बिहार : दरभंगा हुआ शर्मसार, पाँच वर्ष की बच्ची के साथ किया कुकर्म, आरोपी गिरफ्तार

logo
Spread the news

ज़ाहिद अनवर (राजु)
उप संपादक

दरभंगा/बिहार : देश के अलग अलग हिस्सों में बेटियों के साथ घटी घटना को लेकर पूरा देश आक्रोशित है। इसी बीच दरभंगा में भी पांच साल की अबोध बच्ची से बर्बरतापूर्वक बलात्कार किये जाने का मामला सामने आया है। जिससे यहां के लोग भी आक्रोशित है। यद्यपि पुलिस ने रात में ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है और उसका मेडिकल जांच कराकर जेल भेज दिया। वहीं पीड़ित बच्ची का सर्जरी दरभंगा डीएमसीएच के शिशु गैनिक वार्ड में हुआ है। जहां उसकी स्थिति गंभीर बनी हुई है।

मिली जानकारी अनुसार परिजनों ने पीड़ित बच्ची को खून से लथपथ हालत में एक बगीचे से बरामद किया और उसके बाद पुलिस को सूचना दी गयी। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और बच्ची को डीएमसीएच लाया। घटना के संबंध में बताया जाता है कि सदर थाना क्षेत्र के एक गांव में शुक्रवार की शाम ई-रिक्शा ड्राइवर के द्वारा 5 वर्षीय बच्ची के साथ दुष्कर्म करने मामले में दुष्कर्मी को दरभंगा पुलिस ने देर रात ही गिरफ्तार कर लिया। सिटी एसपी योगेंद्र कुमार ने बताया कि दुष्कर्मी सदर थाना क्षेत्र के भगवानपुर गांव का लाल बच्चन सहनी का पुत्र तेतर सहनी है। सिटी एसपी ने बताया कि 5 वर्षीय बच्ची को डीएमसीएच में भर्ती कराया गया है जहां उसका इलाज चल रहा है। डॉक्टर की सलाह पर बच्ची का आॅपरेशन किया गया है।

सिटी एसपी ने बताया कि दुष्कर्मी तेतर सहनी का मेडिकल कराया गया है। वही वैज्ञानिक अनुसंधान के आधार पर भी यह साबित हो रहा है कि तेतर सहनी ने ही बच्ची के साथ दुष्कर्म किया है। उन्होंने ने बताया कि दुष्कर्मी को सजा दिलाने के लिए स्पीडी ट्रायल चलाकर कड़ी सजा दिलवाई जाएगी ताकि समाज में इस तरह की घटना करने की कोई साहस न करे। इस घटना के बाद हर क्षेत्र और तबके से आवाज़ उठना शुरू हो गया है। अखिल भारतीय प्रगतिशील महिला एशोसिएशन (ऐपवा) और भाकपा (माले) ने इलाजरत दुष्कर्म की शिकार पीड़िता से मिलकर गहरी संवेदना व्यक्त किया।

टीम मे शामिल ऐपवा जिला सचिव शनिचरी देवी ने कहा कि पांच साल के बच्ची से दुष्कर्म, हैवानियत का चरम सीमा है। वही भाकपा (माले) जिला कमिटी सदस्य देवेन्द्र कुमार साह ने कहा कि इस राज में कोई सुरक्षित नहीं है। नेताद्वय ने मांग किया कि दुष्कर्म पीड़िता का समुचित इलाज सरकारी स्तर पर करने, प्रशासन त्वरित अनुसन्धान कर दोषी को अविलंब सजा दें। इस तरह की बढ़ती घटना के लिए मोदी सरकार की अराजक माहौल जिम्मेवार है। इसके खिलाफ न्यायपसन्द ताकतों को एकजूट होकर संघर्ष तेज करना वक्त का तकाजा है।

 टीम में खेग्रामस के जिला सचिव कल्याण भारती, ऐपवा जिला अध्यक्ष साधना शर्मा, एक्टू के जिला प्रभारी डॉ० उमेश प्रसाद साह, रानी शर्मा शामिल थे।


Spread the news
advertise