मुजफ्फरपुर : 15 दिसंबर को मनाया जाएगा ”मुजफ्फरपुर,स्वास्थ्य समारोह”, जिलाधिकारी ने बैठक कर दिए कई अहम् दिशा-निर्देश

728x90
Spread the news

अंजुम शहाब
ब्यूरो
मुजफ्फरपुर

मुजफ्फरपुर/बिहार : जिले के सभी पीएचसी और स्वास्थ्य उपकेंद्रों को क्रियाशील बनाया जाएगा और आगामी 15 दिसंबर को ”मुजफ्फरपुर,स्वास्थ्य समारोह” मनाया जाएगा। जिसके मद्देनजर जिले के सभी 83 अतिरिक्त स्वास्थ्य प्राथमिक केंद एवं लगभग 90 प्रतिशत स्वास्थ्य उपकेंद्रों में आवश्यक दवाओं के साथ महत्वपूर्ण उपकरणों की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी, साथ ही उनका रंग रोगन भी किया जाएगा। इसके अलावा सभी केंद्रों में दवाओं, शुद्ध पेय जल, बिजली, के इंतजामात करने और केंद्रों में ए एन सी टेबल, गुलकोमीटर, बी पी इंस्ट्रूमेंट, एग्जामनेशन टेबल, स्टेथोस्कोप तथा अन्य आवश्यक उपकरणों की उपलब्धता सुनिश्चित करने का निर्देश जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग को दिया है। उक्त कार्य 15 दिसंबर तक कर लिया जाना है। 15 दिसंबर को मुजफ्फरपुर स्वास्थ्य समारोह पूरे जिले में सिलिब्रेट किया जाएगा।

उक्त निर्देश जिलाधिकारी ने आज स्वास्थ्य विभाग की समीक्षात्मक बैठक में दी। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ सुदरवर्ती क्षेत्रो में रहने वाले आम आवाम को मयस्सर कराने के मद्देनजर उक्त निर्देश दिया गया है। उन्होंने निर्देश दिया कि सभी केंद्रों में माकूल व्यवस्था सुनिश्चित की जाय । उन्होंने निर्देश दिया कि वैसे केन्द्र जिनकी स्तिथि तय मानकों के अनुरूप नही है उनमें शीघ्र सुधार कर कार्यशील बनाये ताकि गरीब और जरूरतमंदों को स्वास्थ्य सुविधा के लिए भटकना नही पड़े।सभी ए पी एस सी में रोगी कल्याण समिति का गठन करने और उनका एकाउंट खोलने का भी निर्देश दिया गया। बैठक में ए पी एस सी वार समीक्षा की गई तदोपरांत उक्त निर्णय लिया गया।

जिलाधकारी ने निर्देश दिया कि स्वास्थ्य विभाग की संचालित योजनाओं को जन- जन तक प्रचारित करें तथा बेहतर स्वास्थ्य सेवा बहाल करने हेतु जनहित में सतत एवं प्रभावी मॉनिटरिंग की व्यवस्था प्रखंड एवं पंचायत स्तर तक करना सुनिश्चित करें। साथ ही टीकाकरण का शत- प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त करे।

बैठक में टीकाकरण, संस्थागत प्रसव, आउटडोर -इनडोर पेसेंट की स्तिथि, दवा की उपलब्धता, डॉक्टरों की उपस्थिति , टी वी नियंत्रण कार्य आदि की भी समीक्षा की गई। बैठक में सिविल सर्जन,जिला जनसम्पर्क अधिकारी, डी पी एम,WHO के प्रतिनिधि के साथ स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।


Spread the news