नालंदा : प्रखंड प्रमुख की गिरफ्तारी ने तूल पकड़ा, जेल भिजवाने के पीछे बताया मंत्री का हाथ

728x90
Spread the news

मो0 मुर्शीद आलम
ब्यूरो, नालंदा

नालंदा/बिहार : नीतीश कुमार का गृह जिला के में बेन प्रखंड प्रमुख धनजय कुमार की गिरफ़्तारी कर जेल भेजने की कार्रवाई ने जिला राजनीतिक तूल पकड़ लिया है। एक तरफ राजद के जिला अध्यक्ष ने पुलिस पर सत्तारूढ़ मानियो द्वारा तंग किए जाने का आरोप लगाया । वहीं पुलिस अभिरक्षा में जेल जाने के कर्म में प्रखंड प्रमुख धनजय कुमार ने खुद अपने खिलाफ साजिश के पीछे मंत्री श्रवन कुमार पर हमला बोला और कहा कि मंत्री के इशारे पर मुझे जेल भिजवाया जा रहा है।

नालंदा जिला के बेन प्रखंड प्रमुख व राजद के नेता धनंजय कुमार और सीडीपीओ प्रभा रानी के बीच महज तू – तू मैं- मैं का मामला गंभीर आरोपों के साथ थाना पहुंच गए और दोनों तरफ से पक्ष और विपक्ष के द्वारा थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। सीडीपीओ प्रभा रानी का आरोप है कि हमारे कार्यालय में आकर गाली-गलौज और हंगामा कर सरकारी काम में बाधा डालने की कोशिश की गई, जबकि  दूसरी तरफ धनंजय कुमार ने कहा कि सीडीपीओ द्वारा लगाये गए  सभी आरोप बेवजह बेबुनियाद है। उन्होंने कहा कि जन प्रतिनिधि होने के नाते सीडीपीओ कार्यालय में जाकर प्रभा रानी से सूचना के अधिकार के तहत वार्ड संख्या 4 और वार्ड संख्या 8 एकसारा में सीडीपीओ प्रभा रानी के द्वारा आंगनबाड़ी सेविका की गलत बहाली के बारे में जानकारी प्राप्त करने गए थे। उन्होंने कहा सीडीपीओ प्रभा रानी अनियमितता करके मंत्री श्रवन कुमार के परिवार की बहाली कर दी थी ।

इधर राजद जिला अध्यक्ष हिमायू अख्तर तारीक ने कहा कि बड़े माननीय नहीं चाहते हैं कि कोई छोटा जनप्रतिनिधि आगे बढ़े यह पुलिस प्रशासन भी राजद से जुड़े लोगों को निशाना बनाकर करवाई कर रही है । उन्होंने कहा ब्लॉक प्रमुख भी एक जनप्रतिनिधि है और उस पर लगाए गए आरोप को पुलिस को अच्छी तरह जांच करने के बाद कार्रवाई करनी चाहिए थी उन्होंने कहा कि सरकार की मंशा बिल्कुल साफ हो गई है कि विपक्षी दल को डरा धमका कर और झूठे मुकदमे में फंसा कर भयभीत करने की राजनीति पर काम कर रही है।

दूसरी तरफ ग्रामीण विकास मंत्री श्रवन कुमार का कहना है कि, ना हम तीन जानते हैं ना तेराह, हमको इस घटना से कुछ भी लेना देना नहीं है। अगर कोई सरकारी काम में बाधा डालता है तो कानूनी करवाई की जाती है उससे हमें कुछ लेना देना नहीं है। बेन थाना प्रभारी पिंकी कुमारी ने कहा कि दोनों पक्षों के द्वारा प्राथमिकी दर्ज की गई है और जांच पड़ताल के बाद दोनों पक्षों पर उचित कार्रवाई की जाएगी।


Spread the news