मधेपुरा :सड़क दुर्घटना देश के लिए गंभीर चुनौती- यहिया सिद्दीकी

Spread the news

आरिफ आलम
वरीय संवाददाता,
चौसा, मधेपुरा

चौसा/मधेपुरा/बिहार : असावधानी सड़क दुर्घटना का सबसे बड़ा कारण है । सतर्कता और नियमानुसार यात्रा करने से सड़क दुर्घटना को टाला जा सकता । इस बाबत व्यापक जागरूकता की आवश्यकता है ।

       उक्त बातें स्थानीय महादेव लाल मध्य विद्यालय के प्रधानाध्यापक सचिन्द्र पासवान ने कही । वे आज शनिवार को विद्यालय में आयोजित सुरक्षित शनिवार कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे । उन्होंने कहा कि समाज को दुर्घटनाओं से बचाने के लिए बच्चों को अभी से जागरूक किया जा रहा है । श्री पासवान ने कहा कि हमें यात्रा के दौरान हेल्मेट, सीटबेल्ट का प्रयोग करना चाहिए ।

        वरीय शिक्षक यहिया सिद्दीकी ने कहा कि सड़क दुर्घटना देश के लिए गंभीर चुनौती है । इससे प्रति वर्ष पांच लाख लोग प्रभावित होते हैं । उन्होंने कहा कि सड़क दुर्घटना में प्रतिवर्ष डेढ लाख लोगों की मौत हो जाती है  और तीन लाख लोग विकलांग हो जाते हैं। फोकल शिक्षिका रीणा कुमारी ने कहा कि सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्ति के लिए पहला घंटा गोल्डन आवर होता है । यदि इसी दौरान प्राथमिक उपचार किया जाए तो दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति को बचाया जा सकता है ।

       ज्ञातव्य हो कि बिहार राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के सौजन्य से प्रत्येक शनिवार को विद्यालयों में सुरक्षित शनिवार कार्यक्रम आयोजित कर विभिन्न आपदा व दुर्घटना से बचाव के लिए बच्चों को जागरूक किया जा रहा है । इस निमित्त आज महादेव लाल मध्य विद्यालय, चौसा में फोकल शिक्षिका रीणा कुमारी ने सड़क दुर्घटना से बचाव की जानकारी दिया ।इस दौरान उन्होंने दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति का प्राथमिक उपचार करने की भी जानकारी दी ।

       मौके पर प्रधानाध्यापक सचिन्द्र पासवान, शिक्षक सत्यप्रकाश भारती, यहिया सिद्दीकी, प्रणव कुमार, राजेश कुमार, फैयाज अहमद, शिक्षिका नुजहत परवीन, रीणा कुमारी, श्वेता कुमारी सहित छात्रगण उपस्थित थे ।


Spread the news
advertise