NH-106 & 107 : सूबे के मुखिया नीतीश कुमार की यात्रा से जिले के लोगों में जगी उम्मीद

728x90
Spread the news

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : वर्षों से जर्जर व जानलेवा बन चुकी एनएच 106 व 107 पर शुक्रवार की शाम में गाड़ियों के काफिले के बीच उड़ती धूल के बीच तारणहार बन पहुंचे सूबे के मुखिया नीतीश कुमार की यात्रा से जिले के लोगों में उम्मीद जगी  है। मानिकपुर से लेकर कार्मस कॉलेज तक सीएम ने स्वयं छह किमी की यात्रा सड़क मार्ग से कर रोजाना की परेशानी को समझने की कोशिश की है। इसके बाद सीएम ने एनएच का स्थल निरीक्षण कर अधिकारियों को सख्त हिदायत देते काम को गति प्रदान करने का निर्देश दिया है।

मधेपुरा मुख्यालय में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का मिनट टू मिनट कार्यक्रम का वीडियो यहाँ देखें :

लगभग 40 मिनट तक चले सीएम के निरीक्षण के दौरान सड़क के दोनों किनारे खड़े लोग खुश नजर आ रहे थे। लोगों का कहना था कि देर से ही सही सीएम ने जन आंदोलन के बाद मधेपुरा की जनता के कष्ट को देखने पहुंच गये है। निरीक्षण के दौरान रास्ते में सीएम की गाड़ी का ब्रेक लगते ही अधिकारी अपनी गाड़ियों से निकल आगे की तरफ दौर पड़ते थे। इस दौरान कार्मस कॉलेज के समीप सीएम ने एनएच 107 पर हो रहे निर्माण कार्य का जायजा लिया। पथ निर्माण विभाग के प्रधान सचिव से विस्तृत जानकारी ली। इसके बाद सीएम समीक्षा बैठक के लिए झल्लु बाबू सभागार में पहुंच गये।

4:45 में पहुंचे सीएम, पुख्ता थी सुरक्षा व्यवस्था : 4:45 बजे सीएम हेलीपेड पहुंचे. आयुक्त कोशी प्रमंडल सहरसा के सैंथिल  कुमार, डीआइजी सुरेश चौधरी, सांसद दिनेश चंद्र यादव, मंत्री डॉ रमेश ऋषिदेव, पूर्व विधायक डॉ अरुण कुमार, जदयू प्रवक्ता निखिल मंडल, जदयू जिलाध्यक्ष बिजेंद्र प्रसाद यादव, भाजपा जिलाध्यक्ष स्वदेश कुमार, डीआईजी, डीएम नवदीप शुक्ला, एसपी संजय कुमार, सदर एसडीएम वृंदा लाल, सदर एसडीपीओ वसी अहमद, सदर प्रखंड विकास पदाधिकारी आर्य गौतम, सदर थानाध्यक्ष प्रशांत कुमार, एडीएम उपेंद्र कुमार, सीओ वीरेंद्र झा, एनडीसी रजनीश कुमार राय, सहित अन्य अधिकारियों ने बुके देकर किया स्वागत किया। जहां से सीएम सीधे सड़कों का जायजा लेने निकल गये। सीएम के रूट में सड़क के दोनो किनारे पर्याप्त संख्या में पुलिस बलो की तैनाती की गयी थी। शहर के कर्पूरी चौक व टी प्वांयट को सीएम के आगमन से लेकर प्रस्थान तक सील कर दिया गया था। सभी प्रकार के वाहनों को उक्त स्थल से दूर रोका गया था।

झल्लु बाबू सभागार में आयोजित हुई समीक्षा बैठक : शुक्रवार को सीएम नीतीश कुमार की अध्यक्षता में जिले के जर्जर व बदहाल एनएच 106 व 107 को दुरूस्त करने को लेकर हो रहे निर्माण कार्य की समीक्षा झल्लू बाबू सभागार में की गयी। इस मौके पर सीएम ने मौजूद अधिकारियों से एनएच को लेकर सवालों की बौछार कर दी. सीएम ने कहा कि तय समय में एनएच निर्माण का कार्य पूरा हो। उन्होंने अधिकारियों को जमीन अधीग्रहण सहित सभी बिंदुओं पर शत प्रतिशत ध्यान देने का निर्देश दिया। सीएम ने कहा कि सड़क विकास का पैमाना होता है. इसे सभी अधिकारी गाठ बांध ले।

भू अर्जन के कार्यों में तेजी लाने के निर्देश : सीएम ने एनएच के दोहरीकरण को लेकर भू अर्जन के काम में तेजी लाने का निर्देश अधिकारियों को दिया है। सीएम द्वारा मधेपुरा से पूर्णिया तक फेज दो के विषय में जानकारी ली गई। जवाब में प्रधान सचिव अमृतलाल मीणा द्वारा बताया गया कि कार्य प्रारंभ हो गया है। वहीं फेज वन के विषय में मुख्यमंत्री द्वारा पृच्छा की गई कि कोई प्रॉब्लम तो नहीं है. जिसके जवाब में प्रधान सचिव द्वारा बताया गया कि कोई प्रॉब्लम नहीं है। कार्य चल रहा है। सीएम द्वारा एनएच 107 के विषय में प्रधान सचिव से कई प्रश्न किये गये. जवाब में प्रधान सचिव द्वारा बताया गया कि फेज वन को 2020 तक बनाने का लक्ष्य रखा गया है। इसके अलावा सहरसा से मधेपुरा वाली एनएच 107 सड़क के विषय में मुख्यमंत्री द्वारा पूछने पर प्रधान सचिव द्वारा बताया गया कि गड्ढे भर दिए गए हैं। सड़क को मोटरेबल बना दिए गए हैं। इस रूट में एनएच 107 के कार्य भी शीघ्र प्रारंभ किये जायेंगे। इसके अलावा 31 किलोमीटर के साईफान के भू अर्जन के विषय में पृच्छा पर बताया गया कि भू अर्जन हो चुका है।

एनएच 106 की प्रगति का लिया जायजा : एनएच 106 के विषय में पूछने पर प्रधान सचिव ने सीएम को बताया कि एनएच 106 के निर्माण का जिम्मा 2016 में आइएलएफएस कंपनी को दिया गया था। 15 किलोमीटर बनाने के बाद कंपनी की वित्तीय स्थिति खराब होने से कार्य बंद हो गया। जिसके बाद पुनः मंत्रालय के आदेश से कंपनी को कार्य दिया गया।शीघ्र ही अच्छी प्रगति देखी गई।

मधेपुरा : विधायक की माँ को श्रद्धांजलि देने मधुबन पहुंचे मुख्यमंत्री :

 बैठक में जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा, लघु जल संसाधन मंत्री नरेंद्र नारायण यादव, अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति मंत्री डॉ रमेश ऋषिदेव, सांसद दिनेश चंद्र यादव, प्रधान सचिव अमृत लाल मीणा, आयुक्त कोशी प्रमंडल सहरसा के सैंथिल  कुमार, डीआईजी सुरेश प्रसाद चौधरी, जिलाधिकारी नवदीप शुक्ला, पुलिस अधीक्षक संजय कुमार, डीपीआरओ रजनीश कुमार राय सहित अन्य विभागों के पदाधिकारी मौजूद थे।


Spread the news