साहित्य

हमारा बिहार :  22 मार्च बिहार दिवस के अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार अनूप नारायण की कलम से पढ़िए यह कविता

हम हैं बिहारी, सारे जग में हम भारत की शान, मेहनत अपना दीन धरम है, मेहनत है ईमान||     …

Read More »

जन्मदिवस पर विशेष : बगीचे में आम के टिकोले चुनते हुए सीखे लोकगीत

पटना/बिहार : शारदा सिन्हा का जन्म तब के सहरसा और अब के सुपौल जिले के हुलास गांव के एक समृद्ध …

Read More »

पटना : हिंदी कथाकार रामधारी सिंह दिवाकर को 2018 का प्रतिष्ठित श्रीलाल शुक्ल सम्मान देने की घोषणा

पटना में रहने वाले हिंदी कथाकार रामधारी सिंह दिवाकर को 2018 का प्रतिष्ठित श्रीलाल शुक्ल सम्मान देने की घोषणा हुई …

Read More »

पटना : समर शेष है, नही पाप का भागी केवल व्याध-परिस्थितियाँ वही, ‘दिनकर’, आज और भी प्रासंगिक 

पटना/बिहार :  ‘ढीली करो धनुष की डोरी/ तरकश का कस खोलो/ किसने कहा, युद्ध की वेला चली गई, शांति से बोलो? किसने कहा,और मत वेधो हृदय …

Read More »