सुपौल में अपराधी बेलगाम, सरेआम बीच सड़क पर मचाया मौत का तांडव, तलाश में जुटी पुलिस

728x90
Spread the news

टीआरटी डेस्क

सुपौल/बिहार : सुपौल जिले मे अपराधियो का हौसला इस कदर बुलंद है की वो सरेआम गोली मारने से नहीं कतराते है, ताजा घटना किसनपुर थाना क्षेत्र के भपटियाही बाज़ार स्थित हॉस्पिटल रोड का है , जहां शुक्रवार की देर रात एक मोबाईल दुकानदार भूपेन्द्र यादव पर उसके दुकान के पास ही अपराधियों ने लगातार 8 गोली मार उसे गंभीर रूप से घायल कर दिया, जख्मी हालत में उसे स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र लाया गया जहाँ प्राथमिकी उपचार के बाद भूपेन्द्र को डॉ ने बेहतर इलाज के लिए डीएमसीएच रेफर कर दिया  । लेकिन DMCH ले जाने के दौरान रास्ते मे ही उसकी मौत हो गयी, जिसके बाद परिजनों का गुस्सा भड़क गया और एनएच 57 फोर लेन को सरायगढ़ बाजार मे जाम कर अपराधी को गिरफ्तार करने की मांग करने लगे । जिसके चलते एनएच पर वाहनों की लंबी कतार लग गयी है, काफी मशक्कत  के बाद पुलिस  आक्रोशित लोगों को समझा बुझा कर जाम तोड़वाया ।

मृतक भूपेन्द्र यादव (28 वर्ष) किसनपुर थाना क्षेत्र के सरायगढ गांव के वार्ड 10 के निवासी था, जो अपना मोबाईल का दुकान चलाता था । मृतक भूपेंद्र का पिता जगदीश यादव ने बताया कि शुक्रवार को शाम करीब 7:30 बजे 5 मोटरसाइकिल सवार 14 से 15 आदमी मेरे दुकान पर आया जहां मेरा पुत्र भूपेंद्र कुमार दुकान के बाहर खड़ा था, सबसे अगला मोटरसाइकिल जो की Apache काले रंग का था जिस पर 3 आदमी सवार था, इस गाड़ी को चंदन कुमार पिता सत्तो मुखिया चला रहा था, लाल कुमार पिता शिव कुमार यादव, दिनेश पासवान पिता महेश पासवान थाना किशनपुर जिला सुपौल के निवासी है, अचानक से हल्ला बोलते हुए तीनों व्यक्तियों ने भूपेंद्र पर अंधाधुन गोली चलाने लगे, इस गोलीबारी में भूपेंद्र को 8 गोली लगी, जिसमें 1 गोली गले पर, छाती में कमर के बीच में और दोनों पांव में भी गोली लगी पूरे शरीर पर गोली का निशान दिख रहा था, और बाकी चार मोटरसाइकिल पर भूमि यादव, भागवत यादव, रविंद्र उर्फ रवि, गोपाल कुमार इत्यादि बैठे हुए थे ।परिजनों ने बताया कि गुरुवार को शाम में भूमि यादव से आपसी लेन-देन में विवाद हुआ था । जिसको लेकर पंचायत भी हुआ लेकिन भूमि यादव पंचायत की बात मानने से इनकार करते हुए पंचों के बीच ही गोली मारने की घमकी दिया था। परिजनों ने बताया कि भूमि यादव को कुछ दिन ट्रेक्टर खरीदने के लिए एक लाख पच्चास हजार रूपये दिये थे जिस रूपये को मांगने पर भूमि यादव देना नहीं चाह रहा था और विवाद करता था। जिसको लेकर किसनपुर थाना में एक लिखित आवेदन दिया गया लेकिन पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की गई।

जाम स्थल पर पहुंचे डीएसपी विद्यासागर ने लोगों को समझाबुझाकर आश्वाशन देते हुए कहा कि  अपराधियों को अविलंब गिरफ्तार कर लिया जाएगा और इस कांड में जितने भी संलिप्त होंगे एक भी बख्से नहीं जाएंगे । डीएसपी के आश्वासन पर स्थानीय ग्रामीणों ने जाम को खत्म किया । डीएसपी ने बताया कि लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हेतु सुपौल सदर अस्पताल भेज दिया गया है ।

जाम स्थल पर इंस्पेक्टर वासुदेव राय, सदर थानाध्यक्ष राजेश कुमार मंडल, महिला थानाध्यक्ष प्रेम लता भूपाश्री, किसनपुर थानाध्यक्ष उदय कुमार, भपटियाही थानाध्यक्ष प्रभाकर भारती, राघोपुर थानाध्यक्ष नागेंद्र कुमार, करजाईन थानाध्यक्ष सरोज कुमार, प्रखण्ड प्रमुख विजय कुमार यादव, बीडीओ अरविंद कुमार, सीओ संंजय कुमार सहित सैकड़ों पुलिस बल मौजूद थे ।

घटना के संबंध में किशनपुर थाना अध्यक्ष उदय कुमार ने बताया कि मृतक के पिता के आवेदन के आधार पर किशनपुर थाना कांड संख्या 87/19 दर्ज कर लिया गया है जिसमें कुल 17 लोगों नामजद अभियुक्त बनाया ।


Spread the news