मधेपुरा : यूरिया की किल्लत, दुकानों पर उमड़ी किसानों की भीड़, लॉक डाउन का हो रहा है उल्लंघन

728x90
Spread the news

मिथिलेश कुमार
संवाददाता
मुरलीगंज, मधेपुरा

मुरलीगंज/मधेपुरा/बिहार : कोरोना वायरस से बचाव को लेकर लागू लाॅक डाउन के दौरान प्रखंड क्षेत्र के किसानों को हो रही यूरिया की किल्लत से लोगों में अफरा-तरफ़री का माहौल है, जिस वजह से लॉक डाउन का उल्लंघन करने को लोग मजबूर हैं, ऐसा ही एक नजारा आज मुरलीगंज प्रखण्ड में देखने को मिला, हालांकि इस किल्लत को दूर करने के लिए गुरूवार को बीएओ ने खाद दुकानों की स्टाॅक जांच की। इस दौरान खाद दुकानों पर उमड़ी किसानों की भीड़ को हर हाल में यूरिया उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया। बताया गया कि लगभग सात सौ किसानों को 3 सौ रुपये बोरा के दर से यूरिया उपलब्ध कराया गया है।

यहाँ देखें वीडियो :

बता दें कि पिछले दस दिनों से प्रखंड क्षेत्र के किसानों को अपनी मक्का की फसल बर्बाद होने की चिंता खाए जा रही थी। लेकिन किसानों की परेशानी को समझते हुए बीएओ प्रभूनाथ मांझी ने सभी खाद बीज दुकानदारों से यूरिया उपलब्ध कराने का प्रयास लगातार जारी रखा। जिससे किसानों को हर हाल में उचित मूल्य पर यूरिया उपलब्ध हो सके। खाद दुकानों की स्टाॅक जांच के दौरान कृषि समन्वयक विकास कुमार, मनीष कुमार, कुमार सानू, कृषि सलाहकार रजनीश कुमार, पुलिस पदाधिकारी धनेश्वर मंडल मौजूद थे। जिसके देखरेख में लगभग सात सौ किसानों को ₹300 रूपया प्रति बोरा के दर से यूरिया दिया गया है।

कृषि समन्वयक विकास कुमार ने बताया कि यूरिया शक्तिमान का रेक मधेपुरा पहुंच चुका है। जिसमें मुरलीगंज के किसान विकास केंद्र को 60 मेट्रिक टन की आपूर्ति की गई है। शेष 40 मेट्रिक टन में अन्य खाद दुकानदारों को आपूर्ति की गई है। जिससे खाद की किल्लत बिल्कुल ही खत्म हो जाएगी।


Spread the news