दरभंगा : थमने का नाम नही ले रहा आशा कार्यकर्ताओं का आंदोलन, निकाला कैंडल मार्च

728x90
Spread the news

ज़ाहिद अनवर (राजु) / दरभंगा

दरभंगा/बिहार : न तो कोई सरकार और न ही सरकारी प्रतिनिधि आन्दोलनकर्मियो से वार्ता के लिए पहल कर रहा है। विदित हो कि आशा संधर्ष मोर्चा के बैनर तले सामुदायिक चिकित्सा केंद्र रनवे- केवटी परिसर में पिछले एक सप्ताह से चल रहे अनिश्चित कालीन हड़ताल 8वें दिन शनिवार को भी जारी रही। शाम में हड़ताली आशा कार्यकर्ताओं ने उमा देवी के नेतृत्व में कैंडिल मार्च निकाला। आशा कार्यकर्ताओ, कुरियरो तथा ममताओं ने अपने 12 सूत्री मांगो के समर्थन मे कैंडिल मार्च सीएचसी से निकालकर केवटी प्रखंड मुख्यालय होते हुए केवटी चौक तक गयी।

इस अवसर पर कुरियर संघ के अध्यक्ष लक्ष्मण कुमार शाही की अध्यक्षता में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए बिहार चिकित्सा एवं जनस्वास्थ्य कर्मचारी संध के जिला अध्यक्ष सह प्रखंड मंत्री रामतपेश्वर यादव ने कहा कि आशा, ममता, कुरियरो को प्रोत्साहन भत्ता पर अब तक सरकार कार्य ले रही है। सरकार की दोहरी नीति अब नहीं चलेगी, जब तक सरकार आशा संधर्ष मोर्चा के 12 सूत्री मांगो को नहीं मानेगी तब तक आंदोलन चलता रहेगा। स्वास्थ्य विभाग के जमीन से जुड़े इन कार्यकर्ताओ को मानदेय नहीं सरकारी सेवक धोषित कर वेतनमान लागू करने सहित अन्य सुविधाओं देना होगा। वहीं उमा देवी ने कहा कि आशा ममता कुरियरो ने काफी समय प्रोत्साहन पर कार्य किया है, अब मंहगाई के समय में मंजूर नहीं है। सरकार को हमारी मांगो पर विचार करते हुए वार्ता कर सरकारी सेवक धोषित कर सभी सुविधाएं बहाल करनी चाहिए।

 सभा को सुनीता देवी, ममता देवी, रेणु देवी, शमशाद हसरत, इसरत प्रवीण, आरती देवी, कृष्णानंद, प्रदीप गुप्ता, मुन्ना कुमार, उर्मिला देवी, विभा देवी, चन्द्रप्रभा देवी सहित दर्जनो लोगों ने संबोधित किया।


Spread the news