नालंदा : पुलिस पिटाई के खिलाफ किसानों का फूटा गुस्सा, सड़क जाम कर की आगजनी

728x90
Spread the news

मुर्शीद आलम
नालंदा ब्यूरो
बिहार

नालंदा/बिहार : जिले में नोबेल करोना वायरस के कारण लॉक डाउन के कारण सोशल डिस्टेंसिंग यानी समाजी दूरी बनाने के उद्देश्य बिहार शरीफ शहर के रामचंद्रपुर स्थित बाजार समिति से सब्जी मंडी को दीपनगर स्टेडियम में स्थानांतरित कर दिया गया था, जिसे पहले ही दिन पुलिस के द्वारा किसानों का चालान काटे जाने और मारपीट करने के विरोध में राष्ट्रीय राजमार्ग 20 पर मामू भागना पहाड़ के समीप सड़क जाम कर आगजनी की और पुलिस को भी खदेड़ा जबकि लहरी थाना की जीप को क्षतिग्रस्त करने की कोशिश की गई इस तरह पूरे माहौल में अफरा तफरी का रहा और पुलिस को किसानों का काफी आक्रोश झेलना पड़ा।

दरअसल सोशल डिस्टेंसिंग के अनुपालन करने हेतु सब्जी मंडी बाजार समिति से हटाकर दीप नगर स्टेडियम में स्थानांतरण दीया गया था। किसानों का आरोप था कि जब हम लोग सब्जी बेचकर लौट रहे थे तो बाइक की चालान हैलमेड जूता नहीं रहने पर काटा गया पुलिस के द्वारा मारपीट और प्रताड़ित किया गया, इसीलिए अब हम लोग दीपनगर स्टेडियम सब्जी लेकर नहीं जाएंगे और हमें फिर दोबारा बाजार समिति के प्रांगण में ही सब्जी बेचने की अनुमति दी जाए इन्हीं सब कारणों को लेकर किसानों का गुस्सा फूट पड़ा और काफी बवाल काटा। सड़क जाम में सब्जियों को लेकर सड़क पर रख दिया गया और जाम कर दिया गया जिसको लेकर दोनों तरफ जरूरी सामानों को ले जा रहे हैं और गैस टैंक लोरी जाम में फंसी रही, आक्रोशित किसानों के द्वारा आगजनी भी की गई और दीपनगर थाना प्रभारी के तबादले की मांग भी की।

सूचना मिलते ही एसपी निलेश कुमार, अनुमंडल पदाधिकारी जनार्दन प्रसाद अग्रवाल, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी इमरान परवेज मौके पर पहुंचे आक्रोशित किसानों को काफी मशक्कत के बाद समझा-बुझाकर शांत किया गया और वैकल्पिक व्यवस्था करने का आश्वासन दिया तब जाकर जाम को हटाया गया। वहीं मौके की नजाकत को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिए गए थे। किसानों ने कहा कि आज से हम लोग अपनी अपनी सब्जियों को बेचना बंद कर देंगे, दीपनगर किसी भी कीमत पर नहीं जाएंगे। लेकिन एसपी के द्वारा वैकल्पिक व्यवस्था का आश्वासन मिलते ही जाम को समाप्त किया गया और सभी सब्जी बेचने वाले किसानों को वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर गोला मैदान में सब्जी बेचने के आश्वासन दिया गया।


Spread the news