पंजाब : लुधियाना शाहीन बाग में तेज आंधी में देश की बेटियों ने संभाला मोर्चा

728x90
Spread the news

विज्ञापन

 भारत की अखंडता को बचाने के लिए काले कानून का विरोध जरूरी : अब्बास राजा

मेराज आलम
ब्यूरो-लुधियाना, पंजाब

लुधियाना/ पंजाब : शाहीन बाग प्रदर्शन के आज 23वें दिन मौसम की खराबी के चलते तेज धूलभरी आंधियों में देश की बेटियों ने मोर्चा संभाल प्रदर्शन जारी रखा। आज शहर की विभिन्न राजनीति व सामाजिक संस्थाओं के कार्यकर्ता ने भी शाहीन बाग में पहुंचकर केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध दर्ज करवाया।

संबोधित करते हुए लुधियाना कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन अब्बास राजा ने कहा कि भारत की एकता और अखंडता को बचाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए काले कानून का विरोध करना जरूरी है।  अब्बास ने कहा कि लुधियाना का शाहीन बाग पंजाब भर के लोगों के लिए आपसी भाईचारे और एकता का प्रतीक बन गया है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार हर कदम पर बुरी तरह फेल होती जा रही है, विकास और रोजगार का मुद्दा गायब कर दिया गया है।

विज्ञापन

         दिल्ली की हिंसा ने देश का सर शर्म से झुका दिया है, देश के गृहमंत्री शरेआम अपनी ही जनता को घुसपैठिया कह कर धमकियां दे रहे हैं जो कि अफसोस की बात है। नायब शाही इमाम मौलाना मुहम्मद उस्मान रहमानी लुधियानवी ने कहा कि हम सभी धर्मों के लोगों को शाहीन बाग में रोजाना सुनते हैं, जिससे हमारे अंदर कौमी एकता और आपसी भाईचारे का जज्बा मजबूत होता है। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने नागरिकता कानून में धर्म की व्याख्या करके जाति और धर्म के नाम पर वोट लेने की अपनी नीति को और मजबूत करना चाहा, लेकिन वह अपने इस कार्य में कामयाब नहीं हो पाऐंगे।

वर्णनयोग है कि आज बहुजन क्रांति मोर्चा लुधियाना के जोगिंदर राय, भारत मुक्ति मोर्चा के जय सिंह, बहुजन समाज पार्टी के जिला प्रधान प्रगण बिलगा, हक की आवाज के सज्जाद आलम, डा. अंबेडकर नवयुवक दल के अध्यक्ष बंसी लाल प्रेमी, अमन वेलफेयर सोसायटी के सनाउल्लाह अंसारी, इंडीयन ब्रदास वेलफेयर सोसाइटी के सरफराज आलम, मजलिस अहरार इस्लाम के शाहनवाज, बाबुल खान, साहित्य कला मंच के गुलाम हसन कैसेर, एलायंस ऑफ सिख ऑर्गेनाइजेशन के परम पाल सिंह, अल फलाह सोसायटी के डॉ. सिराजदीन बाली, आल इंडिया मोमिन कॉन्फ्रैंस के प्रदेश अध्यक्ष प्रधान मुहम्मद नसीम अंसारी, गिल चौक मस्जिद के प्रधान मुहम्मद अल्ताफ, भारती किसान यूनियन मनसा  के बालम सिंह ने भी संबोधित किया।

विज्ञापन

बच्चों ने सुनाएं देश भक्ति के तराने : लुधियाना दाना मंडी में चल रहे शाहीन बाग के आज 23वें दिन उस समय सारे प्रदर्शनकारी ने कौमी एकता जिंदाबाद, भारतवंश जिंदाबाद के नारे लगाए जब जामिया हबीबिया फील्ड गंज चौंक से आए हुए इस्लामी मदरसे के बच्चों ने देशभक्ति के तराने सुनाएं।

छात्र सदरे आलम ने कहा कि (झुकने नहीं देंगे भारत का परचम, काले कानून को तस्लीम नहीं करेंगे हम, हम न डरते है न डराते है, कभी तलवारों और तीर से हम, मदरसा मायापुरी की बिटिया आईशा ने देश भक्ति का तराना सुनाते कहा कि हम है हिन्दुस्तानी, हम है हिन्दुस्तानी सरहद के हर मोड़ पर दी है कुर्बानी, संविधान में जो करते हैं मनमानी, उनकी नहीं चलने देंगे हम है हिन्दुस्तानी। सी.एम.सी. की छात्रा पैगंबरी खातून ने कहा कि खून से हम ने सींचा सदा कौन कहता है भारत हमारा नहीं, कत्ल करदो मेरा यह हमें मंजूर है, छोडऩा मुल्क हम को हरगिज गवारा नहीं।


Spread the news