दरभंगा : सरफराज हत्याकांड मामले की जांच को फोरेंसिक टीम पहुंची, फिंगर प्रिंट लिए गए

728x90
Spread the news

अलीनगर सेे मिथिलेश कुमार की रिपोर्ट

अलीनगर/दरभंगा/बिहार : बीते 31 दिसंबर 2018 को सरफराज की मौत धमुआरा पकड़ी मुख्य मार्ग हेतु अंधराघाट स्थित हुमैरा पब्लिक स्कूल के निकट हुई थी। जिसमे मृतक सरफराज के परिजनों का आरोप था कि उसकी मौत एक शाजिश के तहत हत्या के रूप में हुई है। इस को लेकर बेनीपुर डीएसपी उमेश्वर चौधरी के निर्देश पर अलीनगर थाना में 25/18 केस दर्ज किया गया था। वहीं त्वरित कार्रवाई करते हुए पुलिस ने तीन लोगों को हिरासत में लिया था। मृतक के परिजनों के आवेदन के बाद फर्द व्यान में लीलपुर के तीन लोगों को नामजद किया गया था जिसको लेकर पुलिस तब से आज तक मामले की तहकीकात में जुटी हुई है।

वहीं सोमवार को पटना से फॉरेंसिक टीम को भी बुलाया गया जिसमें फोरेंसिक टीम ने शक के आधार पर सात लोगों का फिंगर प्रिंट लिया। जिसमे कुशेश्वर लाल देव पिता हरि किशोर लाल देव उम्र 39 साल, साकिन टिकापट्टी थाना अलीनगर, 2. मो0 सईद पे0 मो0 तालिब उम्र 52 साल साकिन लिलपुर थाना अलीनगर, 3. मो0 रब्बानी पे0 अनवारुल हक उम्र 32 साल साकिन लिलपुर थाना अलीनगर, 4. गुलजार पे0 मो0 असलम उम्र 35 वर्ष साकिन गरौल थाना अलीनगर, 5. मुस्तकीम पे0 नुरमोहम्मद उम्र 28 साल साकिन लिलपुर थाना अलीनगर ,6.अब्दुल करीम पे0 स्व0 ठककन उम्र 78 वर्ष साकिन लिलपुर थाना अलीनगर, 7.मो0 शमीम अहमद पे0 मो0 सलीम उम्र 30 साल साकिन लिलपुर थाना अलीनगर शामिल हैं।

फॉरेंसिक की टीम पहले घटना स्थल का निरक्षण किया उसके बाद मृतक का क्षतिग्रस्त दो पहिया वाहन जो अलीनगर थाना में लगी है उसका भी जांच किया। फॉरेंसिक टीम में फिंगर प्रिंट विशेषज्ञ योगेंद्र प्रसाद व फोटो ब्यूरो विशेषज्ञ दिनेश कुमार सिंह रहें। इसी संदर्भ में पूछने पर फॉरेंसिक टीम ने कहा एक सप्ताह में रिजल्ट आ जाएगा। इसको लेकर बेनीपुर सीएसपी उमेश्वर चौधरी ने सोमवार को प्रेस को बताया कि सरफाज मामले की गुत्थी जल्द ही सुलझा लिया जाएगा। उन्होंने कहा जल्दबाजी नही है पुलिस एक एक बिंदु पर बारीकी से काम कर रही है। आज फॉरेंसिक टीम को भी बुलाया गया है। एक सप्ताह में पुलिस सरफाज के मौत के पीछे की रहष्य को उजागर कर देगी।


Spread the news