मधेपुरा : राजकीय गोपाष्टमी महोत्सव के दूसरे दिन गीत संगीत की सजी महफ़िल, गायकों ने बिखरे नगमों के सुर

728x90
Spread the news

अमित कुमार
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : गोशाला परिसर में रविवार की रात एक बार फिर मधेपुर वासियों ने इतिहास बनते देखा। गौशाला का पूरा परिसर विभिन्न प्रकार के लाइटों से जगमगा रहा था, पूरा परिसर लोगों की भीड़ से भरा पड़ा था, चारों ओर तालियों की गड़गड़ाहट सुनाई पड़ रही थी। जिला मुख्यालय की सभी सड़कें सुनसान थी, क्योंकि लगभग सभी लोग गौशाला परिसर में उपस्थित थे। क्योंकि मधेपुरा में एक साथ राइजिंग स्टार एवं सारेगामापा फेम गायकों की महफिल सजी थी। सर्द भरी ठंड में सभी गायकों की गायकी ने दर्शकों को सारी रात झूमने पर मजबूर कर दिया।

 कला संस्कृति एवं युवा विभाग सह जिला प्रशासन के तत्वावधान में आयोजित चार दिवसीय राजकीय गोपाष्टमी महोत्सव के दूसरे दिन संगीत के दुनियां की नामचीन   ने हजारों की भीड़ को मंत्रमुग्ध कर दिया। महोत्सव के दूसरे दिन के अवसर पर संगीत की सेलीब्रेटी कोलकाता की बजरंगी विश्वास मुंबई की ऋतु श्री सारेगामा फेम संदीप राजवीर राजेंद्र स्टार रूपम राम्या एवं भागलपुर के अंकुश सरीन ने एक से बढ़कर एक नये व पुराने गीत को गाकर दर्शकों को रोमांचित किया।

स्थानीय कलाकारों छोड़ी अमिट छाप

कार्यक्रम की शुरुआत स्थानीय कलाकारों से की गई। जिसमें सर्वप्रथम संगीत शिक्षिका शशिप्रभा जयसवाल के द्वारा गाया गया गीत बिहार गौरव गीत ने बिहार के अतीत और वर्तमान की याद दिला दी। वहीं प्रो अरुण कुमार बच्चन ने तुलसीदास लिखित भजन की प्रस्तुति तथा प्रो रिता कुमारी कि भजन ने लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया, जिसके बाद स्थानीय कलाकारों की एक से बढ़कर एक संगीत तथा नृत्य की प्रस्तुति दी गई, जिसमें कुमारी पुष्प लता गजल सहित मैथिली गीत की प्रस्तुति दी। वहीं शिवाली ने भोर भए पनघट पे, रचना राम जी से पूछे, कृतिका कुमारी आप की नज़रों ने समझा, संजीव कश्यप तनिक डोर पिरितक डोर, तोरा सहर घुमेवो नया नया लोगों ने खूब आनंद उठाया। वहीं प्रांगण रंगमंच के लिज़ा मान्या, सौम्या चौहान, अनुप्रिया, ऋषिका यादव आदि कलाकारों ने देश भक्ति गीतों पर मनमोहक रिकॉर्डिंग डांस प्रस्तुत कर लोगों की खूब तालियां बटोरी। इप्टा के द्वारा दी गई प्रस्तुति कोशी धरती की अपनी शान, कितना कोई करे बखान ने कोशी एवं जिले के इतिहास को लोगों के सामने रखा। मासूम एवं साथी ऐसी लागि लगन डांस, वकील वाका गणेश वंदना पर डांस पर भी दर्शकों ने जमकर आनंद उठाया। स्थानीय कलाकारों का संघट तबले पर संगीत शिक्षक डा रवि रंजन एवं पैड पर संतोष कुमार दे रहे थे।

कार्यक्रम में लगे चार चांद
कार्यक्रम में चार चांद लगाने में ब्लू फायर इंटरटेनमेंट भागलपुर के बबलू के नेतृत्व में कलाकारों की भी दमदार प्रदर्शन रहा। बेस गिटार पर चंदन जी, ऑरगन पर राहुल बर्मन, कॉम्बो पर विदू जी, ढ़ोलक पर राजू जी तथा पैड पर रामबाबू का प्रदर्शन काफी सराहा गया। एंकर की भूमिका में गरिमा यादव एवं भागलपुर के मनोज भारती ने निभायी। कार्यक्रम के अंत में जिला प्रशासन की ओर से सभी कलाकारों को सम्मानित किया गया।

 सम्मानित करने वालों में मुख्य रूप से डीपीआरओ रजनीश कुमार राय, सदर प्रखंड विकास पदाधिकारी आर्य गौतम, सदर अंचल अधिकारी वीरेंद्र झा, संगीत शिक्षक डा रवि रंजन यादव सहित अन्य लोग मौजूद थे।

मेरा कर्मा तू मेरा धर्मा तू……

कार्यक्रम के दूसरे सत्र में राइजिंग स्टार एवं सारेगामापा फेम के कलाकारों द्वारा प्रस्तुति दी गई। जिसमें भागलपुर अंकुश सरीन ने गणेश वंदना देवा श्री गणेशा देवा भव्य प्रस्तुति से उपस्थित सभी दर्शक मंत्रमुग्ध हो गए। वहीं संदेशे आते हैं की प्रस्तुति ने लोगों को देश के सरहद पर तैनात आर्मी की याद दिला दी। उनके द्वारा प्रस्तुत की गई देशभक्ति गीतों के दौरान दर्शक दीर्घा में मौजूद हजारों दर्शकों के बीच भारत माता की जय के नारे लगते रहे। वहीं कोलकाता की बजरंगी विश्वास ने अपनी सुरूली आवाज से गीत मेरा कर्मा तू मेरा धर्मा तू….. गाया. इसके बाद अन्य फिल्मी गीत दिल दे दिया है जान तुम्हें देंगे…… जैसे नये पुराने गीतों की प्रस्तुति दी। इस दौरान हजारों की भीड़ तालियों की गरगराहट से मंच पर उपस्थित कलाकारों का हौसला अफजाई किया।

नैनो ने थारी कैसा जादू किया रे….

प्रसिद्ध गायक मुंबई की ऋतु श्री ने चार दिनों का प्यार ओ रब्बा बड़ी लंबी जुदाई……., मेरे रश्के कमर…….., हीरे मोती मैं ना चाहूं…….. की मनमोहक प्रस्तुति दी। रितु श्री ने अपने नए पुराने गीतों की प्रस्तुति देकर पुराने गायकों की याद दिला दी। इसके बाद सारेगामा फेम संदीप राजवीर की प्रस्तुति एवं उनके हाव-भाव ने लोगों का मन मोह लिया। उनके द्वारा दी गई प्रस्तुति तुम जो मिल गए हो…., हम तेरे बिन अब रह नहीं सकते……., तेरे रश्के कमर……, तुमसे मेरी लगन लगी…….., नैनो ने थारी कैसा जादू किया रे……., सरकी जो सर से जो धीरे-धीरे……, जीने के हैं चार दिन…….., सुन मेरी रानी तुझे ताज घुमा दूंगा……, ऊपर खुदा आसमान नीचे है जहां ना तू आया ना आई खबर…….. की प्रस्तुति ने दर्शकों को झूमने पर विवश कर दिया। संदीप राजवीर ने अपनी दमदार आवाज से दर्शकों को उदित नारायण एवं किशोर कुमार जैसे गायकों की याद दिला दी। संदीप राजवीर दर्शकों के बीच जाकर दर्शकों को भी उनके सुर में सुर मिलाने को मजबूर कर दिया। इसके बाद राइजिंग स्टार रूपम राम्या की गीतों ने भी लोगों को सुर में सुर मिलाने को मजबूर कर दिया। उनके द्वारा दी गई प्रस्तुति दमा दम मस्त कलंदर….., दुनिया में लोगों को धोखा कभी हो जाता है……, लैला मैं लैला ऐसी हूं लैला……, सजना जी रात रात….. की प्रस्तुति ने लोगों के मन मोह लिया। वहीं बजरंगी विश्वास एवं रितु श्री की जुगलबंदी भी लोगों को झूमने को विवश कर दिया। दोनों गीत कारों ने जुगलबंदी के दौरान परदेसिया यह सच है पिया…….., प्यार हमारा अमर रहेगा………, सारे शिकवे गिले भुला के कहो…. जैसे एक से एक बढ़कर गीतों की प्रस्तुति दी। वहीं लोगों के उत्साह को देखते हुए संदीप राजवीर एवं बजरंगी विश्वास की जुगलबंदी ने भी उड़ने लगा क्यों मन बावरा रे……. की प्रस्तुति दी।

सुरक्षा के थे पुख्ता इंतजाम

राजकीय गोपाष्टमी महोत्सव में कलाकारों एवं दर्शकों को किसी तरह की परेशानी ना हो इसके लिए जिला प्रशासन की ओर से पूरी तरह तैयारी की गई थी। मंच तथा दर्शक दीर्घा के चारों और पुलिस बल की तैनाती की गई थी, साथ ही साथ सभी और सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए थे।

कार्यक्रम के दौरान भी सदर एसडीपीओ वशी अहमद, सदर एसडीएम वृंदा लाल, डीपीआरओ रजनीश कुमार राय, सदर प्रखंड विकास पदाधिकारी आर्य गौतम, सदर अंचलाधिकारी वीरेंद्र झा सहित जिले के अन्यय अधिकारी निरीक्षण करते रहे तथा कार्यक्रम में मौजूद अधिकारियों को दिशा-निर्देश देते रहे।


Spread the news