मधेपुरा : छात्रों पर पुलिसिया अत्याचार बर्दाश्त नहीं- अशोक यादव

728x90
Spread the news

अमित कुमार
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : जन अधिकार छात्र परिषद मधेपुरा के जिला अध्यक्ष रौशन कुमार बिट्टू एवं विश्वविद्यालय अध्यक्ष अमन कुमार रीतेश के संयुक्त अध्यक्षता में आज मंगलवार को मधेपुरा कला भवन के आगे पुलिसिया आत्यचार के विरोध में एक दिवसीय धरना दिया गया। कार्यक्रम का संचालन जिला प्रवक्ता रविन्द्र यादव ने किया ।

मौके पर मौजूद जाप जिला अध्यक्ष प्रो. मोहन मंडल व प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ० अशोक यादव ने कहा कि उदाकिशुनगंज अनुमंडल में DSP के द्वारा हो रहे अन्याय पर जांच कराया जाय।  उन्होंने कहा कि  वहाँ पर छात्र व युवा नेताओं को बेवजह लगातार मुकदमा दायर करने पर रोक लगाई जाय और इस आड़ में हो रही गिरफ्तारी पर रोक लगाई जाय। अब तक हुए मुकदमे को वापस ली जाय। सांसद प्रतिनिधि रामकुमार यादव एवं युवा परिषद जिला अध्यक्ष अनिल अनल ने कहा कि उदाकिशुनगंज में हो रहे अन्याय एवं जुल्म पर रोक लगाई जाय। उन्होंने कहा कि जनसमस्याओं के समाधान पर गंभीरता से विचार किया जाय जो जन अधिकार छात्र नेताओं के द्वारा विगत दिनों उठाया गया है। युवा शक्ति प्रदेश उपाध्यक्ष अंजीर बिहारी एवम शंकपुर प्रखंड अध्यक्ष अब्दुल कलाम ने कहा कि मधेपुरा जिला में बढ़ते अपराध पर लगाम लगा पुलिस -प्रशासन को दुरुस्त किया जाय।


जिला महिला अध्यक्ष नूतन सिंह ने कहा कि रात के साथ -साथ दिन में भी अपराधी घटना बढ़ती जा रही है, जिस पर रोक लगाने की आवश्यकता है। उन्होंने कार्यपालक सहायक में हुई धांधली एवं पुलिसिया जुल्म पर रोक लगाई जाय एवम झूठा मुकदमा वापस लेने की मांग की ।
छात्र संघ विश्वविद्यालय अध्यक्ष  कुमार गौतम एवं जन अधिकार छात्र परिषद जिला प्रधान महासचिव सह मीडिया प्रभारी ई० मुरारी कुमार ने कहा कि आज हमलोगोों के द्वारा  धरना के माध्यम से 8 सूत्री मांग जिला पदाधिकारी  को सौंप गया है ,जो निम्नलिखित है-

उदाकिशुनगंज अनुमंडल में DSP के द्वारा हो रहे अन्याय पर अपने स्तर से जांच कराया जाय, छात्र व युवा नेताओं को बेवजह लगातार मुकदमा दायर करने पर रोक लगाई जाय और इस आड में हो रही गिरफ्तारी पर रोक लगाई जाय, अब तक हुए मुकदमे को वापस लिया जाय, उदाकिशुनगंज में हो रहे अन्याय एवं जुल्म पर रोक लगाई जाय, जनसमस्याओं के समाधान पर गंभीरता से विचार किया जाय जो जन अधिकार छात्र एवम नेताओं के द्वारा विगत दिनों उठाया गया है, मधेपुरा जिला में बढ़ते अपराध पर लगाम लगाने हेतु  पुलिस -प्रशासन को दुरुस्त किया जाय, कार्यपालक सहायक की परीक्षा  में हुई धांधली एवंं पुलिसिया जुल्म पर रोक लगाई जाय एवं झूठा मुकदमा वापस लिया जाय।
छात्र नेताओं ने यह भी कहा कि यदि उनकी मांगे जल्द पूरी नहीं हुई तो मधेपुरा के इतिहास के सबसे बड़े आंदोलन को झेलने को तैयार रहे मधेपुरा प्रशासन।

मौके पर ई० बिमल किशोर गौतम उर्फ ललटू यादव, कार्यालय सचिव देवाशीष पासवान, कार्यालय उपसचिव शैलेंद्र कुमार, प्रेमसागर खुशखुश, रामचंद्र यदुवंशी, दिलीप सम्राट, नीतीश कुमार, विवेक कुमार, उदीश, सुनील, अविनाश कुमार बिट्टू, नगर अध्यक्ष सामंत यादव, जिला प्रवक्ता अजय सिंह यादव, युवा रंजन उर्फ नवीन जी, राहुल यादव, निगम सिंह, ताबिश मेहर, रंजीत कुमार, रणधीर कुमार, मिथिलेश, दीपक यादव, भानु प्रताप, मिथुन यादव, राहुल कुमार, समसुल कुमार, जावेद आलम, संजय कुमार, विकाश, राजा यदुवंशी, विपिन कुमार, नजिस अज़हर, श्याम कुमार, मो०शेख मार्शल, डिम्पल यादव, अभिषेक देव, मो०आलुद्दीन, दीनबंधु कुमार, सतीश कुमार, कुमारखंड युवा परिषद प्रखंड अध्यक्ष राहुल कुमार, सलाम अलखोफ, रोशन अलखोफ, दुर्गा यादव, जितेंद्र यादव, रवि शंकर उर्फ रवि रॉय, मंटू झा,प्रो दयानंद यादव, आदि सैकड़ो कार्यकर्ता मौजूद थे।


Spread the news