मधेपुरा : रास्ता को अतिक्रमण मुक्त कराने की मंत्री से गुहार

728x90
Spread the news

अमित कुमार
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : सिंघेश्वर प्रखंड अंतर्गत वार्ड नंबर 3 के निवासियों ने रास्ता अवरुद्ध करने को लेकर सोमवार को जिला अतिथि गृह में अनुसूचित जाति जनजाति कल्याण विभाग मंत्री डा रमेश ऋषिदेव को आवेदन सौंपा।

मंत्री को दिए गए आवेदन में स्थानीय निवासियों ने कहा कि यह रास्ता अवरुद्ध मामला पिछले कई महीनों से चल रहा है। इस मामले को लेकर उन लोगों ने जिले के सभी अधिकारियों को आवेदन दे चुके हैं। परंतु अब तक समस्या का हल नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि अधिकारियों के द्वारा समस्या का हल नहीं निकाले जाने के कारण स्थानीय सभी ग्रामीण निराश हो गए हैं और अब कोई रास्ता नजर नहीं आ रहा है। उन्होंने मंत्री से निवेदन किया कि जल्द से जल्द रास्ता अवरुद्ध मामले को निपटाया जाए अन्यथा हम सभी ग्रामवासी पांच दिसंबर से धरना प्रदर्शन करने के लिए बाध्य हो जाएंगे।

 ग्रामीणों ने कहा कि रास्ता अवरुद्ध मामले को लेकर अंचलाधिकारी, सिंहेश्वर ने भी अनुमंडल पदाधिकारी मधेपुरा को रास्ता को अवरुद्ध करने से संबंधित पत्र के जांच प्रतिवेदन भेजने को लेकर पत्र लिखा था, जिसमें यह साफ-साफ लिखा गया है कि सिंघेश्वर वार्ड नंबर तीन के कौशल कुमार राम एवं अन्य 20 ग्रामीणों द्वारा रास्ता अवरुद्ध मामले को लेकर आवेदन प्राप्त हुआ है। जिसमें वर्णित बिंदुओं की जांच राजस्व कर्मचारी एवं अंचल अमीन से कराई गई है। जिसमें पाया गया है कि ग्रामीण द्वारा रैयती जमीन होकर आना जाना करते थे, इसके लिए भूमि रैयत गीता देवी से वर्ष 2007 में ग्रामीणों एवं भूमि रयत के बीच रास्ता हेतु एकरारनामा किया गया था। अभी भी भूमि पर रैयत द्वारा एकरारनामा को स्वीकार किया जा रहा है, इसी बीच अनीता देवी अपने डीड चौहद्दी में उल्लेखित पूरब तरफ विक्रेता का लीज भूमि दर्शाने के बावजूद पूरब तरफ शिवजी सिंह से लेकर रास्ता की भूमि में एक तरफ दीवाल खड़ा कर उक्त दोनों डीड की भूमि को एक में मिलाने का प्रयास किया गया है। जबकि अनीता देवी को शिवजी सिंह की जहां भूमि उपलब्ध है, वहां चिन्हित कर लेना चाहिए था। इसी प्रकार रास्ता हेतु वार्ड संख्या तीन के ग्रामीणों एवं पवन कुमार वर्तमान प्रखंड कृषि पदाधिकारी गम्हरिया के बीच एक भूमि विवाद है।

 ग्रामीणों के परेशानियों से अवगत होकर एवं ग्रामीणों को आश्वासन देते हुए मंत्री डा रमेश ऋषिदेव ने तुरंत एसडीओ विंदा लाल से संपर्क कर मामले को जल्द से जल्द निपटाने की बात कही। उन्होंने कहा कि जल्द से जल्द रास्ता अवरुद्ध मामले को लेकर जांच कर एवं उचित कार्रवाई कर रास्ता खाली करवाई जाएगी।

मौके पर सिंघेश्वर वार्ड नंबर तीन निवासी रविंद्र पासी, अजय, महेश साह, कृष्ण कुमार, गणपत सिंह, राम कृष्ण कुमार, हरेराम साह, वीणा देवी, आशा देवी, पुष्पा देवी सहित अन्य लोग उपस्थित थे।


Spread the news