नालंदा : नागरिकता कानून के विरोध में जन अधिकार पार्टी ने बिहारशरीफ के हॉस्पिटल मोड़ पर दिया धरना

728x90
Spread the news

विज्ञापन
मुर्शीद आलम
नालंदा ब्यूरो
बिहार

नालंदा/बिहार : जिला मुख्यालय बिहारशरीफ में जन अधिकार पार्टी द्वारा बिहारशरीफ के हॉस्पिटल मोड़ में काले कानून विरोध में एक दिवसीय धरना हुआ। धरने की अध्यक्षता जन अधिकार पार्टी के जिला अध्यक्ष कनहैया कुमार ने की।
धरना को संबोधित करते हुए कहा कि यह काला कानून संविधान विरोधी एवं राष्ट्र विरोधी है। इस कानून के विरोध में पूरे देश में धरना प्रदर्शन हो रहा है। लेकिन केंद्र सरकार खामोश होकर तमाशा देख रही है। जो देश और संविधान के लिए अच्छी बात नहीं है। जन अधिकार युवा के प्रदेश उपाध्यक्ष राजूदानवीर ने सम्बोधित करते हुए कहा कि राष्ट्र की एकता व अखंडता एवं संविधान की रक्षा करना हर नागरिक को की जरूरत है। काले कानून NRC,CAA और NPR लाकर बढ़ती बेरोजगारी, बढ़ती महंगाई जैसे असल मुद्दाओं को भटका रही है एवं इस देश मे नौजवानों के खिलाफ नफरत फैला रही है।

विज्ञापन

 इस दौरान महिलाओं की सुरक्षा को लेकर, बेटियां की सुरक्षा एवं देश मे बढ़ती बेरोजगारी को लेकर भी धरने में सरकार के खिलाफ आवाज़ बुलंद किया गया। जनाधिकार महिला मोर्चा की अध्यक्ष अभिलाषा कुमार ने रसोई गैस की बढ़ती कीमत की कड़ी शब्दों में निंदा करते हुए बढ़ती कीमतों को तुरंत वापस लेने की मांग की, कहा कि सरकार ने देश को पूंजीपतियों के हाथों में गिरवी रखने की साजिश रची है। धरना को सम्बोधित करते हुए छात्र अध्यक्ष राकेश कुमार ने कहा कि शिक्षा की बिगड़ती हालात के कारण ही देश और बिहार में बेरोजगारी चरम पर है, बेरोजगारी को छुपाने के लिए पूरे देश में हिन्दू,मुस्लिम में नफरत फैलाने का माहौल पैदा किया गया है।

धरना को संबोधित करने वालों में बबलू यादव, शहज़ाद आबेदीन, मुकेश पासवान,ई विनोद कुमार,युवा शक्ति नेता शेखर यादव,सुरेंद्र यादव,रंजन यादव,छात्र नेता विक्रम गुप्ता राकेश कुमार,सरफ़राज़ खान,इकबाल  उज़ ज़फ़र थे। इस अवसर पर सैकड़ों लोग मौजूद थे।


Spread the news