मधेपुरा : लौआलगान में राशि की मांग को लेकर छात्रों किया सड़क जाम-तीन घंटे तक फंसे रहे वाहन

728x90
Spread the news

मो. नौशाद आलम
संवाददाता
चौसा, मधेपुरा

चौसा /मधेपुरा/बिहार: प्रखंड अंतर्गत लौआलगान पूर्वी पंचायत स्थित लालजी साह उत्क्रमित उच्च विद्यालय के छात्रों ने राशि की मांग को लेकर शुक्रवार को चौसा-विजय घाट  मुख्य सड़क को जाम कर यातायात व्यवस्था को बाधित कर दिया। लगभग साढ़े तीन घंटे तक सड़क जाम रहने के कारण चौसा से उदाकिशुनगंज और चौसा से भागलपुर  जाने वाले मार्ग में वाहनो की लंबी कतार लग गई। जिसके कारण संबंधित मार्गों पर आवाजाही करने वाले राहगिरों को काफी परेशानीयों का सामान करना पड़ा।

सड़क जाम कर रहे छात्र तीन साल से  छात्रवृत्ति, पोशाक और साईकिल राशि  वितरण नहीं करने का आरोप लगाते हुए प्रधानाध्यापक के खिलाफ स्कूल में जमकर प्रदर्शन भी किया। हालांकि सूचना पर पहुंचे स्थानीय प्रशासन और जनप्रतिनिधियों के अश्ववासन के बाद सड़क जाम और स्कूल में प्रदर्शन कर  रहे  छात्रों ने  मामले को समाप्त कर दिया ।

क्या कहते हैं छात्र

    उक्त बाबत   छात्र अनिल कुमार, अजय कुमार, वक्षराज कुमार, अभिजीत कुमार, अरविंद कुमार, प्रवीण कुमार, जीवन कुमार, दिलखुश कुमार, बबलू कुमार ने कहा कि वे अष्टम और  नवम क्लास से पढा़ई कर अब दशम कक्षा में आ गए हैं,लेकिन अभी तक  उन लोगों को छात्रवृत्ति, पोशाक और साईकिल मद की राशि नहीं दिया गया है। अमर कुमार, प्रिंस कुमार, सूरज कुमार, दीपक कुमार, संतोष कुमार, साजन कुमार, धर्मेंद्र कुमार, मिट्ठू बिहारी, कृष्ण कुमार, सत्यम कुमार, मनीष कुमार ने कहा कि जब वे लोग राशि की मांग करते हैं तो प्रधानाध्यापक टालमटोल कर उन लोगो की मांग को नजर अंदाज कर देते हैं। छात्रो नें आरोप लगाया  कि जब वे लोग मामले की शिकायत वरीय अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों से करने लगते हैं तो स्कूल के शिक्षक उन लोगों को 75 प्रतिशत उपस्थित काट देने की धमकी देने लगते हैं। छात्रों ने कहा कि इसी मामले को लेकर उन लोगों ने पहले भी सड़क जाम किया था। तब जाम हटाने पहुंचे अधिकारियों ने उन लोगों को एक सप्ताह में कार्रवाई करने का आश्वासन देकर जाम समाप्त तो करा दिया था, लेकिन अभी तक किसी भी अधिकारियों ने इस दिशा में सकारात्मक कार्रवाई करना मुनासिब नहीं समझा।

क्या कहते हैं प्रधानाध्यापक

प्रधानाध्यापक मुकेश कुमार

इस संदर्भ में द रिपब्लिकन टाइम्स को प्रधानाध्यापक मुकेश कुमार ने बताया कि विद्यालय में कुल 794 छात्र -छात्राएं नामांकित हैं, जिसमें 396 छात्र- छात्राओं ने 75 प्रतिशत उपस्थिति पूर्ण हुई है। प्रधानाध्यापक ने बताया कि नियमानुसार   75 प्रतिशत उपस्थिति पूरी करने वाले के खाते में राशि भेज दी गई है। शेष बच्चे की उपस्थिति 75 प्रतिशत पूर्ण  नहीं होने के कारण उन्हें लाभ नहीं दिया जा सकता।


Spread the news