मुजफ्फरपुर :   “जिला प्रशासन आपके द्वार” कार्यक्रम के तहत डीएम ने की बैठक

Spread the news

अंजुम शहाब
ब्यूरो
मुजफ्फरपुर

मुजफ्फरपुर/बिहार :   “जिला प्रशासन आपके द्वार” कार्यक्रम के तहत कटरा प्रखंड मुख्यालय के सभागार में कटरा,औराई,बोचहां और गायघाट प्रखंड से सबंधित मुख्यतः प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण,शौचालय निर्माण से सम्बंधित इन्सेंटिव पेमेंट और जिओ टैगिंग,राजस्व और  आईसीडीएस की समीक्षा की गई। शौचालय निर्माण से सम्बंधित इन्सेंटिव पेमेंट और जिओ टैगिंग में संतोषजनक प्रगति नही होने पर उक्त प्रखण्डो के सभी बीडीओ की कड़ी फटकार लगी। उनके साथ- साथ जिला समन्वयक और प्रखंड समन्वयक को भी सख्त हिदायत देते हुए निर्देश दिया गया कि एक सप्ताह के अंदर इन्सेंटिव पेमेंट और जिओ टैगिंग में प्रगति लाएं अन्यथा कड़ी कार्रवाई के लिए तैयार रहे।कहा कि कोताही पर सेवामुक्त करने पर भी विचार किया जा सकता है।

डीएम ने निर्देश दिया कि जिला समन्वयक का मुख्यालय अगले 10 दिन तक औराई में रहेगा। 32333  के विरुद्ध 13488(41.73%) लाभुकों के भुगतान के साथ औराई का प्रदर्शन सबसे खराब पाया गया। वही गायघाट के द्वारा 28662 के विरुद्ध  18719 लाभुकों का भुगतान किया गया है जो कि 65.31% है। वही बोचहां 67% और कटरा द्वारा69 प्रतिशत लाभुकों का भुगतान किया गया है। ये वो प्रखण्ड हैं जिनकी उपलब्धि अपेक्षाकृत कम हैं। जबकि बंदरा 94.14% और मुरौल 83.34%के साथ क्रमशः प्रथम एवं दूसरे स्थान पर है। जबकि जिले में भुगतान का प्रतिशत 67 है। वहीऔराई  जिओ टैगिंग में भी 67.24 प्रतिशत के साथ सबसे पीछे चल रहा है। जबकि जिले में कुल 76.17% लाभुकों का जियो टैगिंग किया गया है।वही प्रधानमंत्री आवास योजना में अपेक्षाकृत धीमी प्रगति पर डीएम ने नाराजगी प्रकट की। उन्होंने निदेशक डीआरडीए को सख्त लहजे में  निर्देश दिया कि वे अपने स्तर से मोनेटरिंग करें।

कहा कि लचर प्रदर्शन पर वरीय पदाधिकारियो पर भी जिम्मेदारी तय होगी।वितीय वर्ष 2019-20 में जिले का लक्ष्य 36825 के विरुद्ध 31172 का निबंधन हुआ है 29723 का जिओ टैगिंग किया गया है। कुल 150 आवास पूर्ण है। इसमे भी उक्त चारो प्रखण्डो की स्थिति संतोषजनक नही है। वितीय वर्ष 2016-17एवं 217-18 में जिले में कुल 19433 आवासों का निर्माण किया गया है। बैठक में नल- जल योजना की वार्डवार समीक्षा की गई। डीएम ने निर्देश दिया कि जिन वार्डो में कार्य प्रारंभ नही किया गया है,वहां सोमवार तक कार्य प्रारंभ करें।कार्यपालक अभियंता विद्युत को सख्त निर्देश दिया गया कि नल-जल योजना के तहत विद्युत कनेक्शन देने में विलंब न करें। मीटर लगावें और जले हुए मीटर को शीघ्र दुरुस्त करें। जल जीवन हरियाली के तहत सभी पी०ओ को निर्देश दिया गया कि ली गई सभी योजनाओं को शीघ्र पूरा करें। कार्य मे विलंब होने के कारण चारो प्रखण्डो के पी०ओ को फटकार लगाई गई।डीएम ने  कहा कि कार्य की गुणवत्ता खराब होने पर पी०ओ पर होगी कार्रवाई। वही आईसीडीएस के समीक्षा में शत-प्रतिशत केंद्रो का निरक्षण के निर्देश सभी सीडीपीओ को दिया गया।मातृवंदना योजना,कन्या उत्थान योजना की समीक्षा की गई साथ ही सेविका-सहायिका के चयन की अद्धतन स्थिति से भी डीएम अवगत हुए। उन्होंने सभी सीडीपीओ को चेतावनी दी कि चयन प्रक्रिया में पारदर्शिता रखें। गड़बड़ी पर कार्रवाई तय है।इसके अतिरिक्त राजस्व की भी समीक्षा की गई।

कटरा प्रखंड मुख्यालय में जिलाधिकारी ने पौधारोपण भी किया एवं बेहतर कार्य करनेवाले आवास सहायकों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित भी किया। बैठक में उप विकास आयुक्त उज्ज्वल कुमार सिंह,एडीएम राजस्व-राजेश कुमार,डीआरडीए निदेशक -ज्योति कुमार, डीसीएलआर पूर्वी/पश्चिमी, जिला भूअर्जन पदाधिकारी – मोहम्मद उमैर,जिला आपूर्ति पदाधिकारी महमुद आलम,डीपीआरओ कमल सिंह,उक्त चारो प्रखंड के बीडीओ/सीओ/सीडीपीओ/आवास सहायक/पंचायत सचिव एवं जिलास्तरीय सभी पदाधिकारी उपस्थित थे।


Spread the news
advertise