दरभंगा : तालाबों में बोरिंग के सहारे पानी भरने की मांग, जिलाधिकारी ने दिया आश्वासन

728x90
Spread the news

ज़ाहिद  अनवर (राजु)
उप संपादक

दरभंगा/बिहार : दरभंगा ज़िला में ग्रामीण से लेकर शहरी क्षेत्रों में जलसंकट एक विकराल रूप धारण करता जा रहा है। इससे निपटने के लिए लगातार प्रयास जारी है। इसी गंभीर समस्या को देखते हुए अब सुख गये तालाबों में बोरिंग से पानी भरकर उसे भरने की मांग उठने लगी है। मानवाधिकार संरक्षण प्रतिष्ठान के जिलाध्यक्ष प्रदीप कुमार चौधरी के नेतृत्व में एक शिष्टमंडल जिलाधिकारी से मिला और मांगों से संबंधित ज्ञापन सौंपा।

 ज्ञापन में कहा गया है कि सुखे तालाबों का सर्वेक्षण करा लिया जाय और उसका उराही करायी जाय। साथ ही तालाबों के भिंडा पर बोरिंग गाड़ा जाय, ताकि पानी का दिक्कत सुखाड़ के समय में भी नहीं हो। संस्थान की ओर से कहा गया है कि तालाब में पानी रहने से मछली का भी उत्पादन होगा। साथ ही सुखाड़ में पानी की किल्लत नहीं होगी। वर्तमान में मवेशियों को पानी के लिए काफी कठिनाई हो रही है। उन्होंने तालाबों के अतिक्रमण मुक्त करने की भी मांग की है। संस्थान के अध्यक्ष ने बताया कि जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस एम ने ज्ञापन पर गंभीरता से विचार करते हुए राज्य सरकार को भेजने की बात कही है।

शिष्टमंडल में प्रतिष्ठान के जिला उपाध्यक्ष कृष्ण कुमार मिश्र “प्रभाकर”, तारडीह प्रखंड अध्यक्ष अरुण कुमार झा, अधिवक्ता प्रकाश झा भी शामिल थे।


Spread the news