दरभंगा : दोनो धर्मो की बीच बनी सहमति, महावीर जयंती एवं शब-ए-बरात घर पर ही मनाएंगे

728x90
Spread the news

ज़ाहिद अनवर (राजु)
उप संपादक

दरभंगा/बिहार : जहाँ एक ओर गोदी मीडिया द्वारा इस महामारी में भी देश के माहौल को खराब करने की कोशिश में है, वही दरभंगा की आम जनता इसके बिल्कुल विपरीत मिशाल पेश कर रहे है।

विदित हो कि इसी लॉक डाउन के अवधि में दो बड़े त्यौहार महावीर जयंती और शब-ए-बरात पड़ रहा है। दरभंगा जिला के दोनों पक्षों के जिम्मेदार लोगों द्वारा जिला प्रशासन को भरोसा दिया गया है कि कोरोना महामारी को फैलने से रोकने के उद्देश्य से इस वर्ष महावीर जयंती एवं शब-ए-बरात त्यौहार अपने अपने घर से ही मनाई जायेगी।

दरभंगा के जिम्मेदारों ने बताया कि वे लोग अवाम को मोबाइल पर संदेश भेजकर, मस्जिद से उद्घोषणा कर समझाने की पूरी-पूरी कोशिश करेंगे कि शबे बारात त्यौहार अपने घर पर ही मनाएं। देश में कोरोना बीमारी को फैलने से रोकने के लिए सोशल डिस्टेसिंग नियम सभी लोग पालन करें। कहीं भी भीड़ नहीं लगाये यहाँ तक कि कब्रिस्तान में भी नहीं जाएं। वहीं एक अन्य ज़िम्मेदार ने बताया कि इमारते शरिया से घोषणा हो गयी हैं कि इस वर्ष शबे बारात त्यौहार घर पर ही मनाई जाएगी। उन्होंने कहा कि सभी लोग सरकार के आदेशों का पालन करेंगे।

जिलाधिकारी ने कहा कि किसी भी व्यक्ति में कोरोना के कोई भी लक्षण दिखे या पता चले तो उस व्यक्ति के बारे में टाॅल फ्री नम्बर 104 अथवा जिला नियंत्रण कक्ष के नम्बर – 06272-245055 पर तुरंत सूचना दें। उनकी तुरंत जाँच कराई जायेगी। उनका जाँच करना अत्यंत जरूरी है ताकि यह संक्रमण अनजाने में ही अन्य लोगों तक न फैल सकें।

मालूम हो कि कोरोना बीमारी को नियंत्रित करने हेतु देश में लाॅक डाउन लागू है। सभी प्रकार के धार्मिक आयोजनों पर प्रतिबंध लगाया गया है ताकि अधिक लोगों का एक जगह पर जुटान न हो सके। सामान्य दिनचर्या में भी लोगों को सोशल डिस्टेसिंग नियम का पालन करने की अपील की जा रही है। इसीलिए आगामी दो बड़े त्यौहार महावीर जयंती एवं शब-ए-बरात के अवसर पर सभी लोगों को धार्मिक आस्था से ऊपर उठकर घर पर से ही प्रार्थना/इवादत करने का अनुरोध किया गया हैं। यह सुनिश्चित करने हेतु जिला पदाधिकारी की अध्यक्षता में आज समाहरणालय सभा कक्ष में दोनों धर्मों के जिम्मेदार लोगों के साथ एक बैठक आयोजित की गई।

 जिलाधिकारी डाॅ. त्यागराजन एस.एम. ने इस वैश्विक संकट की घड़ी में दोनों धर्मो के लोगों से सभी प्रकार के पर्व/त्योहारों को अपने-अपने घरों में ही मनाने का आग्रह किया गया। उन्होंने कहा कि कोराना वायरस को फैलने से रोकने के लिए सोशस डिस्टेसिंग ही एकमात्र एवं सबसे कारगर तरीका है। इस नियम का सभी पालन करें। अगर कोई लोग संवेदनशील देशो या राज्य के बाहर से यहाँ आया है तो उसकी जाँच कराये। डी.एम.सी.एच. में ही जाँच की सुविधा विकसित हो गई है। वहाँ के आइसोलेशन वार्ड में लोगों को सभी प्रकार की सुविधा प्रदान की जा रही है। कहा कि लोगों को कोरोना से डरने की नही बल्कि लड़ने की जरूरत है। इस लड़ाई में सभी की जिम्मेदारी है। अगर एक भी संक्रमित व्यक्ति छूट गया तो फिर लड़ाई अधूरी रह जायेगी। खतरा बरकरार रहेगा।

उन्होंने कहा की 01 मार्च 2020 के बाद जो भी व्यक्ति तब्लीगी जमात में शामिल हुए हैं  अथवा कोरोना के किसी ज्ञात मरीज के सम्पर्क में रहे हो उन सभी व्यक्तियों को स्वयं आगे आकर अपना-अपना जाँच करानी चाहिए। यह उनके खुद के, उनके परिवार के हित में जरूरी है। अगर ऐसे लोग स्वयं नहीं निकलते है तो समाज के जिम्मेदार लोगों का कर्तव्य है कि वे ऐसे लोगों को विश्वास में लेकर उनकी जाँच कराये। अगर जाँच रिजोर्ट पोजिटिव भी आता है तो घबराने की जरूरत नही है, उन्हें आइसोलेशन वार्ड मे रखा जायेगा और चिकित्सा की जायेगी। कहा कि बहुत से मरीज कोरोना बीमारी से ठीक होकर घर लौट गये है।

बैठक में उपस्थित वरीय पुलिस अधीक्षक बाबू राम ने हिन्दू मुस्लिम दोनों पक्ष के लोगों से अपील किया कि सभी लोग अपने-अपने घर में ही रहे। सोशल डिस्टेसिंग नियम का पालन करे। आने वाले सभी पर्व/त्यौहारों को घर में ही मनायें।

इस बैठक में डी.एम. डॉ त्यागराजन, एस.एस.पी. बाबू राम, सिटी एस.पी. योगेन्द्र कुमार, सदर एस.डी.ओ. राकेश गुप्ता, डी.पी.आर.ओ. सुशील कुमार शर्मा, मुफ्ती अब्दुल गफ्फार साकिन काजी, दरभंगा प्रमंडल, अरशद रहमानी काजी एमारत-ए-शरीया, वारीस हुसैन, इमाम शाही मस्जिद, किलाघाट, खालिद रजा कादरी, मौलाना नजीर उस्मानी, रियाज खान कादरी, मंजर कासमी, मुस्ताक  आलम, पूर्व पार्षद अमानुल्लाह खान, पूर्व पार्षद नफीसूल हक रिंकू, रियासत अली टिंकू, समसूल हक, रुस्तम कुरैशी, सचिव जिला मोहर्रम कमिटी, तनवीर आलम, पूर्व सचिव जिला मोहर्रम कमिटी, नवीन सिन्हा, हेमचंद्र झा, मनीष जायसवाल, राजीव मधुकर, धर्म कुमार, सुजीत मल्लिक आदि उपस्थित थे।


Spread the news