विद्यालयों में मोबाइल साइंस लैब वैन के माध्यम से जाकर विज्ञान एवं कंप्यूटर की शिक्षा दी जा रही है जिसमें बड़ी संख्याओं में बच्चों को लाभ हो रहा है। कंप्यूटर की शिक्षा सुचारू रूप से बतौर संस्था की शिक्षिका के रूप में लक्ष्मी कुमारी देख रही हैं। इस बीच ऑनलाइन क्लास को क्रमबद्ध तरीके से सफल बनाने में अगस्त्या फाउंडेशन के रीजनल मैनेजर मुकेश कुमार, एरिया लीडर राजीव कुमार, आईएमटी राम इकबाल, सीनियर इंस्ट्रक्टर राहुल कुमार मिश्र का भी भरपूर सहयोग मिल रहा है।


Spread the news