दरभंगा : कैदियों की समस्याओं को लेकर रू-ब-रू हुए न्यायिक पदाधिकारी, जमानतदार नहीं मिलने से एक कैदी की रिहाई नहीं

728x90
Spread the news

ज़ाहिद अनवर (राजु) / दरभंगा

दरभंगा/बिहार : मंडलकारा दरभंगा में विचाराधीन बंदियों की समस्याओं का विधिक निदान का मार्ग प्रशस्त करने के वास्ते गुरुवार को जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव राजेश कुमार द्विवेदी पहुंचे। श्री द्विवेदी ने अपने साथ पैनल अधिवक्ता गौड़ीशंकर चौधरी, वीणा सिन्हा, संजय कुमार सिंह के साथ जेल पहुंचे।

जेल में मौजूद विधिक स्वयं सेवक अमरेन्द्र यादव से कैदियों की समस्याओं से अवगत हुये। जेल की महिला वार्ड में श्री द्विवेदी और विधिक स्वयं सेवक वीणा सिन्हा ने जाकर महिला विचाराधीन कैदियों की रहन- सहन, मनोरंजन आदि के साधनों का गहराई से मुआयना किया। सबसे दुखद दर्द जमानत पश्चात जमानतदार के अभाव में मंडल कारा से नहीं निकल पा रहे है नेपाली रीतेश रंजन यादव का था। जिन्हें पटना उच्च न्यायालय ने जमानत आदेश तो दिया परन्तु जमानतदार नहीं मिल पाने के कारण जेल से नहीं निकल पा रहे हैं। भारत में न तो सम्बन्धी मिलता है और न तो जमानत बंध पत्र अर्पित हो रहा है।

जिस पर श्री द्विवेदी ने कानूनी सलाह दिया कि याचना उचित माध्यम से माननीय उच्च न्यायालय से करें। वहीं काराधीन विवेक कुमार, राधेश्याम यादव, राज कुमार आदि ने आर्थिक रुप से गरीब होने की दर्द भरी कथा सुनाई। अर्थ के अभाव में जमानत नहीं हो पाने का दर्द झलक रहा था। इसे श्री द्विवेदी ने गंभीरता से लिया और नियमानुकुल मुफ्त में वकील उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया। वहीं जेलर को और कार्यरत विधिक सेवकों के पद पर चयन करने के लिए नाम अनुशंसित करने का निर्देश दिया।


Spread the news