सबका विश्वास के साथ चलने की बात है तो गिरीराज सिंह को मंत्री मंडल से बर्खास्त करे पीएम मोदी : पप्पू यादव

728x90
Spread the news

अमित कुमार
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : हम उम्मीद करते है कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से की सबका विश्वास का जो धाराना है उसमें गिरीराज सिंह, प्रज्ञा ठाकुर, साक्षी महाराज का जो आचरण और चरित्र है यह सबके विश्वास वाला चरित्र नहीं है। यदि हाथी के तरह खाने और दिखाने वाला दांत हो तो सबके विश्वास के साथ चलने का नारा देने वाला व्यक्ति ही बता सकते है।

देखे वीडियो :-

उपरोक्त बातें पूर्व सांसद सह जाप के संरक्षक गुरूवार को जिला मुख्यालय के प्रोफेसर कॉलिनी स्थित जाप नेता ललटु यादव के आवास पर प्रेसवर्ता के दौरान कही। पप्पू यादव ने कहा कि जिस तरीके से लगातार विभिन्न जाति के लोग सभी धर्मों के पर्व में पहुंचते है। हम पूछना चाहेंगे कि बाल्मकी जी की पूजा गिरीराज सिंह क्यों नहीं करते है? और उनका तस्वीर इनके घर में क्यों नहीं है? सबका विश्वास के साथ चलने की बात है तो गिरीराज सिंह को मंत्री मंडल से बर्खास्त करना चाहिए।
लगातार साक्षी महाराज का नफरत फैलाना वाला लगातार बयान और गिरीराज का जो इंसानियत और मानवता को खत्म करने वाला बयान, इन सब बातों को दर्शता है कि वो हिंदुस्तान के संविधान, गीता, रमायाण को नहीं मानतें है। जो संविधान को ही नहीं मानता हो और लोकतंत्र के लिए सबसे ज्यादा भाषा हो जाय उसे मंत्रीमंडल में रहने की जरूरत नहीं है। 

मधेपुरा से अपनी हार पर छलका पप्पू यादव दर्द, कह दी बड़ी बात-देखें वीडियो :-

पुराना जनता दल को जोड़दार तरीके से चलाने की आवश्यकता : उन्होंने कहा कि कर्पूरी ठाकुर और जयप्रकाश को जो जनता दल था वह एक सोच थी, फिर आरजेडी को जिस सोच से लालू यादव इनको चला रहे थे उस पुराना जनता दल को जोड़दार तरीके से चलाने की आवश्यकता है। एक साथ बिना किसी शर्त के कांग्रेस निर्णय ले सकती है कि गांधी परिवार से अलग भी प्रधानमंत्री होंगे, कभी नरसिंम्हा राव, मनमोहन सिंह, कभी सीताराम केसरी तो लालू जी कभी आप भी आरजेडी को कभी उस व्यक्ति के हाथ में देना चाहिए जिसका सम्मान वे स्वयं करते थे, जैसे शिवानंद तिवारी, रघुवंश बाबु समेत अन्य लोग। लालू आरजेडी में जिनका सम्मान किया जाता था उसे वर्तमान आरजेडी में शामिल होने की जरूरत है।

पप्पू यादव ने कहा कि 2020 के चुनाव में बिहार और बिहारी के लिए एक निर्णायक का चुनाव लड़ना चाहते हैं तो लालू यादव को जो दूसरा आरजेडी बन चुका है उस सोच से निकलना होगा या कोई सख्त कदम उठाना होगा। बिहार के सम्मान को ठेस पहुंचा इस सम्मान को वापस दिलाने के लिए ठोस निर्णय की आवश्यकता है।
नीतीश कुमार बिना शर्त के लालू यादव को सपोर्ट करें : पप्पू यादव ने कहा कि नीतीश कुमार को बिना शर्त लालू आरजेडी को समर्थन देने की जरूरत है। अगर नीतीश कुमार सरकार संकट में आती है तो बिना शर्त के लालू यादव की आरजेडी उसे सपोर्ट करें और 2020 का चुनाव बिहार बचाने के साथ साथ 2024 की शुरूआत करनी चाहिए। जिस तरह कांग्रेस अकेले पूरे देश में युद्ध लड़ रही है उसी तरह बिहार में सभी स्वार्थ से उपर उठकर मजबूत देश में विपक्ष और मजबूत नेतृत्व 2024 को मिले इसकी शुरूआत करनी चाहिए। जिसमें बिहार में एक चेहरा नीतीश कुमार है। आजादी के 72 साल के अंतराल में कई प्रधानमंत्री बने है लेकिन बिहार से एक भी प्रधानमंत्री नहीं बनें।


Spread the news