कुमारखंड : डीएम के निर्देश पर घटना की जाँच करने कुमारखंड पीएचसी पहुंची जाँच टीम

728x90
Spread the news

मुजाहिद आलम
संवाददाता
कुमारखंड, मधेपुरा

कुमारखंड/मधेपुरा/बिहार : प्रसव करने आई गर्भवती महिला पार्वती देवी के साथ आए परिजन व देवर दीपक कुमार के द्वारा प्रसव कक्ष का फोटो खींचने के दौरान डाक्टर एवं गार्ड के द्वारा मारपीट करने का मामला को लेकर अस्पताल के सभी कर्मी हड़ताल पर जाने से अस्पताल का सभी कार्य ठप रहा। जिससे मरीजों में अफरातफरी मच गई है। डीएम नवदीप शुक्ला के आदेश पर शनिवार को देर शाम तकरीबन 7 बजे तीन सदस्य जांच टीम सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कुमारखंड पहुंचकर मामले का जांच किया।

जांच टीम में शामिल एसडीएम वृंदा लाल, सिविल सर्जन डॉक्टर शैलेंद्र कुमार एवं एसडीपीओ वशी अहमद ने डॉक्टर वरुण कुमार से घटना के संबंध में विस्तार से जानकारी लेकर ओपीडी कक्ष, एवं प्रसव कक्ष का जायजा लिया। डॉ अरुण कुमार ने टीम को प्रसव कक्ष को दिखाते हुए जांच टीम को बताया कि प्रसूता के साथ आए दीपक कुमार ने यहां आकर फोटो खींच रहा था जब गार्ड द्वारा रोका गया तो मारपीट करने लगे।

मौके पर ही एसडीपीओ वशी अहमद ने थानाध्यक्ष मुकेश कुमार को निर्देश देते हुए कहा कि प्रसव कक्ष के पास पुरुष का प्रवेश वर्जित है। इसलिए बराबर प्रसव कक्ष के आसपास औचक निरीक्षण करें। निरीक्षण के दौरान पुरुष मिलने पर मौके पर ही उन्हें  पकड़कर हाजत में बंद कर दें। जांच टीम को प्रमुख प्रतिनिधि पिंटू यादव, राजद प्रखंड अरुण कुमार एवं जाप नेता मुकेश कुमार अमरनाथ गुप्ता ने प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ वेद प्रकाश गुप्ता पर कई गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि प्रभारी अस्पताल से बराबर गायब रहते हैं । इनके लापरवाही एवं दोष के कारण अस्पताल में प्रसव के परिवार से बगैर राशि के प्रसव नहीं करते है। प्रभारी के लापरवाही के कारण अस्पताल में इलाज कराने आए कई मरीज का मौत भी हो चुका है ।  इसके जवाब में जांच टीम के द्वारा कहा गया कि आप लोग लिखित में आवेदन दें। डीएम के देखरेख में जांच करवाकर दोषी व्यक्ति पर कारवाई  की जाएगी ।

जांच टीम ने प्रसूता पार्वती देवी व सास को अलग में एक कमरे में ले जाकर मामले की जानकारी लिया। प्रसूता के सासु दादी माँ ने बताया कि जब डॉक्टर नहीं थे उस वक्त फोटो खींचा था। डॉ आते ही मेरे पोता के साथ मारपीट कर ने लगे जब हाथ जोड़कर विनती करने के बाद भी नहीं छोड़ा। मेरा पोता निर्दोष हैं। जांच टीम के द्वारा घटना के समय का ड्यूटी चार्ट एवं प्रसव कराने आई गर्भवती महिला के लिस्ट से संबंधित अभिलेख के साथ साथ उपस्थित पंजी तलब कर जांच की गई । जांच टीम ने बारी-बारी से सभी नर्स, ममता दीदी, आशा दीदी, आरोपी गार्ड, डॉ वरूण कुमार से बारकी से पूछताछ की गई।

एसडीएम वृंदा लाल के बताया सभी अस्पताल कर्मी व प्रस्ताव महिला से पूछा गया है, जांच रिपोर्ट डीएम को सौपा कर दोषी पर कार्रवाई की जाएगी, सीएस शैलेंद्र कुमार ने बताया कि सुबह से सभी अस्पताल कर्मी ड्यूटी पर पहुंचकर कार्य करेगे।

एसडीपीओ वसी अहमद ने सभी जनप्रतिनिधियों से कहा यह अस्पताल आप का है, अस्पताल कर्मी का सहयोग कर सुचारू रूप से चलाने में योगदान दे। बहरहाल रात आठ बजे तक जांच टीम जाँच कर निकले।


Spread the news