मधेपुरा : रक्तदान महादान है, रक्तदान कई जिंदगियों को बचाता-डा केेपी

728x90
Spread the news

अमित कुमार
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : रक्तदान महादान है, रक्तदान जीवनदान है। हमारे द्वारा किया गया रक्तदान कई जिंदगियों को बचाता है। इस बात का अहसास हमें तब होता है जब हमारा कोई अपना खून के लिए जिंदगी और मौत के बीच जूझता है। उस वक्त हम नींद से जागते हैं और उसे बचाने के लिए खून के इंतजाम की जद्दोजहद करते हैं। रक्तदान शिविर का यह आयोजन भी काफी अहम है। खास तौर पर ऐसे वक्त में जब सदर अस्पताल स्थित ब्लड बैंक में खून की जरूरत पड़ने पर इसके जद्दोजहद करने वाले लोग रोज काफी संख्या में पहुंच रहे हैं, यह शविर काफी महत्वपूर्ण है।

उक्त बातें शनिवार को ठाकुर प्रसाद महाविद्यालय मधेपुरा में एनसीसी पदाधिकारी सह गणित प्राध्यापक गुड्डू कुमार के नेतृत्व में “रक्तदान महादान” शिविर में महाविद्यालय प्राचार्य डा केेपी ने कही। उन्होंने कहा कि अनायास दुर्घटना या बीमारी का शिकार हममें से कोई भी हो सकता है। आज हम सभी शिक्षि‍त व सभ्य समाज के नागरिक हैं, जो केवल अपनी नहीं बल्कि दूसरों की भलाई के लिए भी सोचते हैं, तो क्यों नहीं हम रक्तदान जैसे पुनीत कार्य में अपना सहयोग प्रदान करें और लोगों को जीवनदान दें।

इससे पूर्व कार्यक्रम का शुभारंभ महाविद्यालय प्राचार्य डा केपी यादव, एनसीसी पदाधिकारी गुड्डू कुमार, डा उदय शंकर प्रसाद, डा जवाहर पासवान, एचडीएफसी बैंक के मैनेजर अमित कुमार, सहायक मैनेजर रमेश कुमार, सदर अस्पताल के डा राजकुमार पूरी, डॉ समी तथा महाविद्यालय के अन्य प्राध्यापक के द्वारा सामूहिक रूप से दीप प्रज्वलित कर किया गया।

 इस अवसर पर मौजूद डा उदय शंकर प्रसाद ने कहा कि वैसे तो देशभर में रक्तदान के लिये जागरूक करने का काम नाको, रेडक्रास जैसी कई संस्थाएं कर रही हैं। उनके द्वारा लोगों में रक्तदान के प्रति जागरूकता फैलाने का प्रयास किया जा रहा है, लेकिन मधेपुरा जैसे शहरों में लोगों में रक्तदान के प्रति जागरूकता कम है। इसलिये यहां के ब्लड बैंक में अक्सर रक्त की कमी रहती है।  टीपी कॉलेज की एनसीसी के द्वारा लगाया गया ब्लड डोनेशन कैंप काफी सराहनीय है। ऐसे प्रयास तभी सार्थक होंगे, जब हम स्वयं रक्तदान करने के लिए आगे आएंगे और अपने मित्रों व रिश्तेदारों को भी इस हेतु आगे आने के लिए प्रेरित करेंगे।

सदर अस्पताल के डा राजकुमार पूरी ने बच्चों को रक्तदान के फायदे बताते हुए कहा कि जिस तरह कुऑ से पानी निकाला जाता है तो वह कुऑ ज्यादा स्वच्छ होता है और कुआं से पानी ना निकालने के बाद घुमा सूख जाता है। उसी तरह से यदि आप रक्तदान करते हैं तो आपका शरीर का रक्त भी साफ होगा। वही एनसीसी पदाधिकारी गुड्डू कुमार ने कहा कि रक्तदान से हमारा खून पतला होता है। जो हमें हदय रोग तथा कैंसर जैसी बिमारियों से बचाता है। साथ ही साथ इस रक्तदान के बाद एक आपको एक सर्टिफिकेट दिया जाएगा, ताकी जरुरत पड़ने पर एक साल के अंदर किसी भी ब्लड बैंक से एक यूनिट खून प्राप्त कर सकते हैं. उन्होंने खुद भी रक्तदान किया।

इस महादान कार्यक्रम में गुड्डू कुमार के आलावा छात्र राजकमल, अरुण कुमार, एनसीसी कैडेट अभिषेक राय, राज कुमार, अमित कुमार, रणबीर राठोर, पप्पू कुमार, अशोक कुमार, निशिकांत, रोहित, शुभम, रुपेश ने रक्तदान किया. इस कार्यक्रम को सफल बनाने में अंडर ऑफिसर रितेश राज, आशुतोष कुमार, सौरव कुमार तथा अभिषेक राय महत्वपूर्ण योगदान दिया। एनसीसी पदाधिकारी ने इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए सभी एनसीसी कैडेटों को बधाई दिया।

संवाद सहयोगी :- अमन कुमार 


Spread the news