पंजाब : लुधियाना जामा मस्जिद करोना को लेकर सतर्क, विश्व के भले के लिए हुई दुआ

728x90
Spread the news

दहशत ना फैलाए देश की जनता को इस से बचाना ही धर्म है : शाही इमाम पंजाब

मेराज आलम
ब्यूरो-लुधियाना, पंजाब

लुधियाना/पंजाब : आज यहां ऐतिहासिक जामा मस्जिद में जुमे की नमाज से पहले संबोधित करते हुए स्वतंत्रता संग्राम की महान जमात मजलिस अहरार इस्लाम हिंद के राष्ट्रीय अध्यक्ष व शाही इमाम पंजाब मौलाना हबीब उर रहमान सानी लुधियानवी ने कहा कि विश्व भर में आपदा बनकर सामने आए करोना वायरस से हर एक भारतीय को बचाना ही सबसे बड़ा धर्म है। उन्होंने कहा कि इस मुश्किल घड़ी में हम सब को एकजुट होकर इस बीमारी का सामना करना होगा। 

शाही इमाम ने कहा कि पैगंबरे इस्लाम हजऱत मुहम्मद सल्लललाहु अलैहिवसल्लम ने आज से 14 सौ साल पहले हमें ऐसे समय में क्या करना है इसके लिए हिदायतें जारी फरमाई। उन्होंने कहा कि हदीस शरीफ के मुताबिक जो इलाके प्रभावित है वह ना जाएं और ना ही दूसरी जगह का सफर करें जिससे लोग बीमार हो, उनको डाराऐं नहीं, उनको खौफ जदा ना करें, उनकी हिम्मत बढ़ाएं, उनकी मदद करें यही हमारा सबसे बड़ा धर्म है। शाही इमाम ने नमाजियों से निवेदन किया कि वह घर से वजू कर के आइए, फर्ज के बाद सुन्नत नमाज घर पर ही अदा कीजिए, हर जगह सफाई का अच्छा प्रबन्ध किया जाए। 

वर्णनयोग्य है कि करोना वायरस को लेकर जहां पंजाब सरकार सर्कत है, वहीं आज पंजाब के दीनी  मरकज जामा मस्जिद लुधियाना से भी इसको लेकर अपनी चिंताऐ व्यक्त की गई। शाही इमाम द्वारा एक आदेश जारी करके शहर और प्रदेश में चल रहे सभी मदरसों में छुट्टी का ऐलान कर दिया गया है, सभी मस्जिदों के प्रबंधकों को सफाई व्यवस्था और नमाजियों को सुन्नत नमाज़ घर पर अदा करने की अपील की गई। शाही इमाम ने यह भी स्पष्ट किया कि फर्ज नमाज मस्जिद में ही अदा की जाएगी, लेकिन जो लोग बीमार हैं वह घर पर ही नमाज अदा करें। 

नायब शाही इमाम मौलाना मुहम्मद उस्मान लुधियानवी ने मस्जिद अहरार ब्राउन रोड पर संबोधित करते हुए कहा कि हम एक दूसरे का साथ दें और इस बीमारी को बढऩे से रोके। उन्होंने कहा कि करोना की कोई दवाई नहीं है इससे बचाओ ही इसकी दवाई है। 

मौलाना उस्मान ने कहा कि विश्व भर में आई यह आपदा इंसानों की तरफ से प्रकृति के साथ किए गए खिलवाड़ का नतीजा है, समय है कि तौबा करें और प्रकृति का पालन करें।


Spread the news