सहरसा : रेलवे ट्रेक के पास से शव बरामद, परिजन जता रहे हैं हत्या की आशंका

728x90
Spread the news

राजा कुमार की रिपोर्ट

सदर थाना क्षेत्र के सुलिन्दाबाद सर्वा ढाला के पास छत- विछत अवस्था में मिला शव

 रेलवे पुलिस शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेजा सदर अस्पताल

मृतक सौरबाजार थाना क्षेत्र के भपटियाही के रहनेवाले विजयकांत झा

मामले की जांच में जुटी पुलिस

सहरसा/बिहार : पैंतालिस वर्षीय विजय कांत झा नामक सख्स का संदेहास्पद स्थिति में सुलिन्दाबाद सर्वा ढाला के पास छत- विछत अवस्था में शव मिलने से पूरे इलाके में जहां सनससी फ़ैल गई तो वहीं मृतक के घर मे कोहराम मच गया।

बताया जाता है कि मृतक सदर पोस्ट ऑफिस में एजेन्ट के पद पर था कार्यरत। कल चार बजे मृतक घर से कहकर निकला था, पोलटेक्निक चौक स्तिथ रमप्रसाद सिंह के घर पैसे का हिसाब करने जा रहे हैं। शाम तक घर नहीं लौटने पर परिजनों ने
सदर थाना में गुमशुदगी का अंदेशा जताया था ।  मृतक सौरबाजार थाना के भपटिया का रहने वाला था,सदर थाना के बम्फर चोक पर रहकर एजेंट का काम करता था । मृतक के परिजन का है कहना किसी ने हत्या कर ट्रेक पर फेंककर आत्म हत्या का रूप देने की कोशिश की है । उधर रेलवे पुलिस और सदर के एसडीपीओ प्रभाकर तिवारी मौके वारदात पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर तफ्तीश में जुट गए है ।
बताते चले कि मृतक देर शाम घर जब वापस नही लौटा तो परिजन ने मोबाइल पर संपर्क करने कि कोशिश की तो मोबाइल का स्विच ऑफ बताया। फिर परिजन ने रात भर मृतक को ढूंढने की कोशिश की लेकिन वह नहीं मिले । जिसके बाद परिजन देर रात थाना में जाकर किसी अनहोनी की आशंका जताये थे। सुबह जब परिजन सदर थाना पहुंचे तो पता चला कि एक शव सदर थाना के सुलिन्दाबाद रेलवे ट्रेक पर मिला है। जब परिजन ट्रेक पर पहुंचे तो होश उड़ गए। छत बिछत हालात में शव ट्रेक पर मिला।

बहरहाल मृतक के परिजन के बयान पर एक को हिरासत में लेकर एसडीपीओ ने खुद इस संदेहास्पद मौत की जांच शुरु कर दी है।

 जाँच में जुटी सदर पुलिस,पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतज़ार

सदर थाना के सुलिन्दाबाद स्थित रेल लाइन पर दो टुकड़ों में मिली लाश देखने से स्पष्ट है कि हत्यारों ने कहीं और हत्या करने के बाद लाश को रेल लाइन पर रख दिया। ताकि इसे दुर्घटना माना जाये। लाश देखने से स्पष्ट होता है कि हत्यारों ने सटाकर उसे गोली मारी है। सर के अगले हिस्सा में छोटा छेद और पिछला भाग में बड़ा छेद है। फिर भी पुलिस का मानना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही इसका खुलासा हो पायेगा।

मालुम हो कि पिछले छह दिनों में शहर में गोली मारकर हत्या किये जाने की यह दूसरी घटना है। इस मामले में सदर पुलिस ने राम प्रसाद और उसके बेटे को पूछताछ के लिये हिरासत में रखा है। ये वही रामप्रसाद है जिसके यहां रविवार को विजय हिसाब करने अपने घर से पैदल गया था और पांच बजे शाम में मोबाइल से अपनी पत्नी को बताया कि उसे हिसाब किताब करने में देरी भी हो सकता है। फिर छह बजे शाम में विजय के मोबाइल से घर दो बार घंटी बजी लेकिन उसके बाद स्विच ऑफ बताया जाने लगा। करीब चार घंटे बाद विजय की पत्नी थाना पहुंची और इसकी जानकारी पुलिस को दी। आईआईटी इंजीनियर बेटा और मेडिकल की छात्रा, बेटी के बाप विजय की जब सोमवार को लाश मिली तो उसके बम्फर चौक स्थित आवास पर कोहराम मच गया।

रेल थाना के प्रभारी इंचार्ज रविन्द्र झा ने इसकी सूचना सदर थाना प्रभारी को दी। रविन्द्र झा का मानना है गोली मारकर हत्या कहीं और करने के बाद लाश को रेल लाइन पर रख दिया। सौर बाजार थाना के भवटिया गांव निवासी तीन भाईयों में सबसे छोटे विजय मिलनसार व्यक्ति था। किसी ने सोचा भी नही था कि उसकी इतनी निर्मम हत्या की जायेगी। इसके पहले बुधवार को दिनदहाड़े अपराधियों ने घर मे घुसकर कारोबारी उमेश साह की हत्या कर दी थी। पुलिस उमेश हत्याकांड को सुलझा भी नही पायी कि एजेंट विजय की हत्या कर दी गयी।


Spread the news