मधेपुरा : कोरोना महामारी में कुंदन सिंह बने गरीबों के मसीहा

Spread the news

कौनैन बशीर
वरीय उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : पूरे देश में धीरे-धीरे पांव पसार रही कोरोना महामारी बीमारी के चलते पूरे देश में लॉकडाउन होने के कारण बाहर कमाने गए मजदूर जहां थे वहीं फसे हुए है। इस लॉकडाउन के दौरान बाहर फंसे मजदूरों को खाने के लाले पड़ने लगे। इसी बीच जिले के उदाकिशुनगंज अनुमंडल के बलिया गांव के समाजसेवी सह राजद युवा नेता कुंदन सिंह अपने क्षेत्र में गरीब असहाय लोगों की एवं बाहर में फंसे मजदूरों की लगातार मदद कर रहे हैं और राशन मुहैया करा रहे हैं।

वह अलग अलग राज्यों में फंसे मजदूरों को कुछ संगठनों से संपर्क कर राशन, पैसा, दवा मुहैया करा रहे है तो वहीं कुछ अपने निजी कोष से मदद कर रहे हैं। अपने क्षेत्र में राशन जैसे चावल, दाल, आटा, तेल, मुड़ी आदि के पैकेट बनाकर जरुरतमंद गरीबों को बीच बाट रहे है। इस कार्य को करते हुए युवा नेता कुंदन सिंह को देख कर लोग उनका हौंसला बड़ा रहे हैं व तरह-तरह की उनकी प्रशंसा कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि अबतक लगभग सैकड़ों लोगों के बीच मदद कर चुके हैं और लगातार बाहर में फंसे मजदूरों को राशन, पानी, दवा पहुंचाने का प्रयास किया जा रहा है। इसी बीच उदाकिशुनगंज प्रखंड मुख्यालय निवासी शंकर मेहता के साथ एक दर्जन लोगों को पंजाब के अमृतसर जबकि प्रखंड के मधुबन गांव के दीपक कुमार, अनंत कुमार, मिथुन कुमार, उमेश पासवान, बादल मुखिया, बिरेन मुखिया सहित 15 से 20 की संख्या मैं दिहाड़ी मजदूर जोकि ग्राम रूई थाना पानीतराई जिला कबीरधाम छत्तीसगढ़ मैं लॉक डॉन के बाद फंसे हुए है। जिसे खाना खाने का मजबूरी बना हुआ है। वही वैसे लोगों के बीच। युवा राजद नेता कुंदन सिंह, वहां के पदाधिकारी एवं जनप्रतिनिधि से बात कर तुरंत बुनियादी समान पहुँचवाने का काम कारवां रहे हैं।

कुंदन सिंह ने कहा कि हम लोगों को गर्व है कि संकट की इस घड़ी में मानवता सेवा का मौका मिला है। ऐसे में गरीब तबके के लोगों का मदद कर हम लोगों को सुख और शांति कि अनुभुति मिल रही है। साथ ही उन्होंने कहा की संकट के इस क्षण मे हर संभव मदद के लिए आगे रहेंगे।


Spread the news
advertise