नालंदा : लॉकडाउन के बाद दूसरे जुमे में भी मस्जिदों में पसरा रहा सन्नाटा

Spread the news

मुर्शीद आलम
नालंदा ब्यूरो
बिहार

नालंदा/बिहार : नोबेल करोना वायरस (COVID-19) को लेकर पूरे देश में लॉक डाउन है और जनता के द्वारा भी पूरी तरह पालन किया जा रहा है, मुस्लिम समुदाय के लोगों ने लॉक डाउन होने के बाद दूसरे जुमा में भी पूरे नालंदा जिला के किसी भी मस्जिद में जुमे की नमाज भीड़ भाड़ में अदा नहीं की गई, सिर्फ 4 से 5 लोगों के बीच मस्जिद में समाजीक दुरी बनाकर जुमे की नमाज अदा की गई। जिले के शहर से लेकर गांव तक के सभी मस्जिदों में दरवाजे बंद रहे और चंद लोग ही अंदर में जुमे की नमाज अदा की।

यानी कुल मिलाकर देखा जाए तो मुस्लिम समुदाय के बीच भी लॉकडाउन का पूरी तरह से पालन किया जा रहा है। जिले के शाही जामा मस्जिद बिहार शरीफ में सिर्फ 6 लोगों की ही जमात बनी वह भी सोशल डिस्टेंसींग यानी समाजीक दुरी बना कर नमाज अदा की गई। शहर के शाही मस्जिद मुरारपुर, कटरा पर, नेहाल मस्जिद, इमादपुर, छज्जू महल्ला, कागजी मोहल्ला, मोगल कुआं, कमरुद्दीन गंज, कोहना सराय के अलावा जिले के तमाम मस्जिदों में जुमे की नमाज में 5-6 की ही संख्या में लोग सामाजिक दूरी बनाकर जमात बनाकर अदा की गई। लॉग डॉन का असर जिले के सभी मस्जिदों पर भी पड़ा है, आम दिनों की तरह आज मस्जिद पूरी तरह सुनसान दिखाई पड़ा, लेकिन आम दिनों में तो 10:00 बजे से लोग ही मस्जिद में पहुंचना आरंभ हो जाता था और नेमाज,,धार्मिक किताबों का अध्ययन शुरू कर देते थे, लेकिन आज पूरी तरह सभी मस्जिदों से ना कुरान की आवाज निकल रही है और ना ही नमाजियों की भीड़ देखी जा रही है, चंद लोग ही सिर्फ जमात को कायम किए हुए हैं।

गौरतलब बात यह है कि सभी मस्जिदों से हर वक्त अपने समय के अनुसार आज़ान की आवाज गूंज रही है, मगर चंद ही लोग मस्जिद में नमाज अदा कर रहे हैं, वह भी समाजीक दूरी यानी सोशल डिस्टेंस का पूरा का पूरा ख्याल रख रहे हैं।


Spread the news
advertise