नालंदा : कोरोना वायरस को रोकने के उद्देश्य से जिले में डोर-टू-डोर स्क्रीनिंग का कार्य शुरू, जिला पदाधिकारी ने किया निरीक्षण

Spread the news

मुर्शीद आलम
नालंदा ब्यूरो
बिहार

नालंदा/बिहार : जिला में कोरोना वायरस को रोकने के उद्देश्य से नालंदा जिला के प्रत्येक घर की स्क्रीनिंग कार्य युद्ध स्तर पर प्रारंभ हो गया है। इस कार्य में जिला में लगभग 2 हजार टीम को इस कार्य में लगाया गया है। प्रत्येक टीम में आशा वर्कर एवं आंगनवाड़ी सेविका को लगाया गया है, जिसके पर्यवेक्षण के लिए एएनएम को लगाया गया है। यह सर्वे कार्य पल्स पोलियो अभियान की तर्ज पर किया जा रहा है। इस सर्वे के माध्यम से प्रत्येक घर में रहने वाले सभी लोगों का नाम, उम्र, उनके स्वास्थ्य की वर्तमान स्थिति सहित घर के सदस्यों की 1 मार्च के बाद की ट्रेवल हिस्ट्री की भी जानकारी प्राप्त किया जा रहा है।

जिला पदाधिकारी योगेंद्र सिंह ने जिले के नूरसराय बाजार एवं हरनौत प्रखंड के बराह पंचायत के महथवर गांव में स्क्रीनिंग कार्य का निरीक्षण किया। इस अवसर पर उन्होंने इस कार्य में लगे टीम के सदस्यों से बातचीत कर उनकी हौसला अफजाई की तथा निर्धारित समय सीमा के अंतर्गत स्क्रीनिंग का कार्य को पूरा करने का भी निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने स्थानीय लोगों से भी बातचीत कर इस स्क्रीनिंग के उद्देश्य के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी दी तथा इसमें सहयोग करने का अनुरोध किया।

दूसरी तरफ शहर में कुछ लोगों के द्वारा इस कार्य में सहयोग नहीं किया जा रहा है और इसे गलत समझ लिया है, लेकिन बेखौफ होकर इस कार्य में सहयोग करने की आवश्यकता है और किसी भी तरह की अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील की है। घर पर आए आशा वर्कर, आंगनबाड़ी सेविकाओं को पुरा सहयोग करने की आवश्यकता है। यह कार्य प्लस पोलियो के तर्ज पर किया जा रहा है। इस कार से भ्रमित होने की आवश्यकता नहीं है बल के बढ़ चढ़कर भाग लेने की जरूरत है।


Spread the news
advertise