किशनगंज : आस्था का महापर्व छठ-पुलिस की चाक-चौबंद व्यवस्थाओं के बीच श्रद्धालुओं ने अस्तांचलगामी सूर्य को दिया श्रद्धा पूर्वक अर्घ्य

728x90
Spread the news

शशिकान्त झा
वरीय उप संपादक

किशनगंज/बिहार : आस्था का महापर्व छठ में किशनगंज पुलिस की चाक-चौबंद व्यवस्थाओं के बीच श्रद्धालुओं ने अस्तांचलगामी सूर्य को श्रद्धा पूर्वक अर्घ्य दिया । जहां चप्पे चप्पे पर पुलिस अपनी पैनी नजरें गड़ा रखी थी । जिसकी वजह से मनचलों की एक नहीं चल रही थी ।
जिला प्रशासन द्वारा जिले के सभी छठ घाटों का निरीक्षण और साफ-सफाई की व्यवस्थाओं ने सारे घाटों को स्वच्छता की बेमिशाल सौगातें दे दी थी । जहां छठ पूजा के श्रद्धालुओं ने चैन से संध्या अस्तांचलगामी सूर्य को अपनी उपासना के अर्घ्य को अर्पित किया । जबकि किशनगंज पुलिस ने आमलोगों से अपील करते पटाखेबाजी, अनजान बस्तुओं से परहेज कर पुलिस को सूचना देने सहित भीड़ से परहेज करने एवं अन्य सुरक्षा के लिए सावधान रहने की बातें प्रचारित करा चुकी थी ।

इसके बाद भी “द रिपब्लिकन टाईम्स” की टीम ने पूरे जिले में छठ महापर्व के घाटों का जायजा लिया । जहाँ पुलिसबल सहित दंडाधिकारियों की मौजूदगी में सुरक्षात्मक सभी पहलुओं को महापर्व का मापदंड बना रखा था । किशनगंज आदर्श थाना के थानाध्यक्ष आफताव अहमद के नेतृत्व में सभी पुलिस पदाधिकारियों ने विभिन्न जगहों पर मोर्चा संभाल रखा था । वहीं साईबर सेल प्रभारी सुमन कुमार सिंह अपने सहयोगियों के साथ सुरक्षा के अलग अंदाज में दिखे ।

गौरतलब है कि एस.के. सिंह इससे पूर्व मधेपूरा जिले में अपराधियों एवं विधि व्यवस्थाओं के लिए मील का पत्थर सावित कर चुके हैं । अगर आक्लन की मानी जाय तो इस जिले में आते हीं अपने वरिष्ठों के साथ मिलकर कई कारनामे दिखा चुके हैं । जबकि आज ये छठ घाटों की जिम्मेदारियों को निभाते अपने कप्तान के आदेशों का अक्षरशः पालन करते दिखे । जिससे ऐसा लगा कि मधेपूरा की तरह इनकी लगन अपराध और अपराधियों पर नकेल कसने की है । जबकि जिले के अन्य थानों में छठ पर्व को लेकर की गई सुरक्षा व्यवस्थाओं के बीच बहादुरगंज पुलिस ने भी व्यापक इन्तजाम कर, घाट पर जाने वाले रास्ते सहित जीरो किलो मीटर से नगर तक आने वाले रास्तों पर बड़े वाहनो के लिए ‘नो इन्ट्री ” की कारगर व्यवस्था कर रखी थी ।
कुल मिलाकर अस्तांचलगामी सूर्य अर्घ्य के लिए जिला प्रशासन की कारगर व्यवस्थाओं के बीच शाम की अर्चणा निर्विघ्ण पूरी की जा चुकी है । जबकि बुधबार के प्रातःकालीन सूर्य अर्घ्य के लिए सारे छठ घाट पुलिस के सुरक्षा घेरे में है । जहाँ तड़के सूर्य अर्घ्य के साथ सूर्योपासना का महान पर्व छठ की समाप्ति होगी ।


Spread the news