मधेपुरा : बिहारीगंज में बेख़ौफ़ अज्ञात अपराधियों का आतंक, डीजे साउंड के शोर में लाखों की चोरी, महिला पर चाक़ू से अंधाधुंन वार,  बेहोश और अर्धनग्न अवस्था में पड़ी मिली महिला, सूचना के बावजूद घटनास्थल पर लगभग 10 घंटे बाद पहुंची पुलिस

728x90
Spread the news

कई जगह चाकू मारकर महिला को किया घायल सिल्लीगोडी में इलाज रत महिला की हालत नाजुक शरीर पर पड़े हैं कुल 32 टांके  परिजनों और ग्रामीणों ने महिला के साथ दुष्कर्म की आशंका जताई  रविवार की देर रात हुई घटना पुलिस दिन के 10 बजे पहुंची घटनास्थल पर  आक्रोशित परिजनों और ग्रामीणों ने प्रशासन के प्रति जताया आक्रोश पुलिस की कार्यशैली पर उठाया सवाल

प्रिंस कुमार मिठ्ठू
संवाददाता
बिहारीगंज, मधेपुरा

बिहारीगंज/मधेपुरा/बिहार : बिहारीगंज थाना अंतर्गत हथिओंधा पंचायत रैन टोला वार्ड सं 10 में रविवार की रात करीब 12 बजे अति पिछड़ा प्रकोष्ठ जिला अध्यक्ष प्रदीप शाह के चाचा शिवचंद्र साह के घर, पीछे के रास्ते से घुसकर हथियारबंद अपराधियों ने  ना सिर्फ लाखों रूपये नगदी के अलावे घर का कीमती सामान लुटा बल्कि घर में  अपने  2 बच्चों के साथ  सोई नीरज कुमार  की पत्नी प्रीति कुमारी पर चाकू से अंधाधुंन वार कर बुरी रतः से जख्मी कर दिया, और जिस अवस्था में महिला पाई गई उससे दुष्कर्म की भी आशंका जताई जा रही है । अपराधियों ने महिला को मरा हुआ समझकर घर के ट्रंक के पीछे लहूलुहान और अर्धनग्न अवस्था में शरीर पर रजाई फेंक कर छोड़ दिया। घर में  चारों तरफ काफी खून बिखरे पड़े हुए थे।

वीडियो :

बताया जाता है कि घर के बगल में पड़ोसी के यहां शादी समारोह था, घर के सभी सदस्य शादी में व्यस्त थे,  शादी में डीजे बजने और शोर-शराबे का फायदा उठाकर अपराधियों ने इस घिनौने घटना को अंजाम दिया। घर के परिजन जब शादी से लौट कर घर आए तब देखा कि दरवाजा टूटा हुआ है और महिला बेहोश अवस्था में लहूलुहान पड़ी हुई है, जिसके बाद आस पड़ोस के लोग भी काफी संख्यां में वहां पहुँच गए।  सभी ने महिला को उठाकर पीएससी पहुंचाया और प्रशासन को सूचना दी गई।  वहीँ  महिला की हालत नाजुक देखते हुए बिहारीगंज पीएचसी प्रभारी ने प्राथमिक उपचार के बाद तत्काल पूर्णिया रेफर कर दिया, हालांकि पूर्णिया से भी महिला को सिलीगुड़ी रेफर कर दिया गया, महिला सिलीगुड़ी अस्पताल में इलाज रत है और महिला की हालात बिल्कुल नाजुक बताई जा रही है।  महिला के परिजन और ग्रामीण, महिला की स्थिति देखने के बाद प्रथम दृष्टया महिला के साथ दुष्कर्म किए जाने की आशंका व्यक्त कर रहे है। वहीँ पीड़ित महिला के साथ दो छोटे-छोटे बच्चे भी सोए हुए थे, घटना के बाद से  दोनों बच्चे इतने डरे सहमे हुए हैं कि वह कुछ भी बताने और बोलने के काबिल नहीं है।

 “ द रिपब्लिकन टाइम्स” से बात करते हुए अत्यंत पिछड़ा प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष प्रदीप शाह ने बताया कि रात के लगभग1 बजे ही हमने थाना अध्यक्ष को फोन कर घटना की जानकारी दे दी थी,  लेकिन दिन के 10 बजे तक घटनास्थल पर एक भी पुलिसकर्मी नहीं पहुंचे है। जदयू जिला अध्यक्ष एवं ग्रामीण ने प्रशासन के खिलाफ आक्रोश व्यक्त  करते हुए बताया कि रात से एक बार भी पुलिस प्रशासन घटनास्थल पर नहीं पहुंची, नाही जख्मी महिला का फर्द बयान लिया गया।  ग्रामीण राजू शाह, अजय कुमार, अनिल कुमार, मुकेश कुमार, मोहम्मद हाशिम, मोहम्मद इमरान, मुन्ना दास, हरिहर साह, विपिन कुमार, गुलाबचंद साह आदि ने प्रशासन के प्रति आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि सुशासन बाबू के इस सरकार में सुशासन कार्यकर्ताओं के घर ही हथियारबंद अपराधी आकर खुलेआम गुंडागर्दी और लूटपाट करता है यह सुशासन सरकार पर एक बहुत बड़ा सवाल खङे करता है।

आक्रोशित लोगों ने कहा कि बिहारीगंज पुलिस प्रशासन बिल्कुल निकम्मा हो चुकी है, रोजाना हत्या, बलात्कार और लूट हो रही है और प्रशासन हाथ पर हाथ धरे बैठी रहती है। बहरहाल इस तरह के घिनौनी घटना से ग्रामीण काफी डरे सहमे हुए से हैं। हालांकि दिन के 12:00 बजे के बाद थानाध्यक्ष बीडी पंडित पुलिस बल के साथ पहुंचे उसके बाद डीएसपी सी पी यादव पहुंचकर घटना का जायजा लिया और त्वरित कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है।


Spread the news