मधेपुरा : स्वतंत्रता शब्द को सही मायने में आत्मसात करने की आवश्यकता-डीएम नवदीप शुक्ला  

728x90
Spread the news

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : मधेपुरा की इस पावन भूमि के उन सभी स्वतंत्र सेनानियों को श्रद्धा सुमन अर्पित करता हूं जिन्होंने राष्ट्र की स्वतंत्रता आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। साथ ही उन महानुभावों को भी नमन करता हूं जिन्होंने सार्थक प्रयासों के कारण भारत में गनराज्य की स्थापना हुई।

फलस्वरुप हम सभी आज गणतंत्र दिवस मना रहे। 26 जनवरी का दिन हमारी स्वाधीनता के लिए एक अत्यंत महत्व एवं हर्ष का दिन है।  26 जनवरी 1930 को रावी नदी के तट पर जवाहरलाल नेहरू की अध्यक्षता में पूर्ण स्वतंत्रता प्राप्ति का प्रस्ताव कांग्रेस अधिवेशन में पास हुआ, इसलिए इस ऐतिहासिक निर्णय की याद को ताजा करने के उद्देश्य गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है।  इसी दिन हम भारत के लोगों ने आदर्श तथा साहस का शानदार प्रदर्शन करते हुए सभी नागरिकों को न्याय, स्वतंत्रता तथा समानता प्रदान करने के लिए स्वयं को एक संप्रभुता, संपन्न, लोकतांत्रिक, गणराज्य सौंपा था।  दुनिया के तमाम देशों के संविधान की अच्छाई हमारे संविधान में समाहित है।  हम सभी को संविधान में निहित तत्वों एवं आदर्शों का अनुसरण करना चाहिए एवं राष्ट्र की एकता तथा अखंडता को अक्षुण्ण रखने के लिए कृत संकल्पित होकर अपने कर्तव्यों एवं दायित्वों का निर्वहन करना चाहिए।  

देखें वीडियो :

उक्त बातें बीएन मंडल स्टेडियम में रविवार को गणतंत्र दिवस के अवसर पर झंडोत्तोलन के दौरान जिला पदाधिकारी नवदीप शुक्ला ने कही।

स्वतंत्रता शब्द को सही मायने में आत्मसात करने की आवश्यकता : डीएम नवदीप शुक्ला ने कहा कि गणतंत्र दिवस के अवसर पर स्वतंत्रता शब्द को सही मायने में आत्मसात करने की आवश्यकता है। गणतंत्र अपने साथ जिम्मेदारियां भी लाती है। अपने कर्तव्य का बोध भी कराती है। हमें विचार करने का समय आ गया है कि कहीं किसी एक नागरिक की स्वतंत्रता किसी दूसरे नागरिक की परेशानी तो नहीं बन रही है। किसी भी समस्या का समाधान हिंसा या और प्रजातांत्रिक तरीका नहीं हो सकता है। 26 जनवरी का पावन पर्व आज भी हर दिल में राष्ट्रीय भावना की मशाल प्रज्वलित कर रहा है। लहराता हुआ तिरंगा रोम रोम में जोश का संचार कर रहा है। चहुंओर खुशियों की सौगात है. किसी ने सही ही कहा है कण-कण में सोया शहीद, पत्थर पत्थर इतिहास है। उन्होंने कहा कि  इतिहास इस बात का साक्षी रहा है कि जब जब हमारे देश की एकता एवं अखंडता खतरे में पड़ी है राष्ट्र भक्तों ने अपने शौर्य एवं पराक्रम से दुश्मनों के हौसले पस्त किए और अपने प्राण की आहुति देकर भारत माता की अस्मिता एवं राष्ट्र के गौरव को बचाए रखा।

मधेपुरा महान देशभक्त महापुरुषों की जन्म भूमि एवं कर्मभूमि : जिला पदाधिकारी नवदीप शुक्ला ने कहा कि मधेपुरा जिला भूपेंद्र नारायण मंडल, शिव नंदन प्रसाद मंडल, कमलेश्वरी प्रसाद मंडल, शहीद वाजा साह एवं शहीद चूल्हाय यादव जैसे महान देशभक्त महापुरुषों की जन्म भूमि एवं कर्मभूमि रहा है। वे जिला के गौरव हैं। इन्हें हम सभी नमन करते हैं।

इससे पहले बिहार गृह रक्षा वाहिनी, बिहार होम गार्ड के जवान एवं एनसीसी कैडेट व स्कॉउट गाइड के छात्र – छात्राएं ने मैदान में पैरेड की सलामी देकर गणतंत्र दिवस के जश्न को दोगुणा कर। मौके पर परेड वाहन से डीएम नवदीप शुक्ला एवं एसपी संजय कुमार ने परेड निरीक्षण किया। 71 वें गणतंत्र दिवस के मौके पर डीएम ने बीएन मंडल स्टेडियम में राष्ट्रध्वज को फहराया एवं तिरंगे को सलामी दी. मौके पर संगीत शिक्षिका शशिप्रभा जायसवाल के नेतृत्व में छात्राओं ने राष्ट्र गान की प्रस्तुति दी।

स्वतंत्रता सेनानी, खिलाड़ी एवं विद्यालय हुए सम्मानित : झंडा तोलन के बाद मंच पर उपस्थित डीएम एसपी समेत अन्य अतिथियों ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर स्वतंत्रा सेनानि को शॉल ओढा कर सम्मानित किया। 26 जनवरी के शुभ अवसर पर शहर में प्रभात फेरी का आयोजन किया गया। जिसमें प्रथम द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले सरकारी एवं गैर-सरकारी विद्यालय को जिलाधिकारी नवदीप शुक्ला प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया। वहीं असम के गुवाहाटी में आयोजित खेलो इंडिया में तृतीय स्थान प्राप्त करने वाली मधेपुरा के कबड्डी की खिलाड़ी सुनिती कुमारी एवं छत्तीसगढ़ में 65 वें राष्ट्रीय स्कूली कबड्डी प्रतियोगिता में बिहार का प्रतिनिधित्व करने वाले विनेश कुमार, रेजी कुमारी एवं रेखा कुमारी को सम्मानित किया। जिसके बाद जिले के सभी विभागों एवं निजी विद्यालयों और संस्थानों द्वारा एक से बढ़कर एक झांकी प्रस्तुत की गई।

 मौके पर एडीएम उपेंद्र कुमार, एडीएम शिव कुमार शैव, डीडीसी विनोद प्रसाद सिंह, सदर एसडीएम वृंदा लाल, सदर एसडीपीओ वसी अहमद, डीइओ उग्रेश प्रसाद मंडल, जिला परिषद अध्यक्ष मंजू देवी, पूर्व विधायक ओम बााबू, जिला कबड्डी संघ सचिव अरुण कुमार सहित शहर के प्रबुद्धजन मौजूद थे। कार्यक्रम का मंच संचालन जय कृष्ण यादव ने किया।

जिला प्रशासन ने प्रांगण रंगमंच के कलाकारों को किया सम्मानित : बीएन मंडल स्टेडियम में जिला प्रशासन द्वारा प्रांगण रंगमंच से जुड़े कलाकारों को सम्मानित किया। सांस्कृतिक क्षेत्र में बेहतर काम करने वाले 15 कलाकारों को जिला प्रशासन के द्वारा मेडल पहना कर सम्मानित किया गया. जानकारी देते हुए अध्यक्ष डा संजय कुमार परमार ने बताया कि यह सभी कलाकार भारत सरकार के कला संस्कृति एवं युवा विभाग एवं उत्तर प्रदेश सरकार के संयुक्त तत्वाधान में लखनऊ में आयोजित 23 वें राष्ट्रीय उत्सव में राष्ट्रीय कला मंच की ओर से भाग लेकर राज्य एवं जिला का प्रतिनिधि कर राष्ट्रीय फलक पर अपनी पहचान बनाए थी। जिला प्रशासन द्वारा सम्मानित होने वाले कलाकारों में अमित आनंद, सुनीत साना, आशीष कुमार सत्यार्थी, शिवानी अग्रवाल, गरिमा उर्विशा, शिखा अग्रवाल, शिवांगी गुप्ता, शशिभूषण कुमार, नीरज कुमार, संतोष कुमार राजा, बिपत कुमार, विद्यांशु कुमार, अक्षय कुमार, अब्‍यम ओनू, लिजा मान्या, दिलखुश कुमार शामिल थे।

सरकारी एवं गैर सरकारी संस्थानों में हुआ झंडोत्तोलन : स्वतंत्रा दिवस के अवसर पर न्यायालय परिसर में जिला जज मनमोहन लाल शरण ने तिरंगे को सलामी दी। वहीं समाहरणालय परिसर में डीएम नवदीप शुक्ला, डीआरडीए परिसर में उप विकास आयुक्त विनोद प्रसाद सिंह, अनुमंडल कार्यालय में सदर एसडीएम वृंदा लाल, जिला परिषद कार्यालय में जिप अध्यक्ष मंजू देवी, नगर परिषद कार्यालय में नगर परिषद अध्यक्ष सुधा यादव, होमगार्ड कार्यालय मधेपुरा में पुलिस अधीक्षक संजय कुमार झंडोत्तोलन करेंगे वहीं आरक्षी केंद्र सिंहेश्वर में जिले के पुलिस कप्तान संजय कुमार, जवाहर नवोदय विद्यालय सिंहेश्वर में डीएम नवदीप शुक्ला, डीएसपी आवास पर डीएसपी वसी अहमद, जिला मुख्यालय स्थित केंद्रीय पुस्तकालय में जिला शिक्षा पदाधिकारी उग्रेश प्रसाद मंडल, सदर अस्पताल में सिविल सर्जन, सदर थाना में थानाध्यक्ष सुरेश प्रसाद सिंह, सदर प्रखंड कार्यालय में विडियो आर्य गौतम ने झंडे को सलामी दिया। ठाकुर प्रसाद महाविद्यालय में प्राचार्य डा केपी यादव, पार्वती विज्ञान महाविद्यालय में प्राचार्य डा राजीव सिन्हा, भूपेंद्र नारायण मंडल वाणिज्य महाविद्यालय में प्राचार्य डा केएस ओझा, मधेपुरा कॉलेज में प्राचार्य डा अशोक कुमार, राजकीय अंबेडकर कल्याण छात्रावास में छात्रावास अधीक्षक डा जवाहर पासवान ने तिरंगे को सलामी दिया।

निजी विद्यालयों में भी विद्यालय प्रधान ने झंडे को दी सलामी : साथ ही शहर के निजी विद्यालयों एवं निजी संस्थानों में भी तिरंगे को सलामी दी गई। जिसमें हॉली क्रास स्कूल में निदेशिका डा वंदना कुमारी, आरआर ग्रीन फील्ड इंटरनेशनल स्कूल में निदेशक राजेश कुमार राजू, माया विद्या निकेतन में निदेशक चंद्रिका यादव, ब्राइट एंजेल स्कूल में प्रबंधक निक्कू नीरज, दार्जिलिंग पब्लिक स्कूल में निदेशक किशोर कुमार, यूके इंटरनेशनल स्कूल में अध्यक्ष डा उदय कृष्णा, किरण पब्लिक स्कूल में अध्यक्ष किरण प्रकाश, सार्क इंटरनेशल स्कूल के निदेशक अबू जाफ़र भाजपा जिला कार्यालय में जिलाध्यक्ष स्वदेश कुमार तिरंगे को सलामी दिया। वहीं नेहरू युवा केंद्र में स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर जिला युवा समन्वयक अजय कुमार गुप्ता ने झंडोत्तोलन किया। डा एपीजे एपीजे अब्दुल कलाम पार्क में डा भूपेंद्र नारायण मधेपुरी ने राष्ट्रीय ध्वजारोहण किया। वहीं गणतंत्र दिवस के मौके पर जिले में विभिन्न विद्यालयों एवं निजी संस्थानों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया।


Spread the news