पंजाब : लुधियाना शहीन बाग पहुंचे डा. अंबेडकर के पड़पोते, कही बड़ी बात

फोटो : प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए राजरतन अम्बेडकर साथ में मुहम्मद उस्मान लुधियानवी।
728x90
Spread the news

विज्ञापन

राज रतन अंबेडकर कहा : गर्व की बात है कि हर भारतीय की नागरिकता बचाने के लिए मुसलमान आंदोलन कर रहे हैं :

मेराज आलम
ब्यूरो-लुधियाना, पंजाब

लुधियाना/पंजाब : गर्व की बात है कि देश के संविधान और हर एक भारतीय के आत्म सम्मान के लिए मुस्लमान सबसे पहले आंदोलन कर रहे हैं। यह बात आज यहां लुधियाना शाहीन बाग के 16वें दिन प्रदर्शनकारियों का हौंसला बढ़ाने के लिए पहुंचे संविधान निर्माता बाबा साहिब डा. बी.आर. अंबेडकर के पड़पोते राज रतन अंबेडकर ने कही।

उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने सी.ए.ए., एन.आर.सी. और एन.पी.आर. की बात लोकसभा में कर सीधा संविधान पर हमला किया है। राज रत्न अंबेडकर ने कहा कि यह आंदोलन किसी धर्म का नहीं है यह बात सबको समझ लेनी चाहिए कि एन.आर.सी., एन.पी.आर. में सिर्फ मुसलमानों का नाम नहीं आने वाला, क्योंकि इस देश में 80 फीसद लोग ऐसे हैं जिनके पास अपने बाप दादाओं का कोई भी प्रमाण पत्र तक नहीं है। मोदी सरकार देश की बहुत बड़ी गिणती को वोट डालने के हक से वंचित करना चाहती है। दिल्ली में सरकारी तौर पर करवाई जा रही हिंसा की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए राज रतन अंबेडकर ने कहा कि दिल्ली पुलिस की कार्यप्रणाली शर्मनाक है वह सीधे तौर पर संविधान की उल्लंघन कर रहे हैं।

रतन अंबेडकर ने कहा कि भारत के हर एक व्यक्ति को चाहिए कि वह शाहीन बाग आंदोलन में शामिल होकर सरकार के खिलाफ आवाज बुलंद करें। उन्होंने कहा कि आज लुधियाना पहुंचने पर जब मालूम हुआ कि यहां भी शाहीन बाग आंदोलन चल रहा है तो में विशेष तौर पर आप तो मिलने पहुंचा हूँ। श्री अंबेडकर ने ऐलान किया कि वह देशभर के दलित समुदाय संविधान को बचाने के लिए शाहीन बाग अंदोलन के साथ खड़ा है। 

फोटो : लुधियाना शाहीन बाग में प्रदर्शन कर रही बहन बेटियों के साथ राज रतन अंबेडकर, मौलाना उस्मान लुधियानवी व अन्य।

संबोधित करते हुए नायब शाही इमाम मौलाना मुहम्मद उस्मान रहमानी लुधियानवी ने राज रत्न अंबेडकर का स्वागत करते हुए कहा कि उनके पड़दादा के साथ मौलाना हबीब उर रहमान लुधियानवी के स्वतंत्रता संग्राम में करीबी संबंध रहे हैं। उन्होंने कहा कि देश की आजादी को बचाने के लिए चल रहे इस आंदोलन में हम सब श्री अंबेडकर के साथ हैं। नायब शाही इमाम ने कहा कि जो शरारती तत्व यह समझते हैं कि वह देश की जनता को या अल्पसंख्यकों को डराएंगे तो यह उनकी बहुत बड़ी भूल है। 

वहीं शाहीन बाग में स. केवल सिंह ने संबोधित किया, श्री दमदमा साहिब के पूर्व जत्थेदार ज्ञानी केवल सिंह लुधियाना शाहीन बाग में विशेष तौर पर पहुंचे। ज्ञानी केवल सिंह ने संबोधित करते हुए कहा कि देश के संविधान को बचाने के लिए किए जा रहे इस संघर्ष में सारा सिक्ख समुदाय आपके साथ हैं। स. केवल सिंह ने कहा कि जो भी लोग दिल्ली में आतंक फैला रहे हैं यह वही लोग हैं जिन्होंने 1984 में सिक्ख भाई-बहनों का कत्लेआम किया था, इन पर निकेल डालना जरूरी है।

विज्ञापन

इस अवसर पर उनके साथ अमृत पाल सिंह विशेष रूप से उपस्थित थे।  शहीन बाग पहुंचने पर शाही इमाम पंजाब के सचिव मुहम्मद मुस्तकीम अहरारी ने ज्ञानी केवल सिंह का आभार जताया।

वर्णनयोग है कि आज विश्वकर्मा कॉलोनी जमालपुर, शक्ति नगर, न्यू शक्ति नगर, गुरु गोबिंद सिंह नगर से से मुहम्मद रब्बानी,मुहम्मद सईद उल, इमामुद्दीन, हाजी नौशाद, मुहम्मद कमरूदीन, हाजी तहसीन, मुहम्मद याकूब, मुहम्मद अहसान, मुहम्मद अजीजुल, मुहम्मद याद अली, मुहम्मद रिजवान की अध्यक्षता में महिलाओं के बड़ी संख्या में काफिले शाहीन बाग लुधियाना पहुंचे। 

इस अवसर पर बसपा के जिला अध्यक्ष प्रगण बिलगा, रजिन्द्र हीर, जसबीर पोल, बलविन्द्र जस्सी, देस राज बिल्गा, रविन्द्र सरोए, नरिन्द्र रल्ल, जसविन्द्र जस्सा, लेखक अभय सिंह, कारी मंसूर, धर्मजीत सिंह, गुरबिंदर सिंह, सज्जाद आलम, अरशद अहमद ने भी संबोधित किया।


Spread the news