नालंदा : पावापुरी राइस मिल के संचालक के द्वारा सैकड़ों गरीबों के बीच खाद्य सामग्री का किया गया वितरण

728x90
Spread the news

मुर्शीद आलम
नालंदा ब्यूरो
बिहार

नालंदा/बिहार : जिले में नोबेल कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर लॉक डाउन के बीच  कमाने वाले गरीब परिवारों की मुश्किलें हर दिन बढ़ती ही जा रही है और उनके बीच अब भुखमरी की स्थित पैदा होने लगी। इसी के मद्देनजर जिले भर में सैकड़ों समाजीक, राजनीतिक एवं संस्थाओं के लोग गरीबों की सहायता हेतु अपना हाथ बटा रहे हैं और लगातार सभी सामाजिक कार्यकर्ता रात दिन लगे हैं। रविवार को पावापुरी राइस मिल संचालक द्वारा पोखरपुर पंचायत स्थित पावापुरी में पूरी, पोखरपुर एवं दौलचक गांव के सैकड़ों गरीब जरूरत मन्द परिवारों के बीच खाद्य राहत सामग्री इसमें चावल, दाल, आटा, नामक, साबुन औऱ मास्क इत्यादि सामानों का वितरण किया गया।

इस दौरान राइस मिल संचालक दिनेश गुप्ता ने बताया कि जिले में समाज सेवा एवं अन्य संगठनों के इस कार्य से प्रेरित होकर वे भी निःस्वार्थ भाव से गरीब लोगों को खाद्य राहत सामग्री देने का निर्णय किया और गरीब असहाय मजदूरों के बीच खाद्यान्न सामग्री का वितरण किया है। उन्होंने कहा कि अन्य पंचायत के गरीबों के बीच राहत सामग्री पहुंचाने का काम निरंतर जारी रहेगा। इधर खाद्य सामग्री वितरण की सूचना मिलते ही काफी संख्या में लोग इकट्ठा होने लगे जिसपर उन्हें सोशल डिस्टेंसींग बताते हुए लाइन लगाकर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए खाद सामग्रियों का वितरण का कार्य आरंभ किया गया। साथ ही साथ लोगों को यह भी बताया गया कि मार्श को लगाकर रहें ताकि संक्रमण फैलने न पाए। लोगों को कहा यह भी गया लॉक डाउन का पूरा पालन करें और सभी  लोग अपने-अपने घरों में रहें।

राशन वितरण कार्य में पोखरपुर पंचायत मुखिया राधा देवी, शिवराशन सिंह, विकास कुमार, विनेश गुप्ता उर्फ मंटू सहित कई जनप्रतिनिधि भी शामिल थे। गरीब लोगों को राहत सामग्री मिलने से राहत की सांस ली और वितरण कर रहे व्यक्तियों को धन्यवाद दिया। गरीबों की सेवा करना ही असली मानवता है।


Spread the news