समस्तीपुर : आशाकर्मी के आंदोलन के समर्थन में माले का एकजुटता मार्च, आँगनवाड़ी, रसोइया एवं आशाकर्मी को सरकारी सेवक घोषित करे सरकार-सुरेन्द्र

728x90
Spread the news

अब्दुल कादिर
संवाददाता
ताजपुर, समस्तीपुर

ताजपुर /समस्तीपुर/बिहार : आशाकर्मी, रसोईया एवं आँगनवाड़ी सेविका को सरकारी सेवक घोषित करने, तत्काल मानदेय कमसेकम 18 हजार रू० देने, एक हजार जनसंख्या पर एक आशाकर्मी की बहाली करने समेत उनके 12 सूत्री मांगों को लेकर जारी अनिश्चितकालीन हड़ताल के समर्थन में आज भाकपा माले के कार्यकर्ताओं ने अपने हाथों में झंडे, बैनर एवं नारे लिखे तख्तियां हाथों में लेकर बाजार क्षेत्र के नीमचौक टेम्पू स्टैंड से एकजुटता मार्च निकाला, जो मुख्य मार्गों का नारे लगाकर भ्रमण करते हुए रेफरल अस्पताल परिसर पहुँचकर रसोईया के आंदोलन में शामिल हो गया।

मौके पर सभा का आयोजन भी किया गया। संबोधित मो० एजाज, ब्रहमदेव प्रसाद सिंह, राजदेव प्रसाद सिंह, नौशाद तौहीदी, मो० जाकीर, संजीव राय, प्रभात रंजन गुप्ता, मो० सुल्तान, मो० शकीर, एकरामुल खाँ, राँकी खाँ, चाँद बाबू, अजीत कुमार, विनोद कुमार साह आदि के साथ आशाकर्मी ने भी संबोधित किया। अध्यक्षता भाकपा माले प्रखंड सचिव सुरेंद्र प्रसाद सिंह ने किया। उन्होनें सरकार से रसोईया, आँगनवाड़ी सेविका-सहायिका एवं आशाकर्मी के मांगों को अक्षरसः पूरा करने की मांग की साथ ही आंदोलन पर दमन चलाने से सरकार एवं प्रशासन को बाज आने की सलाह दी अन्यथा आंदोलन तेज करने की घोषणा की।


Spread the news