नालंदा : करोना वायरस का मरीज मिलने से प्रशासन में हड़कंप, पूरा गांव सील

728x90
Spread the news

मुर्शीद आलम
नालंदा ब्यूरो
बिहार

नालंदा/बिहार : जिला प्रशासन में उस वक्त हड़कंप मच गया जब जिले के सिलाव प्रखंड के एक गांव में एक विदेशी युवक करोना वायरस पॉजिटिव पाया गया। जिसकी जानकारी मिलते ही प्रशासनिक पदाधिकारी गांव पहुंचकर गांव को सील कर दिया और 60 टीम के द्वारा 3 किलोमीटर के दूरी तक के लोगों की स्क्रीनिंग कि जा रही है ।

जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह ने पूरी तरह एहतियात बरतने की अपील की है। नालंदा में यह दूसरा करोना वायरस पॉजिटिव पाया गया है इससे पहले नगरनौसा में एक व्यक्ति का पॉजिटिव पाया गया था। बताया जाता है कि सिलाव प्रखंड के एक गांव में 20 मार्च को अबू धाबी से अपने गांव पहुंचे थे और युवाख का सैंपल राजगीर रेफरल अस्पताल के आरएमआरआई के द्वारा लिया गया था और जांच के लिए भेजा गया था ।

 इस घटना पर जिला सिविल सर्जन डॉ राम सिंह ने बताया कि 30 लोगों का सैंपल लिया गया था जिसमें 29 व्यक्ति नेगेटिव पाया गया और एक व्यक्ति पॉजिटिव पाया गया। जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह ने बताया कि गांव को पूरी तरह सील कर दिया गया है और 60 टीम बनाकर 3 किलोमीटर के अंदर में आने वाले सभी लोगों की स्क्रीनिंग की जा रही है । वहीं कलेक्टर ने यह भी बताया यह प्रोटोकॉल के हिसाब से सभी कार्य किया जा रहा है, फिलहाल पॉजिटिव पाए गए मरीज को एनएमसीएच पटना भेजा गया है और उनके परिवार वालों को आइसोलेशन वार्ड में रखा जाएगा।

जिलाधिकारी ने बताया की यात्रा के दौरान और मिलने जुलने वाले सभी लोगों की जानकारी प्राप्त की जा रही है। उन्होंने जिले के आम जनता से पूरी तरह सोशल डिस्टेंसिंग को बनाए रखने की अपील की और पूरी सावधानि और सतर्कता बरतने की बात कही। जिलाधिकारी ने मीडिया के माध्यम से सभी जनता से अपील की है के जो भी लोग 15 दिनों के भीतर जिले में आए हैं उसे सोशल डिस्टेंसींग बनाने के ऊपर पूरी तरह सावधानी रखें और एतियात करें। जिले में नोबेल करोना वायरस के बाद हुए लॉक डाउन को लेकर जिला प्रशासन पूरी तरह सतर्क है और लॉक डाउन की पूरी तरह अनुपालन करने की बार-बार अपील कर रही है।


Spread the news