दरभंगा : हड़ताली शिक्षको का कोरोना से बचाव के लिए जागरूकता रथ रवाना

728x90
Spread the news

ज़ाहिद अनवर (राजु)
उप संपादक

दरभंगा/बिहार : बिहार राज्य शिक्षक सँघर्ष समन्वय समिति के आह्वान शिक्षको का हड़ताल पर अट्ठाइसवे दिन भी जारी रहा। हड़ताल अवधि में ही कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए समन्वय समिति के द्वारा लिए गए निर्णय के आलोक में रविवार शाम को चार बजे स्थानीय कर्पूरी चौक से कोरोना वायरस से बचाव के लिए हड़ताली शिक्षको द्वारा जागरूकता सह सतर्कता रथ को बिहार राज्य प्रारम्भिक शिक्षक संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष सह जिलाध्यक्ष शम्भू यादव, बिहार राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ गोपगुट के जिला सचिव नंदन सिंह, टीईटी एसटीईटी उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ गोपगुट के जिलाउपाध्यक्ष सोनू मिश्रा में संयुक्त रूप से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

जागरूकता रथ बेंता, लहेरियासराय टॉवर, नाका पांच, नाका छः मिर्जापुर समेत शहर के विभिन्न चौक चौराहों से  होते हुए अल्लपट्टी तक पहुंची। इस अवधि में जगह जगह स्थानीय शहरवासी को कोरोना वायरस के लक्षण और बचाव के तरिके के बारे में बताया गया। साथ ही साथ अफवाहों से दूर रहने की अपील की गईं।मौके पर उपस्थित बिहार राज्य प्रारम्भिक शिक्षक संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष सह जिलाध्यक्ष शम्भू यादव ने जानकारी दी की कल जागरूकता रथ हायाघाट, बहेड़ी, बेनीपुर और बिरौल प्रखण्ड के विभिन्न चौक चौराहों पर गुजरेगी और लोगो को कोरोना वायरस से बचाव और सुरक्षा के प्रति जागरूक करेगी। आगे उन्होंने कहा कि हमारी लड़ाई सरकार से और हम सरकार से अपनी मांगे पुरी होने तक निरन्तर संघर्ष करेंगे और हड़ताल को जारी रखेंगे लेकिन समाज के समक्ष उत्पन्न चुनौती और महामारी का रूप ले रही कोरोना से बचाव के लिए भी भरसक जागरूकता फैलाएंगे तथा समाज के साथ इस विपद घड़ी में साथ खड़े रहेंगे।

वही हम समाज और आम जनमानस का ध्यान भी अपने बाजिब मांगो की पर आकृष्ट करेंगे और बताएंगे कि किस प्रकार से बिहार सरकार कोरोना वायरस से भी खतरनाक नियोजनवाद का दंश उनके भावी पीढ़ी पर थोप रही है।शिक्षको की लड़ाई महज वेतनमान की नही बल्कि समाज के वंचित शोषित वर्ग की भी है इसलिए समाज का सभी तबका शिक्षको की लड़ाई में साथ दे।वही सरकारी अस्पताल की क्या स्तिथि है यह आज किसी से छिपी नही है सरकार उसी तरह से सरकारी विद्यालयों को भी बनाना चाहती है जिससे हम उसे रोकने के लिए लड़ाई लड़ रहे है। हम इसी समाज के अंग है औऱ यह समाज हमे अपने अभिन्न अंग के रूप में देखती है। इसलिए आज इस संकट की घड़ी में हम समाज के साथ खड़े है लेकिन अपने लड़ाई को निरन्तर जारी रखेंगे और जबतक हमारी मांगे पूरी नही होती है हमारा हड़ताल जारी रहेगा।

 बिहार राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ गोपगुट के जिला सचिव नंदन सिंह ने कहा कि सरकार के अंदर तनिक भी सम्वेदना नही बची है और वह वोट बैंक की राजनीती में समाज के बच्चों को धकेल रही है जिससे  हमे समाज को बचाना है। वही टीईटी एसटीईटी उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ गोपगुट के जिला उपाध्यक्ष सोनू मिश्रा एव जिला प्रवक्ता धनंजय झा ने कहा कि समाज के सभी सुख दुख में हम साथ है और हम यह बताना चाहते है कि हमारी लड़ाई सरकार से है न कि समाज से। आगे उन्होंने कहा कि हम नियोजनवाद और कोरोना दोनों को बिहार से भगा कर दम लेंगे। जब जब कोई आपदा आई है हमने समाज के साथ कदम से कदम बढाया है और इसबार भी हम कदम से कदम मिलाकर चलेंगे। हम सरकार से अपील करते है जल्द से जल्द हमारी मांगो को पूरा करे।

मौके पर टीईटी एसटीईटी उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ गोपगुट के जिला प्रवक्ता धनंजय कुमार झा, प्रवीण नायक,अजय यादव, अनिल यादव, शोभाकांत शर्मा,मिथिलेश कुमारी, लक्षमण साफी, मनोज कुमार,प्रदीप कुमार आदि उपस्थित रहे।


Spread the news