मधेपुरा : एमएड चतुर्थ सेमेस्टर जून 2019 की परीक्षा स्थगित, मायूस होकर बैरंग लौटे परीक्षार्थी

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय के एमएड चतुर्थ सेमेस्टर जून 2019 की परीक्षा, जो कि मंगलवार से आयोजित होने वाली थी, वह स्थगित कर दी गई है, छात्र-छात्राओं को भी इसकी जानकारी परीक्षा केंद्र पर आने के बाद मिली, जिसके बाद सभी आक्रोशित छात्र-छात्राएं मामले को लेकर बीएनएमयू कुलपति प्रो डा ज्ञानंजय द्विवेदी से मिले ।

 मालूम हो कि मंगलवार को बीएनएमयू के एमएड चतुर्थ सेमेस्टर जून 2019 की परीक्षा आयोजित होनी थी, सीटीई सहरसा के छात्रों की परीक्षा ठाकुर प्रसाद महाविद्यालय मधेपुरा में आयोजित होनी थी । मंगलवार को पॉलिसी,  इकोनॉमिक्स एंड प्लानिंग की परीक्षा आयोजित होनी थी । वहीं तीन जुलाई को एजुकेशनल मैनेजमेंट एंड एडमिनिस्ट्रेशन की परीक्षा होनी थी، साथ ही सात जुलाई को एजुकेशनल टेक्नोलॉजी एंड आईसीटी की परीक्षा निर्धारित थी । यह परीक्षा 12 बजे से तीन बजे तक होनी थी, इस परीक्षा में लगभग 40 छात्र-छात्राएं सम्मिलित होने वाली थे, सभी छात्र-छात्राएं विश्वविद्यालय द्वारा जारी तिथि एवं समय के अनुसार परीक्षा केंद्र ठाकुर प्रसाद महाविद्यालय पहुंचे, महाविद्यालय पहुंचने के बाद छात्र छात्राओं को महाविद्यालय प्रशासन द्वारा परीक्षा के स्थगित होने की सूचना दी गई ।

पिछले सेमेस्टर के परीक्षाफल के आधार पर जारी किया जाय परीक्षा फल : परीक्षा के स्थगित होने की सूचना मिलने के बाद सभी छात्र-छात्राएं मायूस एवं आक्रोशित हो गये, जिसके बाद सभी छात्र-छात्राएं कुलपति से मिलकर आवेदन सौंपा, मौके पर छात्र-छात्राओं ने कहा कि एमएड सत्र 2017-19 की परीक्षा लंबे समय तक चलने के कारण 30 जून को तीन वर्ष पूरा हो रहा है। उन्होंने कहा कि एमएड कोर्स की निर्धारित अवधि एनसीटीई के रेगुलेशन में अधिकतम तीन वर्ष निर्धारित है। मंगलवार से हम लोगों की परीक्षा आयोजित होने वाली थी, जिसे अचानक स्थगित कर दिया गया। उन्होंने कहा कि कोरोना काल को देखते हुये सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराते हुये परीक्षा को संपन्न कराया जा सकता था, उन्होंने कहा कि जो परीक्षा स्थगित की गई है, अतिशीघ्र आयोजित करवाया जाय, अथवा यूजीसी गाइडलाइन के अनुसार एमएड सत्र 2017-19 के पिछले सेमेस्टर के परीक्षाफल के आधार पर चतुर्थ सेमेस्टर का परीक्षा फल जारी किया जाय।

आक्रोशित छात्र-छात्राओं को कुलपति ने आश्वासन देते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण के खतरों को देखते हुए जिला प्रशासन से प्राप्त सुझावों के आलोक में विश्वविद्यालय प्रशासन के निर्णय के बाद मंगलवार को होने वाली परीक्षा समेत अन्य पत्रों की भी परीक्षा अगले आदेश तक के लिये स्थगित की गई है और दो जुलाई को यूजीसी द्वारा पत्र मिलने के बाद कोई निर्णय लिया जायेगा।

अचानक परीक्षा स्थगित होने से मायूस दिखे परीक्षार्थी : परीक्षा के स्थगित होने से परीक्षार्थी काफी नाराज दिखे परीक्षार्थियों ने कहा कि विश्वविद्यालय द्वारा अचानक परीक्षा स्थगित होने से उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा है। उन्होंने कहा कि कई परीक्षार्थी ऐसे हैं जो बिहार के अन्य जिले समेत अन्य राज्यों के भी परीक्षार्थी परीक्षा देने आए हुये थे। मालूम हो कि एमएड सत्र 2017-19 बीएनएमयू का पहला बैच है, इस बैच में 40 छात्र-छात्राएं नामांकित हैं, साथ ही इन छात्र-छात्राओं में कई छात्र-छात्राएं बिहार के समस्तीपुर, पूर्णिया, हैदराबाद, भागलपुर समेत झारखंड के साहिबगंज के रहने वाले हैं। उन्होंने कहा कि कई छात्र-छात्राएं तो किराया पर कमरा लेकर रह रहे हैं, वहीं कई छात्र-छात्राएं घर से परीक्षा देने आये हुये थे।  दूर दराज से परीक्षा देने पहुंचे छात्र, परीक्षा स्थगित होने की सूचना मिलने के बाद मायूस हो गये।

 मौके पर सिंडिकेट सदस्य गौतम कुमार, समस्तीपुर से मुकेश कुमार राम, निभा कुमारी, पूर्णिया से वीणा, ममता, रूपम, हैदराबाद से ऋचा, झारखंड साहेब गंज से रागिनी समेत बिहार के कई जिलों के छात्र छात्राएं उपस्थित थे।

Check Also

चाइनीज मोबाइल ऐप डिलीट का गाना तेजी से हो रहा है वायरल

🔊 Listen to this पटना/बिहार : भोजपुरी के सुपरस्टार गायक व गुंजन सिंह का गाना …