वैशाली : राज्य सरकार से 5% आरक्षण देने की मांग को लेकर मुस्लिम समुदाय ने निकाला जुलूस

728x90
Spread the news

नसीम रब्बानी
ब्यूरो चीफ
वैशाली

वैशाली/बिहार : बिहार सरकार से शिक्षा एवं रोजगार में 5% आरक्षण तथा समस्याओं के निराकरण के को लेकर मुस्लिम आरक्षण मोर्चा बिहार के द्वारा रामाशीस चौक से लेकर समाहरणालय मैदान तक एक जुलूस निकालकर बिहार सरकार से आरक्षण की मांग की है।
जिला समाहरणालय हजीपुर के  मुख्य द्वार पर बैनर तले बिहार सरकार को चेतावनी दी गई , कि मुसलमानों के साथ हो रहे अन्याय को अब और बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

मुस्लिम आरक्षण मोर्चा के राष्ट्रीय संयोजक नई दिल्ली से पटना आने के क्रम में जदयू सांसद आरसीपी सिंह से बिहार के मुसलमानों के आरक्षण की बात उठाई है ।
राष्ट्रीय संयोजक श्री परवेज ने मुसलमानों के ठेकेदारी वाली पार्टी को ललकारते हुए कहा है, कि जो लोग मुसलमानों के ठेकेदार बन कर बैठे हैं । उनकी ठेकेदारी अब चलने नहीं दी जाएगी।
उन्होंने यह भी कहा है कि मुसलमानों को वोट सिर्फ सत्ता के सिंहासन तक पहुंचाने के लिए किया जाता है। उसके बाद मुसलमानों को दरवाजे से भगा दिया जाता है । इसका मुख्य कारण मुसलमानों में जागरूकता  की कमी है । बिहार में मुसलमान 18% होने के बावजूद मुसलमानों का काम नहीं हो रहा है।
प्रदेश प्रभारी नौशाद अहमद ने कहा है कि, जल्द ही बिहार के हर जिले में इस मोर्चा का गठन करके मुसलमानों को उनका हक दिलाया जाएगा, और इस मोर्चे तले पटना में जल्दी बड़ी रैली का आयोजन किया जाएगा।

उन्होंने प्रदर्शन के माध्यम से जिला पदाधिकारी के माध्यम से बिहार सरकार के मुख्यमंत्री को एक ज्ञापन सोंपते हुए कि मुसलमानों की आर्थिक एवं शैक्षिक बदहाली को देखते हुए, मुसलमानों को मुख्यधारा में लाने के लिए शिक्षा एवं रोजगार में , पांच प्रतिशत(5%)आरक्षण संबंधित बिल, विधानसभा में लाकर तथा कानून बनाकर मुसलमानों को “आरक्षण”  दिलाने की मांग की है ।
इस रैली में मुख्य रूप से वैशाली जिला के मोहम्मद असलम, मैलाना सुलतान रजा कादरी, मोहम्मद बखतीयार, आलम ,मोहम्मद शमशाद, हाजी मोतीउर रहमान, अब्दुल रसीद, मो0 आरीफ सहित, हज़ारों लोग जुलूस एवं प्रदर्शन में शामिल थे।


Spread the news