दरभंगा : प्रेशर पॉलिटिक्स या दिल की आवाज़, सिर्फ और सिर्फ कीर्ति झा आज़ाद हो उम्मीदवार

728x90
Spread the news

ज़ाहिद अनवर (राजु) / दरभंगा

दरभंगा/बिहार : दरभंगा जिला कांग्रेस सेवादल के जिला अध्यक्ष डॉ जमाल हसन के द्वारा उनके आवासीय कार्यालय पर दरभंगा लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की उम्मीदवारी को लेकर प्रेस-वार्ता रखा गया।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में पुर्व जिला अध्यक्ष डॉ कमरुल हसन ने कहा कि दरभंगा लोकसभा सीट से कांग्रेस के उम्मीदवार कीर्ति झा आजाद हो और वही दरभंगा लोकसभा से चुनाव जीत सकते हैं। महागठबंधन उन्हें ही यहां से उम्मीदवार बनाए। कांग्रेस सेवादल के जिला अध्यक्ष डॉ जमाल हसन ने कहा कि महागठबंधन सोच समझकर फैसला ले दरभंगा लोकसभा सीट पर।

कहीं उनकी गलती से महागठबंधन को मिथिलांचल में नुकसान ना हो क्योंकि महागठबंधन के 40 सीट में एकलौते ब्राह्मण उम्मीदवार है किर्ति झा आजाद। अगर इन्हें यहाँ से उम्मीदवार नही बनाया जाता है तो जनता में ग़लत संदेश जाएगा। ब्राह्मणों के बीच में विरोधियों को मौका मिल जाएगा। इसलिए हम सभी कांग्रेसियों का मांग है कि किर्ति झा आजाद को दरभंगा लोकसभा से उम्मीदवार बनाया जाए। कांग्रेस नेता अब्दुल हादी सिद्दीकी ने कहा कि दरभंगा लोकसभा सीट पर कुछ कांग्रेस के प्रदेश नेता द्वारा साजिश किया जा रहा है क्योंकि किर्ति झा आजाद के आने से उनका अस्तित्व खतरे में पड़ गया है। दरभंगा की वर्तमान राजनीति काफी दिलचस्प मोर में आ चुकी है।

दरभंगा के कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के साथ साथ बुद्धिजीवी वर्ग का मानना है कि चुनाव में जाति फैक्टर अभी भी हावी है। उस हिसाब से देखा जाए तो कीर्ति झा आज़ाद ब्राह्मणों का वोट दूसरे उम्मीदवार की तुलना में ज़्यादा हासिल करने में कामयाब रहेंगे। कीर्ति झा आज़ाद की उम्मीदवारी पर इसलिए भी भरोसा किया जा सकता है क्योंकि वो यहाँ के सांसद भी रह चुके है। हालांकि अभी उम्मीदवारी को लेकर औपचारिक एलान होना अभी बाकी है। ये भी हो सकता है की महागठबंधन में सहमति नही बनी तो दोनो दल अपना उम्मीदवार उतार सकते है।


Spread the news